जानिए दिल्ली मेट्रो को कितना नुकसान पहुंचाएगी सोशल-डिस्‍टेंसिंग
Delhi-Ncr News in Hindi

जानिए दिल्ली मेट्रो को कितना नुकसान पहुंचाएगी सोशल-डिस्‍टेंसिंग
डीएमआरसी (दिल्‍ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन) के प्रवक्‍ता का कहना है कि कोरोना आने के बाद से पिछले पांच महीनों में डीएमआरसी (DMRC) को काफी नुकसान पहुंचा है. मेट्रो का संचालन ठप होने से करीब 1500 करोड़ रुपये का घाटा इन पांच महीनों में हुआ है.

डीएमआरसी (दिल्‍ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन) के प्रवक्‍ता का कहना है कि कोरोना आने के बाद से पिछले पांच महीनों में डीएमआरसी (DMRC) को काफी नुकसान पहुंचा है. मेट्रो का संचालन ठप होने से करीब 1500 करोड़ रुपये का घाटा इन पांच महीनों में हुआ है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 10, 2020, 6:18 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. कोरोना महामारी के कारण पिछले पांच महीने से बंद दिल्‍ली मेट्रो की सेवाएं शुरू हो गई हैं. सात सितंबर से कुछ रूटों पर शुरू हुई मेट्रो सेवा के बाद 12 सितंबर से सभी लाइनों पर मेट्रो चलाई जा रही है. हालांकि कोरोना को देखते हुए सोशल डिस्‍टेंसिंग, थर्मल स्‍क्रीनिंग, यात्रियों के सामान के सैनिटाइजेशन आदि के बदले हालातों में मेट्रो में सफर करने वाले यात्रियों की संख्‍या एक तिहाई से भी कम हो गई है. ऐसे में दिल्‍ली मेट्रो की कमाई को बड़ा नुकसान होने का अनुमान लगाया जा रहा है.

डीएमआरसी दिल्‍ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन के प्रवक्‍ता का कहना है कि कोरोना आने के बाद से पिछले पांच महीनों में डीएमआरसी को काफी नुकसान पहुंचा है. मेट्रो का संचालन ठप होने से करीब 1500 करोड़ रुपये का घाटा इन पांच महीनों में हुआ है. हालांकि डीएमआरसी की प्राथमिकता अभी घाटे और मुनाफे का आकलन करना नहीं है बल्कि मेट्रो सेवा को शुरू करना है. ताकि यात्रियों को फिर से मेट्रो में सफर करने का मौका मिल सके.

बताया गया कि पहले पीक टाइम में दिल्‍ली मेट्रो के एक कोच में करीब 300 लोग सफर करते थे लेकिन दोबारा शुरू की गई सेवाओं के बाद एक कोच में 50 से भी कम लोग सफर कर रहे हैं. सोशल डिस्‍टेंसिंग के कारण कुल सीटों की 50 फीसदी सीटों को खाली रखने के निर्देश दिए गए हैं और सीटों पर निर्देश चिपकाए भी गए हैं. ऐसे में सिर्फ 50 फीसदी से भी कम सीटों पर लोगों के सफर करने से मेट्रो को घाटा हो रहा है.



एक तिहाई से भी कम हुआ रेवेन्‍यू
को देखते हुए सोशल डिस्टेंमसिंग, थर्मल स्क्री निंग, यात्रियों के सामान के सैनिटाइजेशन आदि के बदले हालातों में मेट्रो में सफर करने वाले यात्रियों की संख्यान एक तिहाई से भी कम हो गई है.
को देखते हुए सोशल डिस्टेंमसिंग, थर्मल स्क्री निंग, यात्रियों के सामान के सैनिटाइजेशन आदि के बदले हालातों में मेट्रो में सफर करने वाले यात्रियों की संख्यान एक तिहाई से भी कम हो गई है.


जहां तक रेवेन्‍यू की बात है तो कोरोना से पहले तक मेट्रो की कमाई रोजाना 10 करोड़ रुपये होती थी. जो अब एक तिहाई से भी कम रह गई है. अब रोजाना करीब तीन करोड़ रुपये का अनुमान है. ऐसे में मेट्रो को फाइनेंशियली बड़ा घाटा होगा. पीली और नीली लाइनें सबसे ज्‍यादा कमाई वाली लाइनें थीं लेकिन अब इन लाइनों पर कोरोना को देखते हुए सुरक्षा के पुख्‍ता इंतजाम किए गए हैं और इनमें भी अब यात्रियों की संख्‍या अन्‍य लाइनों की तरह ही सोशल डिस्‍टेंसिंग को देखते हुए होगी.

नहीं बढ़ेगा किराया

डीएमआरसी की ओर से कहा गया कि घाटे को देखते हुए दिल्‍ली मेट्रो का किराया बढ़ने की अभी कोई उम्‍मीद नहीं है. कोरोना के बाद से मेट्रो चलाने में काफी घाटा हो रहा है लेकिन इसके लिए किराया बढ़ाने की कोई योजना अभी नहीं बनाई गई है. अभी सिर्फ इसके परिचालन को सुचारू किए जाने पर ही ध्‍यान दिया जा रहा है.

मेट्रो ऑपरेशन में लगाए अतिरिक्‍त कर्मचारी

delhi metro update, delhi metro people reaction, delhi metro latest guidelines in hindi, delhi metro hindi news, delhi metro guidelines, delhi metro coronavirus precautions, Delhi Metro, delhi metro rules after lockdown, delhi metro rules and regulations, delhi metro new rules, delhi metro rules in hindi, Delhi Metro starts, Delhi Metro operation resume, Metro resume, दिल्ली मेट्रो, दिल्ली मेट्रो शुरू, मेट्रो सेवा, दिल्ली मेट्रो, मेट्रो, मेट्रो न्यूज, दिल्ली मेट्रो, दिल्ली मेट्रो आज से शुरू, आज से मेट्रो शुरू, लखनऊ मेट्रो, बेंगलुरु मेट्रो, येलो लाइन, दिल्ली मेट्रो लेटेस्ट न्यूज, दिल्ली मेट्रो नियम, दिल्ली मेट्रो गाइडलाइन, लखनऊ मेट्रो नियम, दिल्ली मेट्रो, दिल्ली मेट्रो शुरू, मेट्रो शुरू, दिल्ली मेट्रो आज से शुरू, दिल्ली मेट्रो नियम, दिल्ली मेट्रो गाइडलाइन, मेट्रो यात्रा गाइडलाइन, दिल्ली मेट्रो न्यूज, दिल्ली मेट्रोमेट्रो के अंदर ज्यातार सीट खाली ही रहा.
कोरोना की वजह से दिल्‍ली मेट्रो को पिछले पांच महीने में 1500 करोड़ का नुकसान हुआ है.


कोरोना के बाद सैनिटाइजिंग से लेकर सोशल डिस्‍टेंसिंग, थर्मल स्‍कैनिंग आदि के बढ़ हुए काम को पूरा करने के लिए दिल्‍ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन के अन्‍य 1000 कर्मचारियों को भी मेट्रो ऑपरेशन में लगाया गया है. इसके साथ ही एक हजार सिविल डिफेंस के लोग भी मेट्रो के लिए सेवा दे रहे हैं. साथ ही सभी मेट्रो स्‍टेशनों के आसपास की स्‍थानीय पुलिस भी सहयोग कर रही है.

मेट्रो कार्ड से ही हो रहा है सफर

केंद्र सरकार की गाइडलाइंस के मुताबिक यात्रियों को मेट्रो में सफर करने के लिए कई बातों का ख्याल रखना पड़ रहा है . सभी यात्रियों को मास्‍क पहनना अनिवार्य कर दिया गया है. यात्रियों को एंट्री के टाइम पर थर्मल स्‍क्रीनिंग और सैनिटाइजेशन की भी व्यवस्था की गई है. नए नियमों के मुताबिक, दिल्ली मेट्रो में सफर के लिए अब टोकन नहीं मिल रहा है. यात्रियों को सफर के लिए मेट्रो कार्ड बनवाना पड़ रहा है. मेट्रो स्टेशनों पर सोशल डिस्टेंसिंग के लिए मार्किंग भी की गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज