दिल्ली से नोएडा आना हुआ मुश्किल, लोगों को सैलरी कटने का सता रहा डर, जानें वजह
Delhi-Ncr News in Hindi

दिल्ली से नोएडा आना हुआ मुश्किल, लोगों को सैलरी कटने का सता रहा डर, जानें वजह
बिना पास दिल्ली से नोएडा में दाखिल होने की अनुमति नहीं है. वहीं दूसरी तरफ दिल्ली जाने के लिये कोई रोक टोक नहीं है, नोएडा से दिल्ली जाने का रास्ता पूरा खुला हुआ है.

बिना पास दिल्ली से नोएडा में दाखिल होने की अनुमति नहीं है. वहीं दूसरी तरफ दिल्ली जाने के लिये कोई रोक टोक नहीं है, नोएडा से दिल्ली जाने का रास्ता पूरा खुला हुआ है.

  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली-नोएडा बॉर्डर पर शुक्रवार सुबह भी काफी ज्यादा जाम की स्थिति बन गयी है. यहां लोगों से मूवमेंट पास मांगा जा रहा है. बिना पास दिल्ली से नोएडा में दाखिल होने की अनुमति नहीं है. वहीं दूसरी तरफ दिल्ली जाने के लिये कोई रोक टोक नहीं है, नोएडा से दिल्ली जाने का रास्ता पूरा खुला हुआ है. जिसके चलते इस तरफ ट्रैफिक जैम की समस्या नहीं है.

गुरुवार को गृह मंत्री अमित शाह ने दिल्ली के मुख्यमंत्री और दिल्ली-एनसीआर के अलग-अलग जिलों से जुड़े अधिकारियों के साथ एक मीटिंग की थी. इस मीटिंग में गृहमंत्री ने कहा था कि दिल्ली-एनसीआर में एक ही रणनीति पर काम किया जाना चाहिये. अलग अलग नियमों की वजह से लोगों को काफी परेशानी झेलनी पड़ रही है. लोगों का भी कहना है उनका ऑफिस अगर नोएडा में है तो वो कैसे जायेंगे. ऐसे में उन्हें सैलरी कट का डर सता रहा है. लोगों का कहना है कि दिल्ली-एनसीआर के लिये एक ही नियम होने चाहिये.

ये भी पढ़ें: AIIMS PG 2020 : एंट्रेंस एग्जाम का रिजल्ट जारी, यहां चेक करें पूरी जानकारी



एक दिन में रिकॉर्ड 2877 नए मामले
बता दें कि दिल्ली में कोरोना संक्रमण ने फिर अपने पुराने सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं. दिल्ली स्वास्थ्य विभाग की ताजा आंकड़ों की मानें तो एक दिन में रिकॉर्ड 2877 नए मामले सामने आए हैं. तो वहीं पिछले 24 घंटे में 65 लोगों की जान इस संक्रमण की वजह से गई है. तो वहीं अब दिल्ली में कोरोना के कुल मामले में 49979 हो गए हैं. यानी कि कुल मरीजों का आंकड़ा 50 हजार के करीब पहुंच गया है. तो वहीं 21341 लोगों ने कोरोना को मात दे दी है. कोविड संक्रमण की वजह से अब तक 1969 लोगों की मौत हो चुकी है.

ये भी पढ़ें: बिजनेसमैन ने बदमाशों को दी कत्ल की सुपारी, और कत्ल वाले दिन भेज दी अपनी ही तस्वीर, जानें क्यों

कोरोना से जंग लड़ रहे दिल्ली स्वास्थ्य मंत्री 
तो वहीं कोरोना से जंग लड़ रहे दिल्ली स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन हालत पहले से बेहतर बताई जा रही है. स्वास्थ्य मंत्री कार्यालय की मानें तो स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन को अब केवल जरूरत के मुताबिक ऑक्सीजन दिया जा रहा है. उनका बुखार भी कम हो गया है. उनके स्वास्थ्य में सुधार हो रहा है. आपको बता दें कि मंगलवार को तेज बुखार और सांस लेने में तकलीफ की शिकायत होने पर वह राजीव गांधी सुपर स्‍पेशलियटी हॉस्पिटल में भर्ती हुए थे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज