Delhi News: ऑक्‍सीजन हवाई मार्ग से दिल्‍ली लाने की कोशिश, CM केजरीवाल बोले-केंद्र और अदालत ने की मदद

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल. (फाइल फोटो)

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल. (फाइल फोटो)

कोरोना संक्रमण (Corona Infection) से भयावह होते हालात के बीच दिल्‍ली (Delhi) के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल (CM Arvind Kejriwal) ने चौंकाने वाला दावा किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 22, 2021, 1:07 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. कोरोना संक्रमण (Corona Infection) से भयावह होते हालात के बीच दिल्‍ली (Delhi) के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल (CM Arvind Kejriwal) ने चौंकाने वाला दावा किया है. उन्‍होंने गुरुवार को कहा कि ऑक्‍सीजन लेकर दिल्‍ली आ रहे ट्रकों को कुछ राज्‍यों में रोका जा रहा है. सीएम ने बताया कि ओडिशा से दिल्‍ली के कोटे की ऑक्‍सीजन आनी है, जिसे हवाई मार्ग से लाने की कोशिश की जा रही है. उन्‍होंने कहा कि केंद्र और अदालत ने काफी मदद की है. केजरीवाल ने कहा कि उनकी सरकार 6 दिन के लॉकडाउन में हाथ पर हाथ नहीं रखेगी, बल्कि इस वक्‍त का इस्‍तेमाल स्‍वास्‍थ्‍य संबंधी सुविधाओं को दुरुस्‍त करने में किया जाएगा.

बता दें कि दिल्ली में लॉकडाउन (Lockdown) के तीसरे दिन भी कोरोना (Coronvirus) के आंकड़े डराने वाले हैं. बुधवार को 24 घंटे के जो आंकड़े आए हैं, उसके बाद दिल्ली सरकार (Delhi Government) की नींद और उड़ सकती है. दिल्ली में बीते 24 घंटे में कोरोना के 24638 नए मामले सामने आए हैं और 249 लोगों की मौत हुई है. अब दिल्ली में कुल संक्रमित मरीजों की संख्या 9,30, 179 हो गई है. इनमें से 83, 19, 28 लोग स्वस्थ हो चुके हैं. वहीं, कोरोना से अब तक 12, 887 लोगों की मौत हो चुकी है. अगर पॉजिटिविटी रेट की बात करें तो यह आंकड़ा लगातार 31.28-प्रतिशत तक बना हुआ है. दिल्ली में इस समय कोरोना एक्टिव मरीजों की संख्या 85, 364 है. दिल्ली में सोमवार रात 10 बजे से लॉकडाउन लागू है.

दिल्ली में कोरोना के आ रहे आंकड़े लगातार डराने वाले हैं

दिल्‍ली में मंगलवार को भी कोरोना के आंकड़े हैरान करने वाले थे. बीते मंगलवार को दिल्ली में एक दिन में सबसे ज्यादा केस के साथ सबसे ज्यादा मौत और अब तक की सबसे बड़ी संक्रमण दर भी सामने आई थी. मंगलवार को कोरोना के 28, 395 नए मामले सामने आए थे और 277 लोगों की मौत हुई थी. बुधवार को पॉजिटिविटी रेट 32.82 प्रतिशत तक पंहुच गई थी. ऑक्सीजन की कमी भी लगातार अस्पतालों में बनी हुई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज