लाइव टीवी

JNU हिंसा मामलाः जब्त होंगे वाट्सएप ग्रुप से जुड़े लोगों के फोन, दिल्ली हाईकोर्ट ने दिया आदेश
Delhi-Ncr News in Hindi

News18India
Updated: January 14, 2020, 1:27 PM IST
JNU हिंसा मामलाः जब्त होंगे वाट्सएप ग्रुप से जुड़े लोगों के फोन, दिल्ली हाईकोर्ट ने दिया आदेश
जेएनयू हिंसा मामले में 2 वाट्सएप ग्रुप से जुड़े लोगों के फोन जब्त करने का आदेश.

JNU में 5 जनवरी को हुई हिंसा (JNU Violence) के मामले में दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने दिल्ली हाईकोर्ट (Delhi High Court) को दो वाट्सएप ग्रुप से जुड़े 37 लोगों की पहचान करने की जानकारी दी.

  • News18India
  • Last Updated: January 14, 2020, 1:27 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) में हुई हिंसा के मामले में दिल्ली हाईकोर्ट (Delhi High Court) में सुनवाई के दौरान अदालत को दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने मामले से जुड़े 2 वाट्सएप ग्रुप (WhatsApp Group) के 37 सदस्यों की पहचान किए जाने की जानकारी दी. दिल्ली पुलिस ने कोर्ट को बताया है कि उसने जेएनयू हिंसा मामले में 'यूनिटी ऑफ लेफ्ट' (Unity Of Left) और 'फ्रेंड्स ऑफ आरएसएस' (Friends of RSS) वाट्सएप ग्रुप के सदस्यों की पहचान की है. मामले से जुड़ी दूसरी छात्रा सुचेता से क्राइम ब्रांच की टीम पूछताछ करेगी. इस पर कोर्ट ने पुलिस को आदेश दिया है कि वह इन दोनों वाट्सएप ग्रुट से जुड़े लोगों का फोन जब्त कर ले.

वाट्सएप ग्रुप के लोगों से होगी पूछताछ
दिल्ली हाईकोर्ट ने दिल्ली पुलिस को यूनिटी अगेंस्ट लेफ्ट और फ्रेंड्स ऑफ आरएसएस वाट्सएप ग्रुप के लोगों के फोन जब्त करने के साथ-साथ इनसे जुड़े लोगों को तलब कर पूछताछ करने का भी आदेश दिया है. आपको बता दें कि JNU में 5 जनवरी को हुई हिंसा के मामले में इन दोनों ग्रुप का नाम सामने आया था. इस मामले में गूगल (Google) को भी डाटा संरक्षित करने के लिए कहा गया है.

दिल्ली पुलिस ने दिखाई तस्वीरें

इधर, दिल्ली पुलिस ने जो तस्वीरें दिखाई हैं, जिनमें छात्राएं दिख रहीं हैं, इसी में से एक एमए की छात्रा सुचेता तालुकदार है, जिसे आज क्राइम ब्रांच की sit में अपना स्टेटमेंट देना है. इसी फोटो के आधार पर सुचेता को बुलाया गया है. पुलिस के मुताबिक लाल कपड़ों में सुचेता है.

सुचेता ने कहा- कब की फोटो पता नहीं
इधर, सुचेता ने दिल्ली पुलिस की दिखाई तस्वीरों पर कहा कि दिल्ली पुलिस का कॉन्फ्रेंस था, उसमें एक फोटो दिखाकर कहा कि ये मैं हूं, मेरी समझ में नहीं आ रहा है कि क्यों? सुचेता ने कहा कि मैं स्टूडेंट रिप्रेजेंटेटिव हूं. अगर मैं यहां खड़ी हूं और कोई फोटो खींचकर भेज दे और कहे कि यह मेरी तस्वीर है? कब का फोटो है, किस डेट का है, मेरी समझ में नहीं आ रहा. उन्होंने कहा कि 5 जनवरी को मुझे कई छात्रों का फोन आया था कि बहुत वॉयलेंस हो रहा है. मैं स्कूल ऑफ सोशल साइंसेज पर खड़ी थी. जिसे मारा गया वो मेरे स्कूल का है. लोग आकर बोले कि बहुत को मारा गया है, मेरा फर्ज है वहां जाना.ये भी पढ़ें -

CAA: चंद्रशेखर मामले में कोर्ट ने दिल्ली पुलिस से कहा- आप ऐसा कर रहे हैं जैसे जामा मस्जिद पाकिस्तान में हो!

शशि थरूर ने CM केजरीवाल से मांगी माफी, दिया था ये विवादित बयान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 14, 2020, 1:09 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर