Delhi corona update: कोरोना के नए मामलों की संख्या 500 के नीचे पहुंची, 24 घंटे में 45 मौतें

दिल्ली में 24 घंटे में जितने केस मिले हैं, उससे दो गुना से ज्यादा मरीज ठीक हुये हैं. (ANI)

दिल्ली में 24 घंटे में जितने केस मिले हैं, उससे दो गुना से ज्यादा मरीज ठीक हुये हैं. (ANI)

दिल्ली में 24 घंटे में 487 नए मामले सामने आए हैं. वहीं कोविड के संक्रमण से 45 मौतें हुई हैं. जबकि ठीक होने वालों की संख्या 1,058 दर्ज की गई. अब रिकवरी वाली संख्या दोगुने से ज्यादा हो रही है.

  • Share this:

नई दिल्ली. देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना (Coronavirus) पिछले दो महीने के सबसे निचले स्तर पर पहुंच गया है. गुरुवार को पिछले 24 घंटे में 487 नए मामले सामने आए हैं. वहीं कोविड के संक्रमण से 45 मौतें हुई हैं. वहीं ठीक होने वालों की संख्या 1,058 दर्ज की गई. अब दिल्ली में पॉजिटिविटी रेट गिरकर 0.61% पर पहुंच गयार है और कुल सक्रिय मामले 8,748 रह गए हैं. दिल्ली में कोरोना के नए केस और मृतकों की संख्या में गिरावट 20 मई से शुरू हुई थी, जो अब अपने सबसे निचले स्तर पर पहुंच गई है.

इधर, कोरोना के मामले कम होने के बाद दूसरे राज्यों से प्रवासी मजदूर दिल्ली वापस आ रहे हैं. तस्वीरें आनंद विहार रेलवे स्टेशन और कौशांबी बस टर्मिनल से हैं. एक प्रवासी मजदूर ने बताया, ''हम वापस घर चले गए थे। पता लगा कि लॉकडाउन में कुछ छूट दी गई है इसलिए वापस आ गए हैं.''

मजदूर काम नहीं मिलने से परेशान

लॉकडाउन में छूट के बाद मजदूर लौटने लगे हैं, लेकिन उन्हें काम मिलने में परेशानी आ रही है. प्रवासी मज़दूरों को काम नहीं मिलने पर काफी परेशानी हो रही है. एक मज़दूर ने कहा, "हम रोज़ यहां (भजनपुरा) काम की तलाश में आते हैं लेकिन हमें काम नहीं मिल रहा। पिछले साल लॉकडाउन में हमें NGO की तरफ से सहायता मिली थी लेकिन इस बार हमें कोई मदद नहीं मिली."

Youtube Video

सरकार ने बनाया इम्युनिटी बढ़ाने का प्लान 

दिल्ली में कोरोना संक्रमण से मचे हाहाकार के बाद अब दिल्ली सरकार ने लोगों की इम्युनिटी पावर को बढ़ाने का काम करेगी. दिल्ली सरकार ने इसको लेकर एक योजना तैयार की है जिसके अंतर्गत पूरे शहर में कोरोना से लड़ने वाली प्रतिरोधक जड़ी बूटियों का रोपण किया‌ जाएगा. इस बीच देखा जाए तो केजरीवाल सरकार की ओर से हर साल की भांति इस बार भी वृहद वृक्षारोपण अभियान का आयोजन किया जा रहा है. लॉकडाउन की वजह से अभी पांच जून को इसकी सांकेतिक शुरूआत की जाएगी. इस दौरान लोगों को प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाली जड़ी-बूटी के पौधे लगाने के लिए भी प्रोत्साहित किया जाएगा.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज