लाइव टीवी

JNU की ओपन-बुक एग्जाम पर याचिका दाखिल, हाईकोर्ट ने यूनिवर्सिटी से मांगा जवाब
Delhi-Ncr News in Hindi

भाषा
Updated: February 10, 2020, 8:47 PM IST
JNU की ओपन-बुक एग्जाम पर याचिका दाखिल, हाईकोर्ट ने यूनिवर्सिटी से मांगा जवाब
अदालत ने कहा कि फिलहाल परीक्षाएं बोर्ड ऑफ स्टडीज ऑफ द स्कूल्स और विशेष सेंटरों की बैठक में तय किए गए प्रमुख बिंदुओं के हिसाब से ही होंगी .

जेएनयू प्रशासन (JNU Administration) के अनुसार, सभी स्कूलों और सेंटरों के डीन और चेयरपर्सन की बैठक आयोजित की गई थी. इसमें अधिकांश स्कूलों और सेंटरों के प्रमुख ने इच्छुक छात्रों के लिए घर बैठे सेमेस्टर परीक्षा आयोजित करने को मंजूरी दी थी.

  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली हाईकोर्ट (Delhi High Court) ने मानसून सेमेस्टर में ‘ऑनलाइन ओपन बुक’ या ‘घर से ही परीक्षा’ देने के जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (Jawaharlal Nehru University) के फैसले को चुनौती देने वाली याचिकाओं पर विश्वविद्यालय प्रशासन (University Administration) से जवाब मांगा है.

न्यायमूर्ति राजीव शकधर ने दो याचिकाओं के संबंध में जेएनयू प्रशासन को नोटिस जारी किया है. इस मामले की सुनवाई छह अगस्त को होगी. अदालत ने कहा कि फिलहाल परीक्षाएं बोर्ड ऑफ स्टडीज ऑफ द स्कूल्स और विशेष सेंटरों की बैठक में तय किए गए प्रमुख बिंदुओं के हिसाब से ही होंगी क्योंकि मानसून सेमेस्टर को जल्द से जल्द पूरा करना है.

अधिकांश स्कूलों और सेंटरों के प्रमुख ने इस परीक्षा पैटर्न को दी थी मंजूरी
न्यायाधीश ने याचिकाकर्ताओं द्वारा उठाए गए मुख्य बिंदुओं का संज्ञान लिया. याचिका में पूछा गया है कि क्या जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय परीक्षाएं वैकल्पिक व्यवस्था के जरिए ले सकता है, इसकी जांच अदालत द्वारा किए जाने की जरूरत है. जेएनयू प्रशासन के अनुसार, सभी स्कूलों और सेंटरों के डीन और चेयरपर्सन की बैठक आयोजित की गई थी. इसमें अधिकांश स्कूलों और सेंटरों के प्रमुख ने इच्छुक छात्रों के लिए घर बैठे सेमेस्टर परीक्षा आयोजित करने को मंजूरी दी थी.

यह होती है ओपन बुक पैटर्न परीक्षा
ओपन बुक पैटर्न पर आधारित सेमेस्टर परीक्षा घर बैठे परीक्षा देनी होती है. प्रशासन का कहना है कि इस परीक्षा में नकल की गुंजाइश नहीं रहेगी क्योंकि प्रश्न पत्र ऐसे तैयार किए जाएंगे कि यदि छात्र ने पढ़ाई नहीं की है तो वह प्रश्नों का उत्तर नहीं लिख पाएगा. जेएनयू प्रशासन के ओपन बुक पैटर्न पर परीक्षा आयोजित करने को सरकार की भी सहमति मिल चुकी है. खास बात यह है कि सरकारी समिति ने भी इंजीनियरिंग में ओपन बुक एग्जाम की सिफारिश कर रखी है.

बीए, एमए, एमफिल और पीएच. डी. प्रोग्राम के सभी छात्रों के लिए सेमेस्टर परीक्षा आयोजित होगी. विश्वविद्यालय ने तय किया था कि जो छात्र सेमेस्टर परीक्षा देने का इच्छुक होगा, वह इस पैटर्न से परीक्षा देगा. विश्वविद्यालय प्रशासन चाहता है कि सेमेस्टर परीक्षा इसी पैटर्न से आयोजित हो.ये भी पढ़ें - 

गार्गी कॉलेज की छात्राओं ने सुनाई आपबीती- दीवार कूदकर आए पुरुष और की अश्‍लीलता

नालंदा: सरस्वती पूजा समारोह में किया गया अश्लील डांस, फायरिंग के बाद दहशत

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 10, 2020, 7:32 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर