Toolkit Case: दिल्ली पुलिस का Twitter पर वार, कहा- जांच में नहीं किया जा रहा सहयोग

दिल्ली पुलिस ने आरोप लगाया है कि इस मामले में जांच के दौरान ट्विटर द्वारा उन्हें सहयोग नहीं किया जा रहा है. (Pic- ANI)

दिल्ली पुलिस ने आरोप लगाया है कि इस मामले में जांच के दौरान ट्विटर द्वारा उन्हें सहयोग नहीं किया जा रहा है. (Pic- ANI)

Toolkit Case: दिल्ली पुलिस ने आरोप लगाया है कि Toolkit मामले में जांच के दौरान ट्विटर द्वारा उन्हें सहयोग नहीं किया जा रहा है. ट्विटर इस बात का दावा कर रहा है कि जो टूलकिट ट्वीट (Toolkit Twit) शेयर किया गया उसमें छेड़छाड़ की गई है, लेकिन इससे संबंधित जानकारी दिल्ली पुलिस को नहीं दी जा रही है.

  • Share this:

नई दिल्ली. टूलकिट केस (Toolkit Case) मामले में दिल्ली पुलिस और ट्विटर (Twitter) के बीच अब वाद विवाद और गहराता जा रहा है. दिल्ली पुलिस (Delhi Police) की जांच को लेकर ट्विटर द्वारा दिए गए बयान पर पुलिस ने आपत्ति जताई है.

दिल्ली पुलिस ने आरोप लगाया है कि इस मामले में जांच के दौरान ट्विटर द्वारा उन्हें सहयोग नहीं किया जा रहा है. वहीं, ट्विटर इस बात का दावा कर रहा है कि जो टूलकिट ट्वीट (Toolkit Twit) शेयर किया गया उसमें छेड़छाड़ की गई है, लेकिन इससे संबंधित जानकारी दिल्ली पुलिस को नहीं दी जा रही है.

बताते चलें कि दिल्ली पुलिस की तरफ से टूलकिट मामले की जांच की जा रही है. इस पर ट्विटर की तरफ से कुछ बयान जारी किए गए थे. पुलिस का कहना है कि ट्विटर ना केवल अपने आप ही जांच कर रही है, बल्कि फैसला भी सुना रही है. किसी भी मामले की जांच करने का अधिकार दिल्ली पुलिस के पास है और उस पर फैसला सुनाने का अधिकार कोर्ट (Court) के पास है.

उधर, ट्विटर द्वारा यह दावा किया जा रहा है कि उन्होंने मामले की जांच कर यह निर्णय किया है कि टूलकिट के साथ छेड़छाड़ की गई है. ऐसे में अगर उनके पास कोई जानकारी है तो उन्हें यह दिल्ली पुलिस के साथ सांझा करनी चाहिए ताकि जांच पूरी हो सके.
दिल्ली पुलिस का आरोप है कि जांच में ट्विटर द्वारा  पुलिस को सहयोग नहीं किया जा रहा है. पब्लिक प्लेटफॉर्म होने के चलते ट्विटर को अपने व्यवहार में ट्रांसपेरेंसी रखनी चाहिए. इस मामले में दिल्ली पुलिस ने कांग्रेस पार्टी (Congress Party) की शिकायत पर प्राथमिक जांच शुरू की है. ऐसे में दिल्ली पुलिस पर ट्विटर का यह आरोप लगाना कि सरकार के इशारे पर वह मामला दर्ज कर जांच कर रही है, पूरी तरीके से गलत है.

ट्विटर द्वारा जांच से पहले ही निर्णय सुनाते हुए टूलकिट को मन्युप्लेटेड मीडिया करार दे दिया गया. इससे साफ है कि ट्विटर के पास टूलकिट से संबंधित महत्वपूर्ण जानकारी है. इसलिए दिल्ली पुलिस ने उन्हें नोटिस देकर जांच में सहयोग देने के लिए कहा था, लेकिन उनके अधिकारी जांच से भाग रहे हैं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज