• Home
  • »
  • News
  • »
  • delhi-ncr
  • »
  • ब‍िहार में क‍िसने बनाई थी पाक आतंकी अशरफ की फर्जी ID, पूछताछ में हुआ ये खुलासा

ब‍िहार में क‍िसने बनाई थी पाक आतंकी अशरफ की फर्जी ID, पूछताछ में हुआ ये खुलासा

द‍िल्‍ली पुल‍िस ने अशरफ को कथित तौर पर आतंकी वारदात को अंजाम देने और आईएसआई से संबंध रखने के लिए गिरफ्तार किया गया था

द‍िल्‍ली पुल‍िस ने अशरफ को कथित तौर पर आतंकी वारदात को अंजाम देने और आईएसआई से संबंध रखने के लिए गिरफ्तार किया गया था

Delhi Terrorist Arrested Case Update: कथ‍ित आतंकी जब पहली बार साल 2004 में पाकिस्तान से बांग्लादेश और कोलकाता होते हुए भारत में दाखिल हुआ था तो उसके बाद वह सीधे अजमेर शरीफ गया. अजमेर शरीफ में उसकी मुलाकात बिहार के कुछ लोगों से हुई, जिसके बाद वह उनके साथ बिहार चला गया था.

  • Share this:

भारत में दाखिल होने के बाद पाकिस्तानी आतंकी अशरफ उर्फ अली ने भारत की आइडेंटिटी ब‍िहार में क‍िसने बनाई थी? द‍िल्‍ली पुल‍िस की पूछताछ के दौरान कथ‍ित आतंकी अशरफ ने खुलासा क‍िया है क‍ि बिहार के एक गांव में सरपंच के जरिए उसने यह आईडी बनवाई थी. आपको बता दें क‍ि द‍िल्‍ली पुल‍िस को अशरफ से पूछताछ करने के ल‍िए उसे दो हफ्ते हिरासत में भेजने का आदेश द‍िल्‍ली की अदालत ने मंगलवार को द‍िया था, जिसे कथित तौर पर आतंकी वारदात को अंजाम देने और आईएसआई से संबंध रखने के लिए गिरफ्तार किया गया था.

कथ‍ित आतंकी जब पहली बार साल 2004 में पाकिस्तान से बांग्लादेश और कोलकाता होते हुए भारत में दाखिल हुआ था तो उसके बाद वह सीधे अजमेर शरीफ गया. अजमेर शरीफ में उसकी मुलाकात बिहार के कुछ लोगों से हुई, जिसके बाद वह उनके साथ बिहार चला गया. बिहार में जाकर उसने एक गांव में शरण ली और वहां पर कुछ समय रहकर सरपंच का विश्वास जीता और सरपंच से कागज में लिखवाकर गांव का निवासी होने की आइडेंटिटी बनवाई.

कथ‍ित आतंकी अशरफ ने पुल‍िस को पूछताछ के दौरान बताया क‍ि बाद में वह दिल्ली आया और उसी आईडी के सहारे दिल्ली में पहले राशनकार्ड बनवाया और फिर वोटर आईडी कार्ड और उसके बाद पासपोर्ट बनवा लिया. इसी आईडेंटिटी की बदौलत वह देश के दूसरे राज्यों में भी गया और उसके बाद दिल्ली आकर उसने धीरे-धीरे अपने सभी दस्तावेजों को बनाना शुरू कर द‍िए. राशन कार्ड बनाने के बाद उसने वोटर आईडी कार्ड बनाया और उसके बाद पासपोर्ट तक बना डाला.

दिल्ली पुलिस अब इस पाकिस्तानी आतंकी के हवाले से दी गई जानकारी पर बिहार पुलिस से संपर्क कर सकती है. साथ ही उसकी आईडेंटिटी किस स्तर पर बनाई गई इसकी भी जांच की जा सकती है. आतंकी ने यह भी खुलासा किया कि वह जैसे-तैसे फर्जी दस्तावेजों के सहारे दिल्ली पहुंचना चाहता था ताकि दिल्ली में रहकर एएसआई के लिए बेहतर काम कर सके और इसीलिए उसने इन राज्यों के कई चक्कर लगाए.

द‍िल्‍ली हाईकोर्ट ब्‍लास्‍ट में भी था शाम‍िल

सूत्रों के मुताबिक, पकड़े गए पाकिस्तानी आतंकी ने यह खुलासा किया है कि उसने साल 2011 में दिल्ली हाईकोर्ट के सामने हुए ब्लास्ट से पहले रेकी की थी और उस रेकी में वह कई बार वहां पर आया था, लेकिन उसने बम धमाके में शामिल होने से इनकार कर दिया है. पुलिस ने धमाकों की साजिश में शामिल एक शख्स की फोटो उसे दिखाई है, जिसके बाद उसने उसे पहचाना लेकिन सही कहा कि उसने सिर्फ रेकी की थी धमाका किसी और ने किया था. स्पेशल सेल अब उसके इस दावे को वेरिफाई करेगी.

जम्‍मू कश्‍मीर बम धमाके में भी हथ‍ियार सप्‍लाई करने का खुलासा

कथ‍ित आतंकी अशरफ के जम्मू कश्मीर में भी बम धमाके और हथियार सप्लाई करने का खुलासा हुआ है. सूत्रों के मुताबिक वह काफी समय जम्मू कश्मीर में रहा है, जिसके बाद बुधवार को एनआईए, जम्‍मू कश्‍मीर पुलिस और आर्मी इंटेलिजेंस स्पेशल सेल के दफ्तर में आतंकी से पूछताछ करने आएंगी और उसके जम्मू कश्मीर में जाने के साथ ही वहां पर साजिश का पता लगाएगी.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज