लाइव टीवी

दिल्ली पुलिस ने की सार्वजनिक अपील, मांगी JNU हिंसा मामले की जानकारी

भाषा
Updated: January 7, 2020, 10:08 PM IST
दिल्ली पुलिस ने की सार्वजनिक अपील, मांगी JNU हिंसा मामले की जानकारी
जेएनयू हिंसा मामले में पुलिस ने आम लोगों से सबूत देने की अपीव की. (फाइल फोटो)

दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने मंगलवार को एक सार्वजनिक अपील जारी कर जेएनयू परिसर (JNU Campus) में रविवार को हुए हमले से जुड़ी तस्वीरें, वीडियो फुटेज या कोई अन्य जानकारी मुहैया करने को कहा है. सबूत जुटाने के लिए फॉरेंसिक टीमें (Forensic Teams) भी विश्वविद्यालय परिसर में पहुंची हैं.

  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने मंगलवार को एक सार्वजनिक अपील जारी कर जेएनयू परिसर (JNU Campus) में रविवार को हुए हमले से जुड़ी तस्वीरें, वीडियो फुटेज या कोई अन्य जानकारी मुहैया करने को कहा है. सबूत जुटाने के लिए फॉरेंसिक टीमें (Forensic Teams) भी विश्वविद्यालय परिसर में पहुंची हैं. गौरतलब है कि रविवार को जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय परिसर में नकाबपोश भीड़ द्वारा किए गए हमले में जेएनयू छात्र संघ (जेएनयूएसयू) की अध्यक्ष आइशी घोष सहित 34 लोग घायल हो गये थे.

मंगलवार को पहुंची एफएसएल की टीम
सूत्रों ने बताया कि हमले के सिलसिले में सबूत जुटाने के लिए फॉरेंसिक विज्ञान प्रयोगशाला (एफएसएल) की कई टीमें मंगलवार को वहां पहुंची. सूत्रों ने बताया कि एफएसएल की भौतिकी, रसायन और जीवविज्ञान विभागों की टीमें विश्वविद्यालय में हैं.
सरिया और पत्थरों जैसे सबूतों हो रही एकत्र

भौतिकी टीम विश्वविद्यालय परिसर में नकाबपोश लोगों द्वारा छात्रों और अध्यापकों पर हमले में इस्तेमाल किए गए सरिया (रॉड) और पत्थरों जैसे सबूतों को एकत्र करेगी, जबकि रसायन टीम वहां मौजूद रसायनों के नमूने जुटाएगी. जीव विज्ञान टीम अन्य साक्ष्यों सहित डीएनए नमूने एकत्र करेगी. एफएसएल से फोटो विशेषज्ञों की एक टीम भी परिसर में मौजूद है.

सीसीटीवी फुटेज की जांच का भी प्रयास जारी
सूत्रों के मुताबिक दिल्ली पुलिस ने एफएसएल से सीसीटीवी फुटेज का विश्लेषण करने के लिए एक कंप्यूटर फॉरेंसिक टीम भेजने का अनुरोध किया है और इसके बुधवार को परिसर में पहुंचने की संभावना है.पेशेवर तरीके से जुटाए जा रहे हैं साक्ष्य
दिल्ली पुलिस के अतिरिक्त जन संपर्क अधिकारी अनिल मित्तल ने कहा, ‘‘दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा की एक टीम मामले की जांच वैज्ञानिक एवं पेशेवर तरीके से कर रही है तथा साक्ष्य जुटाए जा रहे हैं.’’ अपराध शाखा की विशेष जांच टीम (एसआईटी) का नेतृत्व जॉय तिर्की कर रहे हैं.

छात्रों और अध्यापकों से की गई बातचीत
घटना की जांच के लिए तथ्य जुटाने वाली समिति का नेतृत्व संयुक्त पुलिस आयुक्त (पश्चिमी क्षेत्र) शालिनी सिंह कर रही हैं. उन्होंने जेएनयू परिसर का दौरा किया और छात्रों एवं अध्यापकों से बात की. शालिनी सभी स्थानों पर गईं और परिसर में छात्रों से बातचीत की.

अपराध शाखा ने जारी की है सार्वजनिक अपील
इसबीच, दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा ने एक सार्वजनिक अपील जारी कर घटना के गवाह रहे सभी लोगों या घटना के बारे में कोई जानकारी रखने वालों या अपने मोबाइल फोन अथवा कैमरा में किसी हरकत को दर्ज करने वालों से आगे आने तथा अपने बयान/ अपने पास मौजूद फुटेज/तस्वीरें एसआईटी को सौंपने का अनुरोध किया.

तीन हॉस्टलों को बनाया गया था निशाना
उल्लेखनीय है कि रविवार को नकाबपोश लोगों की एक भीड़ ने यहां दक्षिण दिल्ली स्थित जेएनयू परिसर में घुस कर तीन छात्रावासों में विद्यार्थियों को निशाना बनाया था. डंडों, सरिया और पत्थरों से हमला किया था. छात्रावास में विद्यार्थियों पर हमला किया गया था और खिड़कियां, फर्नीचर तथा निजी सामान तोड़ दिये थे. उन्होंने एक महिला छात्रावास में भी हमला किया था.

बढ़ाई गई है सुरक्षा
हमले की इस घटना के बाद परिसर में सुरक्षा बढ़ा दी गई है. विश्वविद्यालय के विभिन्न द्वारों पर बड़ी संख्या में पुलिसकर्मी तैनात हैं.

अज्ञात लोगों के खिलाफ दर्ज किया गया मामला
हमले के सिलसिले में अज्ञात लोगों के खिलाफ एक प्राथमिकी दर्ज की गई है और अपराध शाखा इस घटना की जांच कर रही है. अपराध शाखा ने सीसीटीवी फुटेज सहित साक्ष्य जुटाने के लिए स्थानीय पुलिस टीम के साथ सोमवार को परिसर का दौरा किया.

खंगाले जा रहे हैं व्हाट्सएप पर शेयर किए गए वीडियो
पुलिस के मुताबिक एजेंसी घटना की सभी सीसीटीवी फुटेज और सोशल मीडिया पर अपलोड किए गए तथा व्हाट्सएप पर साझा किए गए वीडियो क्लिप को खंगाल रही है.

ये भी पढ़ें: 




News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 7, 2020, 10:08 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर