प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक अप्रैल को लगवा सकते हैं कोरोना वायरस वैक्सीन का दूसरा टीका

प्रधानमंत्री मोदी ने एक मार्च को दिल्ली के एम्स अस्पताल जाकर कोरोना वैक्सीन का पहला डोज लिया था (फोटो साभार: ANI)

प्रधानमंत्री मोदी ने एक मार्च को दिल्ली के एम्स अस्पताल जाकर कोरोना वैक्सीन का पहला डोज लिया था (फोटो साभार: ANI)

पीएम मोदी (PM Modi) ने एक मार्च को दिल्ली के एम्स (AIIMS) अस्पताल में वैक्सीन का पहला डोज लिया था. दूसरे खुराक का डोज सामान्य तौर पर चार सप्ताह के बाद लेना तय था, ऐसे में चार सप्ताह की अवधि पूरी होने के बाद माना जा रहा है कि एक अप्रैल को प्रधानमंत्री वैक्सीन (Corona Vaccine) की दूसरी डोज ले सकते हैं

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 31, 2021, 6:05 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. एक अप्रैल से कोविड वैक्सीनेशन (Covid Vaccination) के फेज तीन की शुरूआत हो रही है. इसके साथ ही यह खबर भी सामने आ रही है कि इसी दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) दिल्ली के एम्स (AIIMS) अस्पताल में कोरोना वायरस (Corona Virus) के वैक्सीन की दूसरी डोज ले सकते हैं. हलांकि अभी इस बारे में औपचारिक तौर पर कोई पुष्टि नहीं हुई है. बता दें कि एक मार्च को पीएम मोदी (PM Modi) ने एम्स अस्पताल में वैक्सीन का पहला डोज लिया था. दूसरे खुराक का डोज सामान्य तौर पर चार सप्ताह के बाद लेना तय था, ऐसे में चार सप्ताह की अवधि पूरी होने के बाद माना जा रहा है कि एक अप्रैल को प्रधानमंत्री वैक्सीन की दूसरी डोज ले सकते हैं.

हालांकि विशेषज्ञ बताते हैं कि दूसरी डोज लेने का वक्त चार सप्ताह से लेकर छह सप्ताह के बीच होता है, लिहाजा प्रधानमंत्री मोदी के पास कुछ और दिनों का वक्त बाकी है. लेकिन यह मामला प्रधानमंत्री से जुड़ा हुआ है इसलिए इस पर एम्स अस्पताल या किसी अन्य एजेंसी द्वारा औपचारिक तौर पर पुष्टि नहीं की जा रही है. लेकिन सूत्रों के मुताबिक एक अप्रैल को सुबह सात बजे से पहले प्रधानमंत्री एम्स अस्पताल पहुंचकर वैक्सीन की दूसरी खुराक ले सकते हैं. पीएम मोदी के एम्स में दूसरी डोज लेने संबंधित तमाम जानकारियां काफी गोपनीय रखी जा रही हैं.

Youtube Video


कोविड वैक्सीनेशन के तीसरे फेज की होगी शुरूआत 
एक अप्रैल से कोविड वैक्सीनेशन के फेज तीन की शुरूआत भी हो रही है, जिसके तहत 45 वर्ष से ज्यादा के उम्र वाले सभी लोगों को वैक्सीन लगाने का फैसला सरकार पहले ही घोषित कर चुकी है. तीसरे फेज के लिए 45 साल की जो उम्र निर्धारित की गयी है, इसके पीछे एक तर्क यह है कि भारत में कोरोना संक्रमण की वजह से जान गवाने वालों में 90 प्रतिशत लोग 45 साल से ज्यादा उम्र वाले लोग थे, लिहाजा इसे ध्यान में रखते हुए केंद्र सरकार द्वारा निर्धारित किया गया है कि एक जनवरी 1977 से पहले जन्म लेने वाले सभी लोगों को कोरोना वैक्सीन का टीका लगाया जाएगा. एक सर्वे के मुताबिक 30 मार्च, 2021 तक देश में लगभग एक लाख 62 हजार लोगों की कोरोना संक्रमण के चलते मौत हो चुकी है.

मेड इन इंडिया वैक्सीन का दूसरा डोज लेंगे प्रधानमंत्री मोदी

एम्स अस्पताल के सूत्रों की मानें तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वैक्सीन का दूसरा डोज भी देश में ही बनी भारत बायोटेक की वैक्सीन का टीका लगाएंगे. इससे पहले, मंगलवार को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने वैक्सीन का दूसरा डोज लिया था. उनसे पत्रकारों ने यह सवाल पूछा था कि प्रधानंत्री कब वैक्सीन का दूसरा डोज लेने वाले हैं, इसका स्वास्थ्य मंत्री ने मुस्कुराते हुए जवाब दिया था कि जब भी प्रधानमंत्री वैक्सीन का दूसरा डोज लेगें, पूरी दुनिया को इसकी खबर हो जाएगी. लिहाजा अब देखना लाजिमी होगा कि प्रधानमंत्री वैक्सीन का दूसरा डोज कब लगवाने जाएगें?



बता दें कि प्रधानमंत्री जब बीते एक मार्च को एम्स अस्पताल में वैक्सीन का पहला डोज लेने गए थे तब उन्होंने सोशल मीडिया के जरिए इसकी जानकारी देते हुए कहा था कि वो मेड इन इंडिया वाला वैक्सीन का डोज यानी शुद्ध देसी वैक्सीन का डोज ले रहे हैं. उन्होंने एक तरह से देशवासियों से भी यह अपील की थी कि वैक्सीन का डोज लेने के बाद भी हर इंसान मास्क लगाए और सोशल डिस्टेंसिंग नियम का अवश्य पालन करे. प्रधानमंत्री मोदी ने देसी वैक्सीन का डोज लेकर उस मसले पर उठ रहे कई सवालों और शंकाओं को खत्म किया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज