Delhi Mayor Election 2020: तीनों नगर निगम पर फिर से BJP का कब्‍जा, प्रत्‍याशियों ने निर्विरोध पर्चा भरा

इसके बाद पूर्व महापौरों ने नए उम्मीदवारों को बधाई भी दी. इनके जीत की घोषणा 24 जून को होगी. (सांकेतिक फोटो)
इसके बाद पूर्व महापौरों ने नए उम्मीदवारों को बधाई भी दी. इनके जीत की घोषणा 24 जून को होगी. (सांकेतिक फोटो)

नामों की घोषणा के बाद सभी भाजपा प्रत्याशी (BJP Candidate) नामांकन करने पहुंचे और निर्विरोध पर्चा दाखिल किया.

  • Share this:
नई दिल्ली. देश की राजधानी दिल्ली (Delhi) के तीनों नगर निगम (Municipal Corporation) में होने वाले मेयर के चुनाव के लिए भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने अपने सभी उम्मीदवारों की सूची जारी कर दी है. साथ ही अध्यक्ष (स्थायी समिति), उपाध्यक्ष (स्थायी समिति) और सदन के नेता के नामों का भी एलान किया गया है. नामों की घोषणा के बाद सभी भाजपा प्रत्‍याशियों (BJP Candidate) ने निर्विरोध नामांकन पर्चा दाखिल किया. इसका मतलब यह हुआ कि उनके खिलाफ किन्‍हीं ने पर्चा नहीं भरा. ऐसे में बीजेपी प्रत्‍याशियों का निर्विरोध जीतना तय है. इसके बाद पूर्व मेयर ने नए उम्मीदवारों को बधाई भी दी. इनके जीत की औपचारिक घोषणा 24 जून (बुधवार) को की जाएगी. बता दें कि दिल्‍ली नगर निगम को उत्तरी, पूर्वी और दक्षिणी तीन हिस्‍सों में बांट दिया गया है.

दरअसल, बीते बुधवार को बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष आदेश कुमार गुप्ता (Aadesh Kumar Gupta) ने ट्वीट कर कहा था कि उत्तर दिल्ली नगर निगम में महापौर पद के लिए जय प्रकाश, पूर्वी दिल्ली नगर निगम में महापौर पद के लिए निर्मल जैन और दक्षिण दिल्ली नगर निगम में महापौर पद के लिए अनामिका मिथलेश को उम्मीदवार बनाया गया है.

तीनों नगर निगमों पर बीजेपी का कब्जा
बता दें कि तीनों नगर निगमों पर बीजेपी का ही कब्जा है. निगमों का कार्यकाल पांच साल का होता है, लेकिन महापौर का कार्यकाल एक वर्ष का होता है. पहला साल महिला पार्षद के लिए आरक्षित होता है, जबकि दूसरे साल में किसी भी श्रेणी का पार्षद महापौर बन सकता है. वहीं तीसरे साल में आरक्षित श्रेणी का ही पार्षद महापौर बन सकता है. आखिर के दो वर्षों में किसी भी श्रेणी का पार्षद महापौर बन सकता है.
महापौर का चयन पार्षद मिलकर करते हैं


नियमों के अनुसार महापौर का चयन पार्षद मिलकर करते हैं, लेकिन इसके लिए प्रत्याशी का नाम सत्ताधारी पार्टी तय करती है. बीजेपी चूंकि तीनों नगर निगम में सत्ता में है ऐसे में यह पक्का है कि उसके घोषित इन प्रत्याशियों का महापौर बनना तय है. हालांकि आधिकारिक रूप से 24 जून को सदन की बैठक में महापौर का चयन किया जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज