यमुना में अमोनिया की मात्रा घटने से दो वाटर ट्रीटमेंट प्लांट शुरू, 70 प्रतिशत वाटर सप्लाई बहाल

दो वाटर ट्रीटमेंट प्लांट के शुरू होने के बाद प्रभावित 70 प्रतिशत इलाके में पानी की सप्लाई होने लगी है (प्रतीकात्मक तस्वीर)
दो वाटर ट्रीटमेंट प्लांट के शुरू होने के बाद प्रभावित 70 प्रतिशत इलाके में पानी की सप्लाई होने लगी है (प्रतीकात्मक तस्वीर)

दिल्ली जल बोर्ड के उपाध्यक्ष राघव चड्ढा (Raghav Chaddha) ने बताया कि यमुना में अब अमोनिया का स्तर घट रहा है जिससे दोनों वाटर ट्रीटमेंट प्लांट शुरू हो गए हैं. लगभग 70 फीसदी दिल्ली के इलाके (पूर्वी, उत्तरी-पूर्वी और दक्षिणी दिल्ली में) जहां पानी की कमी महसूस की गई थी, वहां स्थिति सामान्य होती नजर आ रही है. इन इलाकों में 70 प्रतिशत तक राहत मिल चुकी है, शाम होते-होते 100 फीसदी राहत मिल जाएगी

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 31, 2020, 6:48 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. यमुना नदी (Yamuna) में अमोनिया की मात्रा बढ़ने से दिल्ली में प्रभावित हुई पानी की सप्लाई जल्द सामान्य हो रही है. दिल्ली जल बोर्ड (Delhi Jal Board) ने सोनिया विहार और भागीरथी प्लांट शुरू कर दिए हैं. पिछले 36-48 घंटे से हो रही पानी की किल्लत (Water Crisis) जल्द खत्म हो जाएगी. दिल्ली में पिछले दो दिनों से जारी पानी की किल्लत जल्द दूर हो जाएगी. यह दावा किया है आम आदमी पार्टी (AAP) के विधायक और दिल्ली जल बोर्ड के उपाध्यक्ष राघव चड्डा (Raghav Chaddha) ने. चड्ढा ने शनिवार को सोनिया विहार वाटर ट्रीटमेंट प्लांट का दौरा किया और कहा कि 'यमुना नदी, जिसका बहाव हरियाणा से आता है उसमें अमोनिया का स्तर बढ़ गया था. इस वजह से भागीरथी और सोनिया विहार वाटर ट्रीटमेंट प्लांट को बंद कर दिया गया था. हमने इसके लिए हरियाणा सरकार से अपील की है कि अमोनिया की मात्रा को कम करें. हमारे प्लांट इतनी जल प्रदूषण को कम नहीं कर सकते.

राघव चड्ढा ने बताया कि मुझे खुशी है अब अमोनिया का स्तर घट रहा है. अब दोनों प्लांट शुरू हो गए हैं. भागीरथी प्लांट 60-70 फीसदी और सोनिया विहार प्लांट 70-75 फीसदी क्षमता से काम कर रहा है. लगभग 70 फीसदी दिल्ली के इलाके (पूर्वी, उत्तरी-पूर्वी और दक्षिणी दिल्ली में) जहां पानी की कमी महसूस की गई थी, वहां स्थिति सामान्य होती नजर आ रही है. इन इलाकों में 70 प्रतिशत तक राहत मिल चुकी है, शाम होते-होते 100 फीसदी राहत मिल जाएगी.


राघव चड्ढा ने आगे कहा कि दिल्ली का अपना कोई पानी का स्रोत नहीं है. यमुना और गंगा से पानी आता है. यमुना के पानी में अमोनिया और गंगा कैनाल को मरम्मत की वजह से रोक दिया जाता है. उस वजह से उत्पन्न संकट से उबरने के लिए युद्धस्तर पर काम कर रहे हैं. बीते 36-48 घंटे इसका प्रभाव रहा. जिन इलाकों में पिछले एक डेढ़ दिन से पानी नहीं आ रहा था, अब वहां आने लगा है. शाम तक और बेहतर हो जाएगा.



पिछले दो दिन से यमुना में अमोनिया की मात्रा बढ़ने से यह दोनों प्लांट बंद कर दिए गए थे. ऐसे में पूर्वी, उत्तर पूर्वी और दक्षिण दिल्ली में पानी की किल्लत शुरू हो गई थी. ऐसे में सोनिया विहार और भागीरथी वाटर ट्रीटमेंट प्लांट शुरू होने के बाद राहत मिलेगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज