Home /News /delhi-ncr /

Delhi Jal Board: अब पानी की समस्‍या 48 घंटे में होगी दूर, जल बोर्ड ने तैयार क‍िया ये प्‍लान

Delhi Jal Board: अब पानी की समस्‍या 48 घंटे में होगी दूर, जल बोर्ड ने तैयार क‍िया ये प्‍लान

पानी से जुड़ी समस्‍याओं को दूर करने के ल‍िये श‍िकायत तंत्र को और मजबूत बनाने के न‍िर्देश जल मंत्री सत्येंद्र जैन ने अधिकारियों को द‍िये.

पानी से जुड़ी समस्‍याओं को दूर करने के ल‍िये श‍िकायत तंत्र को और मजबूत बनाने के न‍िर्देश जल मंत्री सत्येंद्र जैन ने अधिकारियों को द‍िये.

Delhi Jal Board: द‍िल्‍ली सरकार जहां राजधानीवास‍ियों को 24 घंटे सातों द‍िन पानी की सप्‍लाई करने की तैयारी में जुटी है. वहीं अब पानी की कि‍ल्‍लत से लेकर दूष‍ित पानी की सप्‍लाई और दूसरी सभी श‍िकायतों का समाधान 48 घंटों में करने के ल‍िये स‍िस्‍टम तंत्र को मजबूत क‍िया जाएगा.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. द‍िल्‍ली सरकार (Delhi Government) जहां राजधानीवास‍ियों को 24 घंटे सातों द‍िन पानी की सप्‍लाई करने की तैयारी में जुटी है. वहीं अब पानी की कि‍ल्‍लत से लेकर दूष‍ित पानी की सप्‍लाई और दूसरी सभी श‍िकायतों का समाधान 48 घंटों में करने के ल‍िये तंत्र को मजबूत क‍िया जाएगा.

    इस बाबत दिल्ली जल बोर्ड ( Delhi Jal Board) के अध्यक्ष एवं जल मंत्री सत्येंद्र जैन (Satyendar Jain) ने सोमवार को जल बोर्ड के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ मीट‍िंग भी की. साथ ही जल संबंधी समस्याओं का जायजा भी लिया. इस अवसर पर जल बोर्ड के वाइस चेयरमैन राघव चड्ढा भी प्रमुख रूप से मौजूद भी रहे.

    जैन ने अधिकारियों को दिल्ली के लोगों तक स्वच्छ पानी पहुंचाने के लिए अथक प्रयास करने एवं मजबूत शिकायत समाधान तंत्र विकसित करने के दिशा निर्देश दिए. जिसके माध्यम से लोगों की किसी भी शिकायत का समाधान 48 घंटे के अंदर किया जाएगा. उन्होंने अधिकारियों से कहा कि लोगों के मुद्दों और शिकायतों के प्रति सतर्क और उत्तरदायी होना उनकी मुख्य जिम्मेदारी है.

    ये भी पढ़ें: Novelty Cinema: सिनेमा की जमीन को 34 करोड़ में बेचने के ख‍िलाफ सड़कों पर उतरी AAP, 272 वार्डों में न‍िकाली पदयात्रा

    उन दोनों ने अधिकारियों को यह सुनिश्चित करने के लिए कहा कि कोई भी शिकायत लंबित न रहें और कम से कम समय में शिकायतों को हल करने पर विशेष ध्यान दिया जाए.

    डीजेबी के अध्यक्ष सत्येंद्र जैन ने लगातार होने वाली कुछ समस्याओं का विश्लेषण करने के लिए बैठक बुलाई थी. उन्होंने कहा कि दिल्ली जल बोर्ड को लोगों को स्वच्छ पानी सुनिश्चित करने के लिए अथक प्रयास करना चाहिए. किसी भी शिकायत के प्रति संवेदनशील और सतर्क रहना हमारी प्रमुख जिम्मेदारी है. एक मजबूत शिकायत समाधान तंत्र स्थापित किया जाना चाहिए और किसी भी शिकायत को 48 के भीतर हल किया जाना चाहिए.

    जैन ने अधिकारियों को यह सुनिश्चित करने के लिए कहा कि 48 घंटे से ज्यादा कोई भी शिकायत लंबित न रहे. पानी की आपूर्ति, दूषित सप्लाई या पानी से संबंधित किसी भी शिकायत को 48 घंटे के भीतर हल किया जाना चाहिए. इससे अधिक समय लगने वाली शिकायतों को तुरंत चिह्नित किया जाना चाहिए, ताकि जल्द से जल्द समाधान किया जा सके.

    ये भी पढ़ें: काम दिलाने के नाम पर गांजा तस्कर ने 3 नाबालिगों को देह व्यापार में धकेला, दिल्ली महिला आयोग ने कराया मुक्त

    उन्होंने ये भी कहा की शिकायतों का डेटा संग्रह किया जाना चाहिए, ताकि कौन-सा क्षेत्र किस तरह की समस्याओं का सामना करते हैं, इसका पता लगाया जा सके. लोगों के फायदे के लिए उन समस्याओं का पूर्णता समाधान किया जा सके. उन्होंने आगे कहा कि वार्ड स्तर पर शिकायतों का प्रभावी निरिक्षण किया जाना चाहिए ताकि समाधान जल्दी से जल्दी किया जा सके.

    सत्येंद्र जैन ने अन्य चल रही परियोजनाओं का भी जायज़ा लिया और प्रशासन के प्रभावी होने के लिए सतर्कता एवं जवाबदेही पर जोर दिया. उन्होंने कहा कि लोगों के मुद्दों के प्रति उत्तरदायी और सतर्क रहना एक प्रशासन की प्रमुख जिम्मेदारी है. लोगों के मुद्दों को जल्दी से हल करने की क्षमता ही एक प्रशासन को और प्रभावी एवं लोकतांत्रिक बनाती है.

    Tags: Delhi Government, Delhi news, Drinking water crisis, Water Crisis

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर