दिल्ली: सिंघु बॉर्डर के पास बदमाशों ने लूटी पुलिस की बाइक, पंजाबी में बात कर रहे थे अपराधी

लिहाजा ये मामला किसानों के लिए भी और दिल्ली पुलिस के लिए भी महत्वपूर्ण है. (सांकेतिक फोटो)

वेस्ट दिल्ली की डीसीपी उर्वीजा गोयल का कहना है कि इस मामले में जो भी आरोपी होगा ,उसके खिलाफ उचित कानूनी कार्रवाई की जाएगी. हमारी टीम बेहतर तरीके से तफ़्तीश (Investigation) कर रही है.

  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली- हरियाणा बॉर्डर (Delhi- Haryana Border) इलाके से एक बड़ी खबर सामने आई है. कहा जा रहा है कि सिंघु बॉर्डर इलाके में दिल्ली पुलिस में कार्यरत एक जवान की बाइक लूट ली गई है. वहीं, इस मामले की गंभीरता को देखते हुए वेस्ट दिल्ली डीसीपी के निर्देश पर कई टीमें गठिक की गई हैं. और इस मामले में जल्द से जल्द तफ़्तीश कर समाधान करने को निर्देश दिया गया है. दरअसल ये मामला 17 से 18 जुलाई के दौरान रात का है. जानकारी के मुताबिक, सिपाही मोनराज (Monraj) अपनी ड्यूटी करने के बाद बाइक से सिंघु बॉर्डर (singhu border) से होते हुए पालम इलाके में स्थित घर जा रहा था. उसी दौरान तीन अज्ञात युवकों ने इस लूटपाट को अंजाम दिया .

दर्ज एफआईआर के मुताबिक, पीरागढ़ी से जनकपुरी की तरफ जाने के वक्त तीन बाइक सवार युवक (Motorcycle borne sikh boys) सामने आए और अपने बाइक से उतरने के साथ ही मोनराज को जान से मारने की धमकी दी. साथ ही तीनों ने कहा कि बाइक छोड़कर सड़क किनारे खड़े हो जाओ.  उसके बाद उन आरोपियों ने उस पुलिसकर्मी से बाइक लूट ली और वहां से फरार हो गए. बाइक का रजिस्ट्रेशन नंबर राजस्थान का है. दर्ज बयान में पुलिसकर्मी ने बताया कि जिस वक्त वो अपने घर जा रहे थे तब वो अपने वर्दी चेंजकर सामान्य कपड़े में थे. उन बाइक लूटेरों की पहचान के बारे में पूछने पर पीड़ित पुलिसकर्मी ने बताया कि वो लोग अपना चेहरा ढंके हुए थे. लेकिन वो तीनों आरोपी सिख धर्म से जुड़े हुए प्ररित हो रहे थे, क्योंकि उनलोगों के सर पर पगड़ी थी. बोलने का अंदाज और पहनावा सभी पंजाबियों जैसे थे.

CCTV के फुटेज को अब खंगालने में जुट गई है
पीड़ित सिपाही ने कहा कि वे हिंदी भी पंजाबी अंदाज में बोल रहे थे. इस लूटपाट के बाद पीड़ित पुलिसकर्मी ने पीसीआर को कॉल किया. उसके बाद में विकासपुरी थाना में जाकर लिखित तौर पर शिकायत दर्ज करवाई. लिहाजा मामले की गंभीरता को देखते हुए दिल्ली पुलिस की टीम उस घटना स्थल के आसपास सड़क किनारे लगे CCTV के फुटेज को अब खंगालने में जुट गई है.

दिल्ली पुलिस के लिए भी ये तफ़्तीश बेहद महत्वपूर्ण है
बता दें कि सिंघु बॉर्डर पर पिछले आठ महीनों से किसानों द्वारा विरोध प्रदर्शन (Farmers Protest ) चल रहा है. ये विरोध प्रदर्शन केंद्र सरकार के तीन कृषि बिल (Farmers Bill ) कानून के खिलाफ किया जा रहा था , जिसके चलते हजारों की तादात में सिंघु बॉर्डर इलाके में किसानों का संगठन इकठ्ठा है , विरोध प्रदर्शन करने वाले लोगों में सबसे ज्यादा पंजाब और हरियाणा से आए किसान हैं. कई बार किसानों के संगठन के द्वारा ये बयान दिया गया था कि कुछ असामाजिक तत्वों द्वारा आंदोलन को बदनाम करने की कोशिश की जा सकती है. लिहाजा ये मामला किसानों के लिए भी और दिल्ली पुलिस के लिए भी महत्वपूर्ण है.

उन बदमाशों को गिरफ्तार कर लेंगे
वहीं, वेस्ट दिल्ली की डीसीपी (DCP ,West ) उर्वीजा गोयल का कहना है कि इस मामले में जो भी आरोपी होगा, उसके खिलाफ उचित कानूनी कार्रवाई की जाएगी. हमारी टीम बेहतर तरीके से तफ़्तीश (Investigation) कर रही है. जल्द ही उन आरोपी को गिरफ्तार करके इस मामले का समाधान कर दिया जाएगा. इस जांच के लिए टीम का गठन कर दिया गया है. इसके साथ ही जरूरत पड़ने पर पड़ोसी राज्य हरियाणा और पंजाब पुलिस के साथ भी हमलोग संपर्क करके उन बदमाशों को गिरफ्तार कर लेंगे.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.