Home /News /delhi-ncr /

delhi high court issues notice to cbi on om prakash chautala appeal nodbk

ओम प्रकाश चौटाला की अपील पर दिल्ली हाईकोर्ट ने CBI को जारी किया नोटिस, जानें पूरा मामला

उन्होंने सीबीआई की विशेष अदालत के आदेश को चुनौती दी है और 4 साल की जेल की सजा को निलंबित करने की भी मांग की है.

उन्होंने सीबीआई की विशेष अदालत के आदेश को चुनौती दी है और 4 साल की जेल की सजा को निलंबित करने की भी मांग की है.

Delhi News: ओम प्रकाश चौटाला ने सीबीआई की विशेष अदालत के आदेश को चुनौती दी है और 4 साल की जेल की सजा को निलंबित करने की भी मांग की है. दरअसल, दिल्ली की स्पेशल सीबीआई अदालत ने आय से अधिक संपत्ति मामले में हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री ओम प्रकाश चौटाला को 4 साल की सजा सुनाई थी और पचास लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया था.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली.  आय से अधिक संपत्ति मामले में दोषी ठहराए जाने के खिलाफ हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री ओम प्रकाश चौटाला की अपील पर दिल्ली हाईकोर्ट ने सीबीआई को नोटिस जारी किया है. दरअसल, ओम प्रकाश चौटाला ने सीबीआई की विशेष अदालत के आदेश को दिल्ली हाईकोर्ट में चुनौती दी है. साथ ही 4 साल की जेल की सजा को निलंबित करने की भी मांग की है.

बता दें कि बीते 27 मई को आय से अधिक संपत्ति मामले में ओम प्रकाश चौटाला की सजा पर फैसला हुआ था. दिल्ली की स्पेशल सीबीआई अदालत ने आय से अधिक संपत्ति मामले में दोषी करार दिए गए हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री ओम प्रकाश चौटाला को  4 साल की सजा सुनाई और पचास लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया था. इतना ही नहीं, कोर्ट ने चौटाला की चार संपत्तियों को भी जब्त करने का आदेश दिया था.

कोर्ट ने फैसला सुरक्षित रख लिया था
अदालत ने कोर्ट रूम से ही ओम प्रकाश चौटाला को हिरासत में लेने का आदेश दिया था. इस तरह चौटाला कोर्ट से सीधे जेल गए थे. चौटाला की तरफ से इस मामले में अपील फाइल करने के लिए 10 दिन का समय मांगा गया था, इस पर जज ने कहा था कि आप हाईकोर्ट जाइए. बता दें कि गुरुवार को सुनवाई पूरी होने के बाद कोर्ट ने फैसला सुरक्षित रख लिया था.

क्या है मामला?
दरअसल, विशेष न्यायाधीश विकास ढुल ने वर्ष 1993 से 2006 के दौरान आय से अधिक संपत्ति अर्जित करने के दोषी करार दिए गए ओपी चौटाला और सीबीआई के वकीलों की गुरुवार को सजा पर बहस सुनी थी. ओपी चौटाला ने बहस के दौरान बुढ़ापे और चिकित्सा आधार पर कम से कम सजा देने का अनुरोध किया था. वहीं, केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) ने अधिकतम सजा देने का अनुरोध करते हुए कहा था कि इससे समाज में संदेश जाएगा. एजेंसी ने कहा था कि चौटाला का बेदाग इतिहास नहीं है और यह दूसरा मामला है जिसमें उन्हें दोषी करार दिया गया है.

Tags: CBI, DELHI HIGH COURT, Delhi news, Om Prakash Chautala

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर