Delhi News: दिल्‍ली के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत कोरोना पॉजिटिव, होम आइसोलेशन में गए

अब तक दिल्‍ली सरकार के कई मंत्री कोरोना की चपेट में आ चुके हैं.

अब तक दिल्‍ली सरकार के कई मंत्री कोरोना की चपेट में आ चुके हैं.

दिल्ली के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत (Kailash Gehlot) की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आयी है. वह इस समय होम आइसोलेशन में चले गए हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 15, 2021, 1:28 AM IST
  • Share this:
नयी दिल्ली. दिल्ली सरकार के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत (Kailash Gehlot) भी कोरोना वायरस की चपेट में आ गए हैं. उन्‍होंने खुद के कोरोना जांच में संक्रमित होने की जानकारी दी है. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि उनके संपर्क में आए लोगों को कोविड जांच करानी चाहिए और आवश्यक सावधानी बरतनी चाहिए.

गहलोत ने ट्वीट किया, 'आज मेरी जांच में कोविड-19 की पुष्टि हुई है. मैं घर पर पृथक-वास में हूं. मेरे संपर्क में आने वालों को आवश्यक सावधानी बरतनी चाहिए.'

बता दें कि दिल्‍ली के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत को पिछले बुधवार को कोविड-19 रोधी टीके की पहली खुराक दी गई थी. वहीं, कैलाश गहलोत से से पहले उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया, पर्यावरण मंत्री गोपाल राय और स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन करोना वायरस से संक्रमित होकर इस महामारी से उबर चुके हैं.

Youtube Video

बहरहाल, दिल्ली में कोरोना का कहर जारी है और हर रोज नया रिकॉर्ड बन रहा है. मंगलवार को पिछले 24 घंटे में 13,500 संक्रमित मरीज सामने आए हैं, यह अपने आप में अब तक की सबसे बड़ी संख्या है. इसके साथ दिल्ली में संक्रमित मरीजों की संख्या  51,595  हो गई है. जबकि अब तक कोरोना से अब तक कुल 11,355 लोगों की मौत हो चुकी है.

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कही ये बात

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन (Delhi Health Minister Satyendra Jain) ने बुधवार को बड़ा बयान दिया है. उन्‍होंने कहा कि देश और दिल्ली में कोरोना के मामले बहुत तेजी से बढ़ रहे हैं. मामले रोज बढ़ते जा रहे हैं. एक हफ़्ते पहले दिल्‍ली में 6000 बेड थे, अब 13,000 से ज़्यादा बेड हैं. हम बहुत तेजी से बेड बढ़ा रहे हैं. जबकि वेंटिलेटर की कोई कमी नहीं है. इसके साथ उन्‍होंने कहा कि दिल्ली में लगातार एक लाख से ज़्यादा टेस्ट हो रहे हैं जिसमें से 70 फीसदी टेस्ट RT-PCR हैं. इसके साथ जैन ने कहा कि दिल्ली सरकार की ऐप में गलत डाटा बिल्कुल नहीं दिखा रहा है. उसे अपडेट होने में थोड़ा वक्त जरूर लगता है. अगर किसी भी व्यक्ति को अस्पताल जाना है, तो ऐप देखकर ही जाए. साथ ही दावा किया कि दिल्ली में सबको एडमिट कराया जा रहा है. यानी दिल्ली ही नहीं बल्कि बाहर के मरीजों का भी इलाज किया जा रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज