दिल्ली के MLA ने CM को दी चेतावनी, कहा-अगर वैक्सीनेशन सेंटर नहीं खोलें तो भूख हड़ताल पर बैठूंगा!

विधायक ने चेतावनी दी है कि अगर वैक्सीनेशन सेंटर नहीं खोला जाता है तो वह भूख हड़ताल पर बैठेंगे.

विधायक ने चेतावनी दी है कि अगर वैक्सीनेशन सेंटर नहीं खोला जाता है तो वह भूख हड़ताल पर बैठेंगे.

गांधीनगर विधानसभा में एक भी कोरोना वैक्सीन सेंटर नहीं खोला गया है. इसको लेकर विधायक ने दिल्ली सरकार (Delhi Government) को चेतावनी भी दी है कि अगर वैक्सीनेशन सेंटर नहीं खोला जाता है तो वह भूख हड़ताल पर बैठेंगे.

  • Share this:

नई दिल्ली. दिल्ली में कोराेना (Corona) संक्रमित मरीजों की चेन तोड़ने के लिए वैक्सीनेशन पूरी जोर-शोर से चल रहा है. वहीं, वैक्सीनेशन सेंटर (Vaccination Centre) पर स्लॉट लेने के बाद भी लंबी लाइनें लग रही है. जिन विधानसभा में वैक्सीनेशन सेंटर नहीं खोले गये उनके विधायक (MLA) नाराज हैं.

ऐसा ही मामला गांधीनगर विधानसभा का सामने आया है जहां पर एक भी कोरोना वैक्सीन सेंटर नहीं खोला गया है. इसको लेकर विधायक ने दिल्ली सरकार (Delhi Government) को चेतावनी भी दी है कि अगर वैक्सीनेशन सेंटर नहीं खोला जाता है तो वह भूख हड़ताल पर बैठेंगे.

गांधीनगर से भाजपा विधायक अनिल बाजपेई (Anil Bajpai) ने दिल्ली की केजरीवाल सरकार (Kejriwal Government) के ऊपर भेदभाव का आरोप लगाया है.

उन्होंने कहा कि इस मुश्किल समय में अनजान व्यक्ति भी एक-दूसरे की मदद के लिए तैयार है. लेकिन अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) द्वारा सिर्फ इसलिए गांधीनगर विधानसभा क्षेत्र में टीकाकरण केंद्र नहीं खोला गया है क्योंकि यहा भाजपा विधायक है. जबकि इसके ठीक विपरीत बाकी विधानसभाओं में टीकाकरण केंद्र खोले गए हैं.

Youtube Video

उन्होंने कहा कि अरविंद केजरीवाल इस राजनीतिक द्वेष के कारण निम्न स्तर की राजनीति कर रहे हैं. क्या गांधीनगर की जनता दिल्ली से बाहर की है? अरविंद केजरीवाल आखिर गांधीनगर विधानसभा की जनता के साथ सौतेला व्यवहार क्यों कर रहे हैं? बाजपेई ने कहा कि अगर टीकाकरण केंद्र नहीं बनाए गए तो इसके लिए भूख-हड़ताल पर भी बैठूंगा.

बाजपेई ने कहा कि अरविंद केजरीवाल मुझे आम आदमी पार्टी छोड़कर भाजपा से जुड़ने की सजा दे रहे हैं. उन्होंने कहा कि गांधीनगर विधानसभा में कम से कम 6 अलग-अलग जगहों पर टीकाकरण केंद्र खोले जाए. इसके लिए उप-राज्यपाल और शाहदरा डीएम को कई बार पत्र भी लिखा. लेकिन अभी तक इसमें कोई सुनवाई नहीं हुई है.



बाजपेई ने कहा कि मैं खुद दिल्ली की पहली पोलोक्लीनिक जो मेरी विधानसभा कान्ति नगर में है और मोहल्ला क्लिनिक व स्कूलों में टीकाकरण केंद्र खोलने की बात कह चुका हूं. लेकिन उस पर आज तक केजरीवाल सरकार (Kejriwal Government) ने संज्ञान लेने की जहमत नहीं उठाई. केजरीवाल की इस लापरवाही को बिल्कुल बर्दाश्त नहीं किया जाएगा.

उन्होंने कहा कि अफसोस होता है जब केजरीवाल सरकार लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सेवा देने के बदले अपने नोडल ऑफिसर की धमकियों से डरा रही है. आम आदमी पार्टी के नेता और दिल्ली के मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) खुलेआम अस्पतालों को ऑक्सीजन की कमी होने के बाद शिकायत करने पर कार्रवाई की बात करते हैं.

दिल्ली में एक्टिव मरीजों की संख्या 91,859 

दिल्ली सरकार की ओर से जारी किए गए हेल्थ बुलेटिन के मुताबिक पिछले 24 घंटे में रिकवरी रेट भी अच्छा दर्ज किया गया है. वहीं, अब दिल्ली में एक्टिव मरीजों की संख्या 91,859 हो गई है. वहीं, कोरोना से होने वाली मौतों की संख्या भी बढ़कर 18,063 तक पहुंच गई है. इसके चलते दिल्ली में मृत्यु दर 1.44% हो गई है.

अब तक रिकवर्ड हो चुके हैं 11,43,980 मरीज

वहीं, समग्र पॉजिटिविटी रेट की बात करें तो यह दिल्ली में 7.16 फीसदी है. अब तक समग्र पॉजिटिव केस की बात करें तो यह 12,53,902 को पार कर गया है. वहीं रिकवर्ड करने वालों की संख्या भी 11 लाख 43 हजार 980 हो चुकी है. बड़ी संख्या में मरीजों का इलाज हो रहा है.

होम आइसोलेशन में 50,070 कोरोना मरीजों का चल रहा इलाज

होम आइसोलेशन में 50,070 कोरोना मरीजों का भी इलाज चल रहा है. पिछले 24 घंटे में 79,491 लोगों का टेस्ट किया गया है. अब तक कुल 1,75,18,752 टेस्ट किए जा चुके हैं.

अब तक दी जा चुकी है 33,93,467 को कोरोना की डोज 

बताते चलें कि मंगलवार को भी पिछले 24 घंटे में 89,297 लोगों को कोरोना वैक्सीन के डोज दिए गए. इनमें पहली डोज वालों की संख्या 61,662 रिकॉर्ड की गई. वहीं 27,635 को कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज दी गई. अब तक पहली डोज लेने वालों की संख्या 26,54,809 हो चुकी है. वहीं, दूसरी डोज लेने वालों का आंकड़ा 7,38,658 हो चुका है. अब तक 33,93,467 लोगों को कोरोना वैक्सीन की डोज दी जा चुकी है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज