• Home
  • »
  • News
  • »
  • delhi-ncr
  • »
  • DELHI METRO BEGINS FREE CORONAVIRUS TESTING FACILITIES IN NEW DELHI DELHI NEWS BIG NEWS

दिल्ली मेट्रो ने शुरू किए फ्री Coronavirus टेस्ट, इन स्टेशनों पर मिलेगी सुविधा

दिल्ली मेट्रो फ्री कोरोना वायरस टेस्टिंग शुरू करने जा रहा है.

Free Corona Test at Metro Stations: दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन (DMRC) को लगता है कि उसके इस कदम से कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या नियंत्रित होगी. इसके अलावा भीड़-भाड़ वाले इलाकों में मरीजों की संख्या का जल्दी पता भी चल सकेगा.

  • Share this:
    नई दिल्ली. देश की राजधानी में कोरोना वायरस (COVID-19) के बढ़ते मामलों के मद्देनजर दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन (The Delhi Metro Rail Corporation) भी सतर्क हो गया है. इसी वजह से दिल्ली मेट्रो के स्टेशनों पर अब यात्रियों के कोरोना टेस्ट की व्यवस्था की जा रही है. डीएमआरसी कई स्टेशनों पर फ्री कोरोना टेस्टिंग की सुविधा देने जा रहा है.

    जानकारी के मुताबिक, डीएमआरसी फिलहाल 6 स्टेशनों पर यह सुविधा शुरू करेगा. इन स्टेशनों में नेहरू प्लेस, आईटीओ, बादरपुर, चांदनी चौक, इंद्रलोक और नेताजी सुभाषचंद्र प्लेस शामिल हैं. ये टेस्ट डीएमआरसी स्टाफ द्वारा ही किया जाएगा, जिसमें एक लैब टेक्नीशियन के अलावा 4 वॉलन्टियर शामिल होंगे. ये रेपिड एंटीजन टेस्ट होंगे.

    भीड़-भाड़ वाले स्टेशनों पर जरूरी
    सूत्रों के मुताबिक, डीएमआरसी के प्रवक्ता ने कहा था कि हालांकि ये प्रक्रिया नवंबर में ही शुरू हो गई थी. शुरुआत में केवल चांदनी चौक जैसे भीड़-भाड़ वाले स्टेशनों पर यात्रियों के कोरोना टेस्ट का इंतजाम किया गया था. इसी प्रक्रिया को अब विस्तार दिया जा रहा है. उन्होंने कहा कि अब नए स्टेशनों पर कोरोना वायरस की जांच की सुविधा देना इसी प्रक्रिया का हिस्सा है. गौरतलब है कि कुछ दिन पहले दिल्ली में कोरोना वायरस के मामले एक ही दिन में 3419 बढ़ गए थे. राजधानी में कोरोना वायरस से पीड़ित मरीजों की संख्या 5.89 लाख से ऊपर हो गई है, जबकि वायरस से मरने वाले लोगों की संख्या 9574 से ज्यादा होने की आशंका है.

    दिल्ली सरकार भी कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण पर रोक लगाने के लिए तमाम इंतजाम करने में जुटी है. अस्पतालों में आईसीयू बेड बढ़ाने और मरीजों के टेस्ट को लेकर अन्य दिशा-निर्देश दिए जा रहे हैं. वहीं, आम लोगों से कोरोना संक्रमण रोकने के लिए जारी गाइडलाइंस को मानने की अपील की जा रही है.