Tihar Jail news: जमानत मिलने के एक दिन पहले तिहाड़ जेल में कैदी की हत्या, परिजनों ने किया हंगामा

तिहाड़ जेल में कैदी की मौत के बाद हंगामा करते परिजन.

तिहाड़ जेल में कैदी की मौत के बाद हंगामा करते परिजन.

Tihar Jail news: तिहाड़ जेल में हुई हिंसा के दौरान मारे गए कैदी की पहचान श्रीकांत उर्फ अप्पू के तौर पर हुई है. जेल अधिकारियों के मुताबिक हत्या और अन्य मामलों को लेकर वह साल 2015 से जेल में बंद था.

  • Share this:

नई दिल्ली. दिल्ली स्थित तिहाड़ जेल (Tihar Jail) में शुक्रवार को एक कैदी (prisoner) की अन्य कैदियों के साथ मारपीट में मौत हो गई. यह जानकारी अधिकारियों ने दी. अधिकारियों ने बताया कि मृतक कैदी की पहचान श्रीकांत (Srikanth) उर्फ अप्पू के तौर पर हुई है. एक वरिष्ठ जेल अधिकारी ने बताया कि जेल संख्या दो में शुक्रवार को अन्य कैदियों के साथ हुई मारपीट में एक कैदी घायल हो गया था, उसे सफदरजंग अस्पताल रेफर किया गया था जहां पर डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया. अधिकारी ने बताया कि श्रीकांत वर्ष 2015 से ही जेल में था और वह हत्या के एक मामले और चोरी के अन्य मामलों में लिप्त था.

मृतक कैदी श्रीकांत रोहिणी इलाके का रहने वाला था. पिछले काफी समय से वह तिहाड़ जेल के अंदर बैरक नम्बर- 2 में सजा काट रहा था. शनिवार को उसका जमानत पर जेल से बाहर आना लगभग तय था, लेकिन उससे पहले ही जेल के एक अन्य कैदी के साथ झड़प के दौरान वो बेहद गंभीर रूप से घायल हो गया. उसके बाद उसे सफदरजंग अस्पताल में भर्ती करवाया गया, जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई. हत्या सहित कई अन्य मामलों में आरोपी रहा ये आरोपी श्रीकांत उर्फ अप्पू को साल 2019 में एक एनकाउंटर के दौरान सुभाष प्लेस इलाके से इसे गिरफ्तार किया गया था. उस वक्त इस आरोपी को एक गोली भी लगी थी.

इससे पहले पिछले साल नवंबर महीने में भी तिहाड़ जेल में एक कैदी की हत्या कर दी गई थी. तिहाड़ के जेल नंबर 3 में कैदी की हत्या (Prisoner Murder) से जेल प्रशासन समेत यहां पर बंद अन्य कैदियों के बीच सनसनी फैल गई थी. तिहाड़ जेल प्रशासन के मुताबिक, दिलशेर नामक कैदी की किसी धारदार चीज से मौत के घाट उतार दिया गया था. जेल प्रशासन द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक, 23 साल का दिलशेर हत्या समेत कई अन्य आपराधिक मामलों का आरोपी था. उसके ऊपर सुबह 3 अन्य कैदियों ने जानलेवा हमला कर उसकी हत्या कर दी. तब बताया जा रहा था कि दिलशेर के ऊपर लगे मामलों की सुनवाई चल ही रही थी.

दिलशेर गंभीर रूप से घायल हो गया और उसकी मौत हो गई
तिहाड़ जेल प्रशासन के मुताबिक, दिलशेर के ऊपर जहांगीरपुरी, प्रशांत विहार, स्वरूप नगर आदि थानों में कई मामले चल रहे थे. इन्हीं मामलों को लेकर उसे तिहाड़ जेल में बंद किया गया था. जेल अधिकारियों के मुताबिक, जेल में ही रहने वाले 3 कैदियों ने दिलशेर के ऊपर जानलेवा हमला कर दिया. किसी धारदार चीज से तीनों आरोपियों के हमले से दिलशेर गंभीर रूप से घायल हो गया और उसकी मौत हो गई. जेल के डॉक्टर ने जांच-पड़ताल के बाद उसकी मौत की पुष्टि की. अंडर-ट्रायल कैदी की हत्या से जेल के अंदर कैदियों की सुरक्षा को लेकर सवाल उठ रहे थे. (इनपुट- भाषा से भी)

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज