मजदूरों को कोरोना वैक्‍सीनेशन लगवाने के लिए दिल्‍ली मेट्रो की अनोखी पहल

दिल्‍ली मेट्रो ने मजदूरों के वैक्‍सीनेशन और कोरोना नियमों का पालन कराने के लिए नया अभियान चलाया है.

इस समय दिल्ली-एनसीआर में डीएमआरसी के निर्माण स्थलों पर लगभग 3200 मजदूर काम कर रहे हैं. इस संख्या में धीरे-धीरे बढ़ रही है क्योंकि लॉकडाउन के प्रतिबंध हटा लिए गए हैं. ऐसे में मेट्रो उनके वैक्‍सीनेशन के लिए तैयार है.

  • Share this:
    fnनई दिल्‍ली. कोरोना के इस दौर में वैक्‍सीन को लेकर जागरुक करने के लिए सरकारें तरह तरह की कोशिशें कर रही हैं. अब दिल्‍ली मेट्रो ने भी मजदूरों को कोरोना वैक्‍सीन लगवाने के लिए और कोरोना नियमों का पालन करने के लिए जागरुक करने के लिए नई पहल की है. मेट्रो की ओर से सात दिन के लिए एक अभियान चलाया जा रहा है. जिसमें एनसीआर में एमआरसी के निर्माण स्थलों पर कोविड-19 के लिए वैक्सीनेशन के लाभों के बारे में जागरुकता बढ़ाई जा रही है.

    पिछले बुधवार से शुरु हुए इस जागरुकता अभियान के में निर्माण स्थलों पर मजदूरों की सीमित संख्या के साथ छोटे-छोटे समूहों के लिए नुक्कड़ नाटकों की एक श्रृंखला का आयोजन किया जा रहा है. इन शो के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग और अन्य प्रोटोकॉल का सावधानीपूर्वक पालन सुनिश्चित किया जा रहा है. हफ्ते भर चलने वाली इस पहल के तहत लगभग 3000 मजदूरों से सीधा संपर्क किया जाएगा और उन्‍हें जागरुक किया जाएगा.

    कई बोलियों में हो रहे नुक्‍कड़ नाटक

    नुक्कड़ नाटकों के मंचन के लिए कॉमर्शियल फिल्मों, टीवी शो तथा वेब सीरीज़ में काम करने वाले प्रोफेशनल आर्टिस्टों को लिया गया है. चूंकि अधिकांश मजदूर उत्तर प्रदेश, बिहार, मध्य प्रदेश और झारखंड आदि राज्यों से आते हैं इसलिए इन शो की रूपरेखा और लेखन कार्य इन राज्यों के ग्राणीण भागों में बोली जाने वाली विभिन्न बोलियों में किया गया है ताकि मजदूर इन्हें बेहतर ढंग से समझ सकें.

    इन शोज में इन अंचलों के प्रचलित लोक गीतों का इस्तेमाल किया जा रहा है जिससे कलाकार मजदूरों को अपनी बात अच्‍छे से समझा सकें. वैक्सीनेशन के लाभों के बारे में मजदूरों के बीच जानकारी वाले लीफलेट/परचे भी बांटे जा रहे हैं. वैक्सीनेशन के लाभों से संबंधित तमाम जानकारी हिंदी भाषा में रखी गई है.

    इस अभियान के अंतर्गत एक शॉर्ट फिल्म भी बनाई जाएगी और उसे डीएमआरसी के सोशल मीडिया अकाउंट्स पर शेयर भी किया जाएगा. इस शॉर्ट फिल्म को मजदूरों के मोबाइल फोनों पर भी शेयर किया जाएगा ताकि यह बड़ी संख्या में ऑडियंस तक पहुंच सके.

    दिल्‍ली मेट्रो में फिलहाल काम कर रहे 3200 मजदूर

    इस समय दिल्ली-एनसीआर में डीएमआरसी के निर्माण स्थलों पर लगभग 3200 मजदूर काम कर रहे हैं. इस संख्या में धीरे-धीरे बढ़ रही है क्योंकि लॉकडाउन के प्रतिबंध हटा लिए गए हैं. डीएमआरसी के ठेकेदार मजदूरों के संपर्क में हैं ताकि उनमें आत्मविश्वास पैदा हो सके जिससे वे सुरक्षित वातावरण में अपने काम पर लौट सकें. लॉकडाउन के दौरान जो मजदूर वापस आ गए थे उन्हें जरूरत के हिसाब से आवास, भोजन और चिकित्सा सुविधाएं मुहैया कराई गई थीं.

    डीएमआरसी करा रही टीकाकरण

    डीएमआरसी के कुछ निर्माण स्थलों पर टीकाकरण अभियानों का आयोजन किया जा चुका है. डीएमआरसी के अधिकारी स्थानीय प्रशासन और प्राइवेट हैल्थकेयर प्रोवाइडर्स के संपर्क में हैं ताकि निर्माण स्थलों पर अधिक टीकाकरण अभियानों का आयोजन किया जा सके।

    निर्माण स्थलों पर सुनिश्चित किया जाता है कि कोविड संबंधी सभी नियमों जैसे सेनिटाइजेशन, प्रवेश के समय तापमान की जांच और सामाजिक दूरी का सख्ती से पालन किया जाता हो. इस समय, डीएमआरसी द्वारा अपने फेज-IV की परियोजना के लिए 65 कि.मी. लंबे नेटवर्क का निर्माण कार्य किया जा रहा है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.