Home /News /delhi-ncr /

Delhi Air Pollution: प्रदूषण से निपटने के लिए और अधिक एंटी-स्मॉग गन तैनात करेगी दिल्ली मेट्रो

Delhi Air Pollution: प्रदूषण से निपटने के लिए और अधिक एंटी-स्मॉग गन तैनात करेगी दिल्ली मेट्रो

यह एंटी स्मॉग गन प्रदूषण से निपटने के लिए एक स्थायी उपाय के रूप में स्थापित की गई हैं और साल भर निर्माणस्थलों पर कार्यरत रहती है. (सांकेतिक फोटो)

यह एंटी स्मॉग गन प्रदूषण से निपटने के लिए एक स्थायी उपाय के रूप में स्थापित की गई हैं और साल भर निर्माणस्थलों पर कार्यरत रहती है. (सांकेतिक फोटो)

Delhi Air Pollution: अधिकारियों के निर्देश पर राष्ट्रीय राजधानी में फिलहाल निर्माण गतिविधियां रोक दी गई हैं. डीएमआरसी के कॉरपोरेट संचार के कार्यकारी निदेशक अनुज दयाल ने कहा, ‘‘वर्तमान में, गैर-प्रदूषणकारी प्रकृति के निर्माण कार्यों के अलावा सभी प्रकार के निर्माण कार्यों को निर्देशों के अनुपालन में रोक दिया गया है.’’

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली (Delhi) में प्रदूषण की समस्या लगातार बढ़ती ही जा रही है, जिसको देखते हुए दिल्ली मेट्रो ने अपने परियोजना स्थलों पर और अधिक एंटी-स्मॉग गन (Anti Smog Gun) लगाने की योजना बनाई है. दिल्ली मेट्रो रेल निगम (DMRC) के अधिकारियों ने रविवार को यह जानकारी दी. दिल्ली मेट्रो ने अपने निर्माण स्थलों पर प्रदूषण को कम करने के लिए पहले से ही 14 एंटी-स्मॉग गन को तैनात किया है जो निर्माण कार्य से निकलने वाले धूल के कणों के प्रदूषण को कम करने के लिए नियमित अंतराल पर अच्छी धुंध फेंकती हैं.

    ये एंटी-स्मॉग गन (एएसजी) पहले भी कुछ समय के लिए लगाई गई थीं. दिल्ली और उसके आस-पास के शहरों में प्रदूषण के बढ़ते स्तर को देखते हुए अधिकारियों के निर्देश पर राष्ट्रीय राजधानी में फिलहाल निर्माण गतिविधियां रोक दी गई हैं. डीएमआरसी के कॉरपोरेट संचार के कार्यकारी निदेशक अनुज दयाल ने कहा, ‘‘वर्तमान में, गैर-प्रदूषणकारी प्रकृति के निर्माण कार्यों के अलावा सभी प्रकार के निर्माण कार्यों को निर्देशों के अनुपालन में रोक दिया गया है.’’ उन्होंने कहा, ‘‘जबकि डीएमआरसी समय-समय पर जारी किए जा रहे प्रदूषण संबंधी सभी निर्देशों का पूर्ण अनुपालन सुनिश्चित कर रहा है, यह एंटी स्मॉग गन प्रदूषण से निपटने के लिए एक स्थायी उपाय के रूप में स्थापित की गई हैं और साल भर निर्माणस्थलों पर कार्यरत रहती है.

    401 से 500 तक के एक्यूआई को ’गंभीर’ माना जाता है
    वहीं, कुछ देर पहले खबर सामने आई थी कि राष्ट्रीय राजधानी में वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI) रविवार को बहुत गंभीर श्रेणी में दर्ज किया गया. केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के आंकड़ों के मुताबिक, दिल्ली (Delhi) में एक्यूआई 305 दर्ज किया गया. फरीदाबाद (Faridabad) में एक्यूआई 296, गाजियाबाद में 288, गुरुग्राम में 174 और नोएडा में एक्यूआई 273 दर्ज किया गया.  शून्य से 50 के बीच एक्यूआई को ’अच्छा’, 51 से 100 ’संतोषजनक’, 101 से 200 ’मध्यम’, 201 से 300 ’खराब’, 301 से 400 ’बहुत खराब’ और 401 से 500 तक के एक्यूआई को ’गंभीर’ माना जाता है.

    (इनपुट- भाषा)

    Tags: Air pollution, Delhi air pollution, Delhi Metro, Delhi news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर