दिल्ली: Covid-19 के प्रबंधन के लिए मनीष सिसोदिया नियुक्त किए गए केंद्रीय अधिकारी

 पिछले कुछ दिनों में संक्रमण के मामले लगातार बढ़े हैं. (फाइल फोटो)

पिछले कुछ दिनों में संक्रमण के मामले लगातार बढ़े हैं. (फाइल फोटो)

संक्रमण की दर बढ़कर 20.22 प्रतिशत हो गई जो दिल्ली (Delhi) में अब तक की सबसे अधिक दर है. बुधवार को शहर में संक्रमण के अब तक के सर्वाधिक 17,282 नये मामले सामने आए.

  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) को राष्ट्रीय राजधानी में कोविड-19 के प्रबंधन के लिए शुक्रवार को केंद्रीय अधिकारी (Central officer) नियुक्त किया गया. एक आधिकारिक आदेश में यह जानकारी दी गई. इसमें कहा गया कि अगले आदेश तक सिसोदिया अंतर-मंत्रालयी समन्वय के लिए जिम्मेदार होंगे. शहर में कोविड-19 (COVID-19) के मामले और संक्रमण की दर लगातार बढ़ने के बाद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने संक्रमण की श्रृंखला को तोड़ने के प्रयासों के तहत बृहस्पतिवार को इस सप्ताह के अंत में कर्फ्यू लगाने और 30 अप्रैल तक मॉल, जिम और सभागारों को बंद रखने की घोषणा की थी. स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, दिल्ली में बृहस्पतिवार को कोविड-19 के 16,699 मामले सामने आए और 112 मरीजों की मौत हुई.

संक्रमण की दर बढ़कर 20.22 प्रतिशत हो गई जो दिल्ली में अब तक की सबसे अधिक दर है. बुधवार को शहर में संक्रमण के अब तक के सर्वाधिक 17,282 नये मामले सामने आए. पिछले कुछ दिनों में संक्रमण के मामले लगातार बढ़े हैं.

कोविड मरीजों के लिए बेड की क्षमता बढ़कर 20,000 तक हो जाएगी

वहीं, कुछ देर पहले खबर सामने आई थी कि दिल्ली में कोरोना के मरीजों का आंकड़ा हर रोज तेजी से बढ़ रहा है. दिल्ली में एक्टिव मरीजों की संख्या अब 54,000 को भी पार कर गई है. इसके चलते दिल्ली सरकारने बेड्स की संख्या को बढ़ाने के लिए कवायद भी तेज कर दी गई है. दिल्ली सरकार की ओर से केंद्र सरकार से भी अनुरोध किया है कि वह अपने अधीनस्थ अस्पतालों में 2,000 बेड और उपलब्ध करवाए. कोविड मरीजों के लिए बेड की क्षमता बढ़कर 20,000 तक हो जाएगी.
कोविड घोषित करने के लिए तैयार है

दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल का कहना है कि मौजूदा समय में 15,048 बेड कोविड मरीजों के लिए उपलब्ध हैं. इनमें से 5,000 से ज्यादा बेड अभी खाली पड़े हुए हैं. मरीजों की बढ़ती संख्या के मद्देनजर बेड की संख्या पर्याप्त करने पर काम किया जा रहा है. इसमें केंद्र सरकार के अस्पतालों मेें बेड की संख्या में बढ़ोतरी करना बेहद जरूरी हो गया. सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि एमसीडी के हिंदुराव अस्पताल और स्वामी दयानंद अस्पताल को कोविड-19 अस्पताल घोषित किया जाए. एमसीडी भी इन अस्पतालों को कोविड घोषित करने के लिए तैयार है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज