कोरोना काल में दिल्ली के कई इलाकों में तीन दिन ठप रह सकती है वॉटर सप्लाई, ये है वजह... 

दिल्ली जल बोर्ड के उपाध्यक्ष राघव चड्ढा ने शनिवार को हरियाणा सरकार से यमुना में और कच्चा पानी छोड़ने का आग्रह किया है ताकि दिल्ली को जल की आपूर्ति हो सके (प्रतीकात्मक तस्वीर)

दिल्ली जल बोर्ड के उपाध्यक्ष राघव चड्ढा ने शनिवार को हरियाणा सरकार से यमुना में और कच्चा पानी छोड़ने का आग्रह किया है ताकि दिल्ली को जल की आपूर्ति हो सके (प्रतीकात्मक तस्वीर)

दिल्ली जल बोर्ड (Delhi Jal Board) ने मंगलवार को कहा कि मध्य दिल्ली, उत्तरी दिल्ली, दक्षिणी दिल्ली, पश्चिमी दिल्ली और छावनी क्षेत्रों के हिस्सों में पानी की आपूर्ति अगले तीन दिन तक 'सुबह और शाम' में प्रभावित रहेगी. तालाब के स्तर में सुधार होने तक स्थिति ऐसी ही बनी रहने की संभावना है

  • Share this:

नई दिल्ली. कोरोना के गहराते संकट के बीच दिल्ली (Delhi) में पानी की किल्लत हो सकती है. दिल्ली जल बोर्ड (Delhi Jal Board) ने बुधवार को कहा है कि हरियाणा के यमुना (Yamuna) में कम पानी छोड़ने की वजह से राष्ट्रीय राजधानी के कई हिस्सों में अगले तीन दिनों तक पेयजल की आपूर्ति (Water Supply) प्रभावित रहेगी. बोर्ड ने एक बयान मे कहा कि नदी में कम कच्चा पानी छोड़ने और वजीराबाद तालाब में जलस्तर में कमी आने की वजह से वजीराबाद, चंद्रावल और ओखला जल शोधन संयंत्रों से आपूर्ति 'प्रतिकूल' रूप से प्रभावित हुई है.

बोर्ड ने कहा कि मध्य दिल्ली, उत्तरी दिल्ली, दक्षिणी दिल्ली, पश्चिमी दिल्ली और छावनी क्षेत्रों के हिस्सों में पानी की आपूर्ति अगले तीन दिन तक 'सुबह और शाम' में प्रभावित रहेगी. तालाब के स्तर में सुधार होने तक स्थिति ऐसी ही बनी रहने की संभावना है.

Youtube Video

फिलहाल, वजीराबाद तालाब का स्तर 667.2 फुट है जबकि सामान्य स्तर 674.5 फुट है.
बोर्ड के उपाध्यक्ष राघव चड्ढा ने शनिवार को हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर से आग्रह किया था कि यमुना में और कच्चा पानी छोड़ा जाए ताकि दिल्ली के लिए पर्याप्त पेयजल उपलब्ध हो. (भाषा से इनपुट)

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज