• Home
  • »
  • News
  • »
  • delhi-ncr
  • »
  • अनुप्रिया पटेल को मोदी कैबिनेट में शामिल करने पर भड़के संजय निषाद, बेटे के लिए मांगा मंत्रीपद

अनुप्रिया पटेल को मोदी कैबिनेट में शामिल करने पर भड़के संजय निषाद, बेटे के लिए मांगा मंत्रीपद

निषाद पार्टी के मुखिया संजय निषाद अपने सांसद बेटे प्रवीण निषाद के लिए मोदी सरकार के मंत्रिमंडल में जगह चाहते हैं (फाइल फोटो)

Narendra Modi Cabinet Expansion:

  • Share this:
    नई दिल्ली. बुधवार शाम छह बजे नरेंद्र मोदी सरकार का मंत्रिमंडल विस्तार (Narendra Modi Cabinet Expansion) होना है. 43 नए चेहरों को इसमें शामिल किये जाने की बात सामने आ रही है. मगर कैबिनेट विस्तार से चंद घंटे पहले निषाद पार्टी के अध्यक्ष डॉ. संजय निषाद (Sanjay Nishad) अपना दल की अनुप्रिया पटेल (Anupriya Patel) को मंत्री बनाए जाने से खफा हो गए हैं. उन्होंने अपने बेटे प्रवीण निषाद को केंद्रीय मंत्रिमंडल में जगह देने की मांग की है. प्रवीण निषाद उत्तर प्रदेश के संत कबीर नगर से बीजेपी के सांसद हैं.

    संजय निषाद ने अपने वीडियो संदेश में कहा कि उत्तर प्रदेश में 160 से अधिक विधानसभा सीटों पर निषाद समुदाय का प्रभाव है. उन्होंने कहा, 'अगर अनुप्रिया पटेल केंद्र में मंत्री बन सकती हैं, तो प्रवीण निषाद को भी मंत्री बनाया जाना चाहिए. साल 2019 में बीजेपी को 40 सीटों पर निषाद वोट मिले थे.'

    संजय निषाद ने कहा कि वो पहले ही बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से बात कर चुके हैं, और अब बीजेपी को ही इसपर फैसला करना है.



    बता दें कि अपना दल की नेता अनुप्रिया पटेल ने 2019 के लोकसभा चुनाव में यूपी के मिर्जापुर से चुनाव जीता है. वो 2014 में मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में केंद्र में मंत्री रह चुकी हैं.

    चाचा पशुपति पारस को जगह मिलने की खबर से चिराग नाराज

    दूसरी ओर, लोक जनशक्ति पार्टी के नेता चिराग पासवान भी अपने चाचा पशुपति कुमार पारस को केंद्र में मंत्री बनाने जाने के फैसले से नाखुश हैं. उन्होंने मोदी सरकार के कैबिनेट विस्तार में अपने चाचा पशुपति कुमार पारस को शामिल किए जाने की खबरों पर कड़ा ऐतराज जताया है. बुधवार को चिराग ने ट्वीट कर कहा कि पारस को तो पहले ही पार्टी से निष्कासित कर दिया जा चुका है इसलिए पार्टी उन्हें केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल किए जाने पर सख्त आपत्ति दर्ज कराती है.

    चिराग ने ट्वीट कर कहा, 'प्रधानमंत्री जी के इस अधिकार का पूर्ण सम्मान है कि वो अपनी टीम में किसे शामिल करते हैं और किसे नहीं. लेकिन जहां तक LJP का सवाल है तो पारस हमारे दल के सदस्य नहीं हैं. पार्टी को तोड़ने जैसे कार्यों को देखते हुए उन्हें मंत्री, उनके गुट से बनाया जाए तो LJP का कोई लेना देना नहीं है.'

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज