दिल्ली में सबसे खराब स्तर पर पहुंचा AQI, EPCA कर सकता है कड़े कदमों की घोषणा
Delhi-Ncr News in Hindi

दिल्ली में सबसे खराब स्तर पर पहुंचा AQI, EPCA कर सकता है कड़े कदमों की घोषणा
पूरे दिल्ली-एनसीआर को धुंध और कोहरे ने जकड़ रखा है. (File Photo)

दीपावली (Deepawali) से दो दिन पहले राष्ट्रीय राजधानी (New Delhi) की वायु गुणवत्ता (Air Quality) शुक्रवार को इस मौसम के सबसे खराब स्तर पर पहुंच गई. हवा की गति धीमी होने की वजह से प्रदूषकों का जमाव आसान हो गया है.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
नई दिल्ली. दीपावली (Deepawali) से दो दिन पहले शुक्रवार को राजधानी दिल्ली (New Delhi) की वायु गुणवत्ता (Air Quality) इस मौसम के सबसे खराब स्तर पर पहुंच गई. हवा की गति धीमी होने की वजह से प्रदूषकों का जमाव आसान हो गया है. इसे देखते हुए सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) द्वारा अधिकृत पर्यावरण प्रदूषण (रोकथाम एवं नियंत्रण) प्राधिकरण (EPCA) 10 सदस्यीय प्रदूषण रोधी कार्यबल की सिफारिशों को लागू करने पर विचार कर सकता है.

इन सिफारिशों के तहत दिल्ली-एनसीआर (Delhi-NCR) में 26 से 30 अक्टूबर तक रात में निर्माण कार्य पर प्रतिबंध लगाना और पाइप्ड नैचुरल गैस (PNG) का इस्तेमाल नहीं करने वाले उद्योगों को बंद रखना शामिल है. शुक्रवार को सुबह साढ़े आठ बजे शहर का समग्र वायु गुणवत्ता सूचकांक (Air Qualoty Index- AQI) 315 रहा, जबकि गुरुवार शाम को यह 311 था.

बहुत खराब की श्रेणी में दर्ज हुआ AQI
दिल्ली के ज्यादातर जगहों पर एक्यूआई 'बहुत खराब' की श्रेणी में दर्ज किया गया जबकि कुछ इलाकों में इसकी स्थिति 'गंभीर' की तरफ बढ़ रही है. केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (CPCB) के डेटा के मुताबिक नेहरू नगर, अशोक विहार, जहांगीरपुरी, रोहिणी, वजीरपुर, बवाना, मुंडका और आनंद विहार में एक्यूआई क्रमश: 340, 335, 339, 349, 344, 363, 381 और 350 दर्ज किया गया. वहीं एनसीआर में आने वाले क्षेत्रों- बागपत, गाजियाबाद, ग्रेटर नोएडा, गुरुग्राम और नोएडा में एक्यूआई क्रमश: 312, 336, 311, 312 और 320 दर्ज किया गया.



बता दें कि शून्य से 50 के बीच के एक्यूआई को 'अच्छा', 51 से 100 को 'संतोषजनक', 101 से 200 को 'मध्यम', 201 से 300 को 'खराब', 301 से 400 को 'बहुत खराब' और 401 से 500 को 'गंभीर' माना जाता है.



दिवाली पर स्थिति ठीक रहने की संभावना
पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय की वायु गुणवत्ता अनुमान एवं अनुसंधान सेवा- (सफर) ने बताया, 'वायु गति कम होने से दिल्ली की वायु गुणवत्ता पर नकारात्मक असर पड़ना शुरू हो गया है, जिससे वायु संचार के कारक बुरी तरह घटकर कणों के बिखराव को प्रभावित कर रहे हैं.' सफर ने कहा है कि अगले दो दिन तक धीमी सतही हवाएं चलती रहेंगी. नतीजन, एक्यूआई 'बहुत खराब' के उच्च से मध्यम रेंज के बीच रह सकता है. संस्था ने कहा है कि 28 अक्टूबर तक पश्चिमी विक्षोभ पश्चिमी हिमालय क्षेत्र को प्रभावित कर सकता है. इसे देखते हुए इस बार की दिवाली पर स्थिति उतनी खराब नहीं होगी, जितनी पिछले (2018) साल हुई थी.

ये भी पढ़ें-

...जब दिल्ली की ट्रैफिक जाम में फंसे किंग खान, कुछ यूं बयां की अपनी परेशानी

दिल्ली: घर में मिली पति-पत्नी की लाश, खून से सना मिला चाकू
First published: October 25, 2019, 12:49 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading