कोरोना से बिगड़ते हालातों के बीच दिल्ली में भी लगने वाला है लॉकडाउन? जानें CM केजरीवाल ने क्या कहा...

दिल्ली सरकार की चिंता और बढ़ गई है कि आखिर अस्पतालों में बेड्स की संख्या किस तरीके से पर्याप्त की जाये. (File Photo)

दिल्ली सरकार की चिंता और बढ़ गई है कि आखिर अस्पतालों में बेड्स की संख्या किस तरीके से पर्याप्त की जाये. (File Photo)

Covid 19 in Delhi: सीएम केजरीवाल ने कहा कि जैसा कि पहले ही कहा था कि हम लॉकडाउन नहीं लगाना चाहते हैं. हमारा पूरा प्रयास है कि स्वास्थ्य बुनियादी ढांचा काबू में रहे. इसको लेकर ही अब फैसला किया गया है क‍ि कोविड अस्पताल के साथ आसपास के बैंक्विट हॉल और होटलों को अटैच क‍िया जाएगा. इससे मौजूदा कोव‍िड बेड्स की संख्या में बढ़ोतरी हो सकेगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 13, 2021, 6:46 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली में हर रोज कोरोना (Corona) संक्रमित मरीजों का आंकड़ा रिकॉर्ड तोड़ता जा रहा है. आज पिछले 24 घंटे में जहां 13,500 नए मामले रिकॉर्ड किए गए है. इससे दिल्ली सरकार की चिंता और बढ़ गई है कि आखिर अस्पतालों में बेड्स की संख्या किस तरीके से पर्याप्त की जाये.

इस सभी के बीच अब दिल्ली सरकार (Delhi Government) ने अस्पतालों में बेड्स की संख्या बढ़ाने का एक नया तरीका निकाला है. दिल्ली सरकार अब सभी बड़े अस्पतालों खासकर उन अस्पतालों को जो कोविड अस्पताल घोषित किए गए हैं. उन सभी के साथ आसपास के बैंक्विट हॉल और होटलों को अटैच करने का फैसला किया है.

दिल्ली सरकार का मानना है कि अगर कोविड अस्पताल के साथ बैंक्विट हॉल या होटल को अटैच कर दिया जाता है तो उसके बेड्स पर कम गंभीर मरीजों को शिफ्ट करने में आसानी हो सकेगी.

अस्पतालों में कुछ इस तरह है बेड्स की व्यवस्था
दिल्ली सरकार की ओर से कोविड 19 पैसेंट मैनेजमेंट के तहत बेड्स की व्यवस्था की बात करें तो अस्पतालों में अभी तक 12,008 बेड्स हैं. वहीं डेडीकेटेड कोविड केयर सेंटर में इनकी संख्या 5,525 है. वहीं, डेडीकेटेड कोविड हेल्थ सेंटर में भी 82 बेड्स की व्यवस्था की गई है.

आंकड़ो के मुताबिक सोमवार तक 12,008 बेड्स में से 6,940 पर मरीज भर्ती रहे. वहीं 5,068  बेड्स सोमवार तक खाली रहे हैं. इसके अलावा डेडीकेटेड कोविड केयर सेंटर में अभी  5,279 और डेडीकेटेड कोविड हेल्थ सेंटर में 13 बेड खाली हैं.

मौजूदा बेड्स में और जुड़ जाएंगे बेड्स



दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) का कहना है कि अगर किसी कोविड अस्पताल में मरीजों के लिए 100 बेड्स उपलब्ध हैं तो किसी बैंक्विट हॉल या होटल में बेड्स की व्यवस्था करने के बाद वहां पर 100 बेड्स और उपलब्ध हो सकेंगे. इन बेड्स पर उन मरीजों को शिफ्ट किया जा सकता है जो गंभीर नहीं हैं और सिर्फ ऑक्सीजन की जरूरत है तो उनको इन बैंक्विट हाल या होटल के बेेड्स पर शिफ्ट करके ऑक्सीजन उपलब्ध कराया जा सकता है.

अफसरों और मेडिकल स्टॉफ के साथ मीटिंग के बाद लिया फैसला 

सीएम केजरीवाल ने कहा कि जैसा कि पहले ही कहा था कि हम लॉकडाउन नहीं लगाना चाहते हैं. हमारा पूरा प्रयास है कि स्वास्थ्य बुनियादी ढांचा काबू में रहे. इसको लेकर ही अब फैसला किया गया है क‍ि कोविड अस्पताल के साथ आसपास के बैंक्विट हॉल और होटलों को अटैच क‍िया जाएगा. इससे मौजूदा कोव‍िड बेड्स की संख्या में बढ़ोतरी हो सकेगी.

एलएनजेपी के सामने एक बैंक्विट हाॅल है. उससे बैंक्विट हॉल में अगर आक्सीजन का भी इंतजाम कर देंगे और किसी को सिर्फ आक्सीजन की जरूरत है, तो उसका इलाज उसमें हो सकता है. इस तरह से हम बहुत बड़े स्तर पर बेड्स की क्षमता बढ़ा रहे हैं. इसके अलावा, कुछ सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों को पूरी तरह से कोविड-19 अस्पताल घोषित कर दिया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज