Home /News /delhi-ncr /

दिल्ली वालों को कुछ दिन जहरीली हवा में ही लेनी होगी सांस, CPCB ने कहा- बच्चे-बूढ़े घर से न निकलें

दिल्ली वालों को कुछ दिन जहरीली हवा में ही लेनी होगी सांस, CPCB ने कहा- बच्चे-बूढ़े घर से न निकलें

दिल्ली में ठंड शुरू होते ही हवा जहरीली होने लगती है. हर रोज सुबह धुंध की चादर लपेटे ही होती है.

दिल्ली में ठंड शुरू होते ही हवा जहरीली होने लगती है. हर रोज सुबह धुंध की चादर लपेटे ही होती है.

Air pollution in Delhi: दिल्ली NCR में हवा लगातार दमघोटू होती जा रही है. दिल्ली के लोगों को अभी फिलहाल अगले कुछ दिनों तक यूं ही जहरीली हवा में सांस लेने को मजबूर होना पड़ेगा. अगले कुछ दिनों तक मौसम के साफ होने के कोई आसार नहीं दिख रहे हैं. विशेषज्ञों की माने तो कम से कम 18 नवंबर तक किसी तरह की राहत मिलती नजर नहीं आ रही है. दिल्ली NCR की हवा में भीतर तक घुल चुके प्रदूषण के कण अगले एक हफ्ते तक साफ होने को उम्मीद नहीं है. बीते दो-तीन दिनों से दिल्ली और एनसीआर क्षेत्र में AQI लेवल 400 से ऊपर ही रह रहा है.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. दिल्ली NCR के निवासियों ने शुक्रवार सुबह आंख खोली तो दम घोटने वाली हवा का सामना करना पड़ा. अभी फिलहाल अगले कुछ दिनों तक यूं ही दमघोटू हवा (stifling air) में सांस लेने को मजबूर होना पड़ेगा. अगले कुछ दिनों तक मौसम के साफ होने के कोई आसार नहीं दिख रहे हैं. विशेषज्ञों की माने तो कम से कम 18 नवंबर तक किसी तरह की राहत मिलती नजर नहीं आ रही है. दिल्ली NCR की हवा में भीतर तक घुल चुके प्रदूषण के कण अगले एक हफ्ते तक साफ होने को उम्मीद नहीं है.

Graded response action plan (GRAP) पर Sub committee की आज हुई बैठक में दिल्ली NCR के लिए काफी डराने वाली जानकारियां सामने आईं. इस बैठक में मौसम और प्रदूषण के अगले कुछ दिनों के पूर्वानुमान पर चर्चा हुई. बैठक में ये बताया गया कि उत्तर पश्चिम हवाओं के कमजोर होने और रात के समय मौसम के सामान्य होने के कारण कम से कम 18 नवंबर तक हवा में फैले प्रदूषण के कम होने के कोई आसार नहीं है.

पराली ने बढ़ाई दिल्ली की समस्या

ये भी बताया गया कि 14 से 17 नवंबर के बीच तो दिन में भी मौसम शांत ही रहेगा और हवा धीमी रहेगी. पराली जलने की घटनाओं में बढ़ोतरी ने स्थिति और बिगाड़ दी है. केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने बताया कि आने वाला हफ्ता दिल्ली NCR के लिए काफी गंभीर है। यूपी और हरियाणा के प्रदूषण बोर्ड तो फिर भी हर रोज अपनी Action taken report दे रहे हैं, दिल्ली और राजस्थान की ओर से बस इंतज़ार हो रहा है.

बैठक में मौजूद स्वास्थ्य विशेषज्ञों के मुताबिक वर्तमान खराब हवा स्वस्थ व्यक्ति के लिए भी हानिकारक है. ऐसे मे पहले से बीमारियों से पीड़ित लोगों को काफी मुश्किले हो सकती है. सरकार, निजी कार्यालयों और प्रतिष्ठानों को ये सुझाव दिया गया है कि वो अपने वाहनों के प्रयोग में कम से कम 30 फीसदी की कमी करें. जहां तक मुमकिन हो, घर से ही का करें और लोग भी बिना कारण घर से बाहर ना निकलें.

प्रदूषण खतरनाक स्तर पर पहुंचा

दिल्ली और पूरे एनसीआर क्षेत्र में वायु प्रदूषण का स्तर गंभीर श्रेणी में पहुंचने के बाद बच्चे, बुजुर्ग और गर्भवती महिलाओं को घर से बाहर नहीं निकलने की सलाह है. दिल्ली-एनसीआर प्रदूषण की वजह से चोक हो चुका है. शुक्रवार को सीपीसीबी ने प्रदूषण से बचने के उपायों को लेकर जानकारी भी साझा की. जिन लोगों को खांसने, नाक बहने या फिर छाती में दर्द-भारीपन इत्यादि की शिकायत हो रही है तो उन्हें तत्काल चिकित्सीय परामर्श के साथ घर में ही आराम करने की सलाह दी है.

इनके अलावा जिन लोगों को आवश्यक कार्य से बाहर जाना है उनके लिए सीपीसीबी ने सलाह दी है कि वापस घर पहुंचने के बाद तत्काल चेहरे को दो बार साफ पानी और साबुन से साफ करें. इसके बाद गुनगुने पानी का ही सेवन करें. साथ साथ ही दिनचर्या पर भी नजर रखें। सांस लेने में कठिनाई होने पर बगैर किसी देर किए डॉक्टर से परामर्श करें.

Tags: Air pollution delhi, Delhi air pollution, Delhi-NCR Pollution, Pollution AQI Level

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर