• Home
  • »
  • News
  • »
  • delhi-ncr
  • »
  • Monsoon Session: दिल्ली के मंत्री का MCD पर विधानसभा में बड़ा आरोप, कहा-करप्शन के नाम पर कमाती है 5 से 10 हजार करोड़!

Monsoon Session: दिल्ली के मंत्री का MCD पर विधानसभा में बड़ा आरोप, कहा-करप्शन के नाम पर कमाती है 5 से 10 हजार करोड़!

दिल्ली में वाटर लॉगिंग की समस्या को लेकर दिल्ली के शहरी विकास मंत्री सत्येंद्र जैन ने गंभीर आरोप एमसीडी की कार्यशैली को लेकर लगाए.

दिल्ली में वाटर लॉगिंग की समस्या को लेकर दिल्ली के शहरी विकास मंत्री सत्येंद्र जैन ने गंभीर आरोप एमसीडी की कार्यशैली को लेकर लगाए.

Delhi Assembly Monsoon Session: दिल्ली के शहरी विकास मंत्री सत्येंद्र जैन ने कई गंभीर आरोप एमसीडी की कार्यशैली को लेकर लगाए. निगम अपना बेसिक काम साफ-सफाई का भी नहीं करती है. सदन में जवाब देते हुए कहा कि दिल्ली नगर निगम में भ्रष्टाचार चरम पर है और एमसीडी करप्शन के नाम पर 5 से 10,000 करोड रुपए इकट्ठा करती है.

  • Share this:

    नई दिल्ली. दिल्ली विधानसभा Delhi (Assembly) का मानसून सत्र आज से शुरू हो गया है. सदन में दिल्ली में वाटर लॉगिंग की समस्या को लेकर अल्पकालिक चर्चा भी हुई जिसमें दिल्ली के शहरी विकास मंत्री सत्येंद्र जैन ने कई गंभीर आरोप एमसीडी की कार्यशैली को लेकर लगाए.

    मंत्री सत्येंद्र जैन ने दिल्ली में जलभराव की स्थिति पर अखिलेश पति त्रिपाठी की ओर से सदन में ‘नगर निगमों द्वारा जलभराव (Water Logging) को रोकने तथा नालों के रखरखाव में असफल रहने’ के संबंध में लगाई गई अल्पकालिक चर्चा पर जवाब देते हुए कहा कि दिल्ली नगर निगम (Delhi Municipal Corporation) दुनिया की सबसे भ्रष्टतम संस्था है.

    उन्होंने कहा कि एमसीडी (MCD) में जीजा-साला की कंपनी चलती है यानी कि जीजा (जेई) और साला (ठेकेदार). इसलिए दिल्ली नगर निगम में कोई काम नहीं होता है.

    ये भी पढ़ें: Delhi Live: शाम 5 बजे विधानसभा को संबोधित करेंगे सीएम केजरीवाल, BJP विधायक को मार्शल ने सदन से निकाला

    दिल्ली नगर निगम अपना बेसिक काम साफ-सफाई का भी नहीं करती है. उन्होंने सदन में जवाब देते हुए कहा कि दिल्ली नगर निगम में भ्रष्टाचार चरम पर है. उन्होंने सदन में आरोप लगाया कि एमसीडी करप्शन के नाम पर 5 से 10,000 करोड रुपए इकट्ठा करती है.

    सदन में चर्चा में वक्तव्य देते हुए त्रिपाठी ने कहा कि भाजपा शासित दिल्ली नगर निगम और दिल्ली को कूड़े का ढेर बना चुकी है. अब वह स्विमिंग पूल बनाने का काम कर रही है. दिल्ली में नालों की सफाई नहीं की गई है.

    विशेष रवि ने कहा कि लोक निर्माण विभाग के अधिकारी अपने अधीनस्थ सड़कों पर जलभराव समस्या से जनता को राहत दिलाने का काम करता रहा है. लेकिन दिल्ली नगर निगम इस पर ध्यान ही नहीं देती है. रोहित महरौलिया ने भी क्षेत्र में जगह-जगह जलभराव की समस्या होने का मामला सदन के समक्ष उठाया. उन्होंने दिल्ली नगर निगम की कार्यशैली पर सवाल खड़े किए.

    सदस्य अजय महावर ने कहा कि 60 फुट से कम चौड़ी रोड दिल्ली नगर निगम के अधीनस्थ आती है. और उससे ऊपर की चौड़ी रोड लोक निर्माण विभाग के अंतर्गत आते हैं. उन्होंने हादसों पर चिंता जताते हुए यह भी कहा कि जितने हादसे हुए हैं वह सभी लोग निर्माण विभाग की सड़कों पर हुए हैं.

    लोक निर्माण विभाग अपने अधीनस्थ वालों की सही से सफाई नहीं करना चाहता है. दिल्ली नगर निगम ने अपने लक्ष्य निर्धारण से ज्यादा नालों की गाद निकालने का काम किया है. कोराेना महामारी के दौरान दिल्ली नगर निगम के सफाई कर्मचारियों ने अपनी जान दांव पर लगाकर दिल्ली वालों की सेवा की है.

    सोमनाथ भारती ने भी दिल्ली में जलभराव की समस्या पर चिंता जाहिर की. हाजी यूनुस ने कहा कि उनके क्षेत्र में पूर्वी दिल्ली नगर निगम ने एक भी नाले की सफाई नहीं की है. इसकी वजह से क्षेत्र में जलभराव की समस्या लगातार बारिश के दौरान बनी रहती है. अब्दुल रहमान ने भी कहा कि पूर्वी दिल्ली नगर निगम ने एक भी नाले की सफाई नहीं की है जबकि पीडब्ल्यडी ने अपने अधीनस्थ नालों की सफाईदुरुस्त की हुई है.

    ये भी पढ़ें: Water Logging: ईडीएमसी कमिश्नर ने अफसरों को दिए निर्देश, कहा-नहीं होनी चाहिए वाटर लॉगिंग, तुरंत दूर करें समस्या

    अभय सिन्हा ने कहा कि दिल्ली की जलभराव की समस्या को दिल्ली नगर निगम सीमित करके इस मामले को डायवर्ट कर दिया है. उन्होंने सदन में आग्रह किया कि इस समस्या का समाधान सभी संस्थाओं को मिलकर करना होगा, तभी दिल्ली की जनता को इस समस्या से छुटकारा दिलाया जा सके.

    उन्होंने कहा कि इस मामले पर दिल्ली नगर निगम, दिल्ली विकास प्राधिकरण, लोक निर्माण विभाग और दिल्ली जल बोर्ड की बात करेंगे तो समस्या का समाधान नहीं हो पाएगा. सदस्य राजकुमारी ढिल्लो, कुलदीप कुमार और ऋतुराज गोविंद ने भी जलभराव की समस्या को लेकर सदन में जोर शोर से उठाया.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज