Home /News /delhi-ncr /

delhi mumbai expressway between delhi to alwar will start in june after 60 days dlnh

2 महीने में शुरू हो जाएगा दिल्ली-मुम्बई एक्सप्रेसवे का यह हिस्सा, इन्हें मिलेगा मौका

इसका बड़ा फायदा दिल्ली और हरियाणा के अलवर, फिरोजपुर झिरका में रहने वालों को मिलेगा. demo pic

इसका बड़ा फायदा दिल्ली और हरियाणा के अलवर, फिरोजपुर झिरका में रहने वालों को मिलेगा. demo pic

दिल्ली-मुम्बई एक्सप्रेसवे (Delhi-Mumbai Expressway) दिल्ली के कालिंदी कुंज (Kalindi Kunj) से होकर भी गुजरेगा. कालिंदी कुंज वो सड़क है जहां से सारिता विहार, नेहरू प्लेस और द्वारका होते हुए रास्ता आईजीआई एयरपोर्ट के लिए जाता है. इस तरह ग्रीन फील्ड एक्सप्रेसवे (Green Field Expressway) बन जाने के बाद जेवर एयरपोर्ट दिल्ली-मुम्बई एक्सप्रेसवे की मदद से आईजीआई एयरपोर्ट (IGI Airport) से भी जुड़ जाएगा. दिल्ली-मुम्बई एक्सप्रेस-वे बनाने में करीब 5 लाख टन स्टील लगेगा. यह 20 हावड़ा ब्रिज के बराबर है.

अधिक पढ़ें ...

    नोएडा. वैसे तो दिल्ली-मुम्बई एक्सप्रेसवे (Delhi-Mumbai Expressway) की लम्बाई 1340 किमी है. लगातार इसे बनाने का काम चल रहा है. लेकिन दिल्ली-हरियाणा (Delhi-Haryana) के बीच का एक हिस्सा आने वाले 2 महीने में बनकर तैयार हो जाएगा. इसका बड़ा फायदा दिल्ली और हरियाणा के फिरोजपुर झिरका के अलावा राजस्थान (Rajasthan) के अलवर में रहने वालों को मिलेगा. दिल्ली-मुम्बई एक्सप्रेसवे के शुरू होते ही दिल्ली-अलवर (Delhi-Alwar) के बीच की दूरी डेढ़ घंटे की रह जाएगी. अभी तक हाइवे नंबर 248 से सफर करने पर कम से कम तीन घंटे लगते थे. ट्रैफिक (Traffic) ज्यादा होने के चलते एक्सीडेंट भी बहुत ज्यादा होते थे.

    अलवर से दिल्ली-मुम्बई एक्सप्रेसवे का ऐसे मिलेगा मौका

    जानकारों की मानें तो अलवर, राजस्थान से चलकर दिल्ली-मुम्बई एक्सप्रेसवे पर चढ़ने के लिए फिरोजपुर झिरका होते हुए पहले अलीपुर आना होगा. फिरोजपुर झिरका से अलीपुर की दूरी करीब 10 किमी है. अलीपुर में दिल्ली-मुम्बई एक्सप्रेसवे का बड़ा इंटरचेंज पाइंट बनाया गया है. इसे इंटरचेंज का जक्शन भी कहा जा रहा है. यहां से एकसप्रेसवे पर सफर शुरू करते ही गुरुग्राम के पास भौंडसी तक आना होगा. भौंडसी पर भी इंटरचेंज बना हुआ है. यहां उतरने के बाद दिल्ली की ओर सफर शुरू हो जाएगा.

    एयरपोर्ट से ऐसे जुड़ेगा दिल्ली-मुम्बई एक्सप्रेसवे

    हरियाणा के बल्लभगढ़ से होते हुए चंदावली के पास दिल्ली-मुम्बई एक्सप्रेस वे का एक हिस्सा गुजर रहा है. बल्लभगढ़ से जेवर की दूरी करीब 31 किमी है. हरियाणा सरकार के साथ मिलकर यूपी सरकार ने जेवर पाइंट पर दोनों एक्सप्रेस वे को जोड़ने की मांग रखी थी. हालांकि शुरू में जमीन अधिग्रहण के खर्च पर हरियाणा सरकार तैयार नहीं हुई थी. 31 किमी के हाइवे में 7 किमी का हिस्सा यूपी में है तो बाकी का हरियाणा के हिस्से में. बल्लभगढ़ से आने वाली सड़क यमुना एक्सप्रेसवे के 32वें किलोमीटर पर जुड़ेगी. यहां इंटरचेंज की मदद से ट्रैफिक यमुना एक्सप्रेसवे पर आगे बढ़ जाएगा. इंटरचेंज पर ही चार लूप भी बनाए जाएंगे. दो लूप चढ़ने और दो उतरने के लिए होंगे.

    टर्मिनल तक जाएगा 800 मीटर लम्बा एलिवेटेड रोड

    यमुना एक्सप्रेसवे के जेवर वाले इलाके में एक एलिवेटेड रोड बनाया जाएगा. यह रोड सीधे जेवर एयरपोर्ट के टर्मिनल तक जाएगा. लिंक रोड की मदद से दिल्ली-मुम्बई एकसप्रेसवे से आने वाले वाहन हों या फिर ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेसवे से आने वाले वाहन, सभी एलिवेटेड रोड से होते हुए ही एयरपोर्ट के टर्मिनल तक जाएंगे. इतना ही नहीं दिल्ली,एनसीआर, अलीगढ़, मथुरा, आगरा, बुलंदशहर, खुर्जा और एटा की ओर से आने और एयरपोर्ट की ओर जाने वाले वाहन भी इसी 800 मीटर के एलिवेटेड रोड का इस्तेमाल करेंगे.

    Tags: Alwar News, Delhi-Mumbai Expressway, Delhi-NCR News, Jewar airport

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर