दिल्ली हाईकोर्ट ने oxygen suppliers को कहा- अस्पतालों को कितनी सप्लाई की बताइये

कोरोना संक्रमण को लेकर दिल्ली में हो रही परेशानियों पर हाईकोर्ट ने सख्त रुख अपनाया है. (फाइल फोटो)

कोरोना संक्रमण को लेकर दिल्ली में हो रही परेशानियों पर हाईकोर्ट ने सख्त रुख अपनाया है. (फाइल फोटो)

Delhi High Court ने ऑक्सीजन सप्लायर्स को जारी किया नोटिस, कहा- कोर्ट में हों पेश और विस्तृत तौर पर दें जानकारी. इससे पहले कोर्ट ने केंद्र सरकार को ऑक्सीजन की सप्लाई बढ़ाने के लिए जरूरी कदम उठाने का भी आदेश दिया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 29, 2021, 9:19 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. राजधानी में ऑक्सीजन की हो रही कमी हो लेकर दिल्ली हाईकोर्ट में लगातार सुनवाई कर रहा है. इसी क्रम में अब हाईकोर्ट ने ऑक्सीजन सप्लायर्स पर सख्ती दिखाई है. कोर्ट ने राजधानी के सभी ऑक्सीजन सप्लायर्स को नोटिस जारी कर कोर्ट में पेश होने के आदेश दिए हैं. साथ ही कहा है कि वे कोर्ट को विस्तार से बताएं कि उन्होंने किस अस्पताल को कितनी ऑक्सीजन सप्लाई की है और इसका वे पूरा ब्योरा भी कोर्ट में जमा करवाएं.

दिल्ली में हुई ऑक्सीजन कमी लेकर हाई कोर्ट में गुरुवार को ही एक सुनवाई के दौरान दिल्ली सरकार ने केंद्र सरकार को जमकर घेरा है. सरकार ने केंद्र पर ऑक्सीजन सप्लाई अटकाने का आरोप लगाया है. साथ ही दावा किया कि केंद्र सरकार केवल आदेश ही जारी कर रही है. केंद्र सरकार ने भी कहा है कि ऑक्सीजन सप्लाई को बढ़ाया जा रहा है. अदालत ने केंद्र सरकार से जरूरी कदम उठाने के लिए कहा है.

उच्च न्यायालय में दिल्ली सरकार ने कहा है कि केंद्र सरकार ऑक्सीजन की आपूर्ति में बाधाएं डाल रही है. उन्होंने दावा किया है कि मुश्किल से निपटने के लिए सरकार कोई भी मजबूत कदम नहीं उठा रही है. साथ ही यह भी कहा गया है कि केंद्र सरकार की तरफ से केवल आदेश जारी किए जा रहे हैं. सरकार ने कहा है कि केंद्र अपने काम में पूरी तरह असफल हुआ है. साथ ही उन्होंने अदालत से केंद्र की जिम्मेदारी तय करने की मांग की.

इससे पहले बुधवार को दिल्ली हाईकोर्ट ने दिल्ली में बढ़ते कोरोना संकट पर सरकार को निर्देश दिये हैं कि कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए सेना की मदद लेने पर विचार करना चाहिए. साथ ही दिल्ली हाईकोर्ट ने दिल्ली सरकार को कहा है कि मृतकों को एम्बुलेंस के बजाए पुराने डीटीसी बस में ले जाने पर विचार करे.
दिल्ली हाई कोर्ट में दिल्ली सरकार से स्टेटस रिपोर्ट दायर करके को भी कहा है कि लैब में RTPCR टेस्ट कितने हुए या हो रहे है? और RTPCR टेस्ट में कमी क्यो हुई? इसके अलावा दिल्ली हाई कोर्ट ने सुनवाई के दौरान कहा कि हमारा देश एक अभूतपूर्व संकट का सामना कर रहा है. ऐसे में लोगों को एक साथ खड़े होने की जरूरत है. साथ ही सभी अस्पतालों को दिल्ली हाई कोर्ट ने कहा की अगर आपके पास ऑक्सीजन और दूसरी दवाइयां है तब आप अर्जेंट कॉल अधिकारी को न करे इससे विश्वास डगमगाता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज