• Home
  • »
  • News
  • »
  • delhi-ncr
  • »
  • यदि आप मेट्रो स्टेशन, बस स्टॉप के पास रहते हैं तो अब घट जाएगा आपका पार्किंग स्लॉट, जानें क्‍या है इसका मतलब?

यदि आप मेट्रो स्टेशन, बस स्टॉप के पास रहते हैं तो अब घट जाएगा आपका पार्किंग स्लॉट, जानें क्‍या है इसका मतलब?

द‍िल्‍ली में लागू होगी नई डायनेमिक पार्किंग नीति

द‍िल्‍ली में लागू होगी नई डायनेमिक पार्किंग नीति

Delhi News: एसडीएमसी के रिम्यूनरेटिव एवं प्रोजेक्ट सेल के उपायुक्त प्रेम शंकर झा ने कहा, ‘इससे पहले अनुमानित कार स्पेस (ईसीएस) का आकलन बिल्ट-अप एरिया के आधार पर किया जाता था. नये संशोधन का मतलब है कि अब ईसीएस किसी आवासीय इकाई के फ्लोर एरिया अनुपात का एक कारक होगा.’

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    राजधानी दिल्ली के लिए पिछले सप्ताह अधिसूचित डायनेमिक पार्किंग नीति के साथ ही नगर निगमों को सुनिश्चित करना होगा कि मेट्रो स्टेशन के 500 मीटर की दूरी पर स्थित प्रॉपर्टी में मंजूर फ्लोर प्लान्स के तहत पार्किंग स्पेस में 30 प्रतिशत, जबकि 800 मीटर की दूरी पर स्थित प्रॉपर्टी के लिए पार्किंग स्पेस में 15 प्रतिशत तक कटौती करनी होगी. टाइम्स ऑफ इंडिया की एक रिपोर्ट के अनुसार, दक्षिण दिल्ली नगर निगम के एक अधिकारी ने बताया कि मल्टी-लेवल कार पार्किंग स्पेस से एक किलोमीटर दूरी पर स्थित प्रॉपर्टी में फ्लोर एरिया अनुपात में पार्किंग एरिया में 10 फीसदी की कटौती की जाएगी. यह नीति ग्रुप हाउसिंग सोसाइटिज, गेस्ट हाउस, स्कूलों, सामुदायिक भवनों, स्टुडियो अपार्टमेंट्स, असफ अली रोड स्थित प्रॉपर्टियों और राज्य भवनों के लिए लागू होगी.

    एसडीएमसी के रिम्यूनरेटिव एवं प्रोजेक्ट सेल के उपायुक्त प्रेम शंकर झा ने कहा, ‘इससे पहले अनुमानित कार स्पेस (ईसीएस) का आकलन बिल्ट-अप एरिया के आधार पर किया जाता था. नये संशोधन का मतलब है कि अब ईसीएस किसी आवासीय इकाई के फ्लोर एरिया अनुपात का एक कारक होगा.’ उन्होंने कहा कि दिल्ली विकास प्राधिकरण (डीडीए) एवं नागरिक निकायों ने किसी इलाके में, खासकर मेट्रो स्टेशनों और अन्य सार्वजनिक परिवहन प्रणालियों के निकट स्थित कॉमर्शियल इलाकों में कुछ पार्किंग एरिया केवल 40 फीसदी ही रखने पर जोर दिया है, इसके मद्देनजर यह नीति लागू की गई है.

    अभी तक 100 वर्ग मीटर बिल्ट-अप एरिया वाली ग्रुप हाउसिंग रेजिडेंशियल इकाइयों में दो वाहनों के पार्क करने की जगह होती थी. सर्विस पर्सनल हाउसिंग या आर्थिक रूप से कमजोर समुदाय के लोगों के फ्लैटों में 100 वर्ग मीटर के बिल्ट-अप एरिया में 0.5 ईसीएस की अनुमति थी. अब संशोधित नीति के तहत ईडब्ल्यूएस या सर्विस पर्सनल हाउसिंग प्लॉट्स पर 40 वर्ग मीटर से कम की आवासीय इकाइयों के लिए यह ईसीएस 0.5 होगी. 40 से 100 वर्ग मीटर के एरिया की आवासीय इकाइयों के लिए 1 ईसीएस की अनुमति होगी, 100 से 200 वर्ग मीटर तक के एरिया के लिए 2 ईसीएस की अनुमित होगी.

    200 वर्ग मीटर से अधिक एरिया वाली प्रॉपर्टी के लिए 2 ईसीएस और 100 वर्ग मीटर के अतिरिक्त एरिया के लिए 1 अतिरिक्त ईसीएस की अनुमति होगी. छात्रावासों, गेस्ट हाउसों, लॉज आदि के लिए, जहां 100 वर्ग मीटर के बिल्टअप एरिया के लिए दो ईसीएस की अनुमति है, अब 100 वर्ग मीटर के एफएआर पर 0.5 ईसीएस की अनुमति होगी और मेट्रो स्टेशन से दूरी के आधार पर यह घटेगा. यह संशोधित पार्किंग मानक उन सभी प्रॉपर्टीज के लिए लागू होंगे जिनके निर्माण कार्य शुरू नहीं हुए हैं, भले ही बिल्डिंग प्लान स्थानीय निकाय से मंजूर क्यों न हो गया हो?

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज