लाइव टीवी

जामिया हिंसा: 10 आरोपी गिरफ्तार, पुलिस का दावा- सभी का है आपराधिक रिकॉर्ड, कोई छात्र नहीं
Delhi-Ncr News in Hindi

News18Hindi
Updated: December 17, 2019, 10:40 AM IST
जामिया हिंसा: 10 आरोपी गिरफ्तार, पुलिस का दावा- सभी का है आपराधिक रिकॉर्ड, कोई छात्र नहीं
दिल्ली के न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी में नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान रविवार को जलाई गई बस का मुआयना करते फॉरेंसिक एक्सपर्ट (फाइल फोटो)

जिन युवकों को गिरफ्तार किया है उन पर रविवार रात जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी (Jamia millia islamia university) के पास हुए बवाल में शामिल होने का आरोप है. पुलिस के अनुसार सभी की गिरफ्तारी सीसीटीवी फुटेज के आधार पर की गई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 17, 2019, 10:40 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी (Jamia millia islamia university) के बाहर हुए 15 दिसंबर की रात को हुए बवाल में दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने 10 युवकों को गिरफ्तार किया है. पुलिस का कहना है कि सभी युवकों का आपराधिक रिकॉर्ड है.

पुलिस ने मंगलवार को बताया कि आरोपियों को सोमवार की रात गिरफ्तार किया गया. पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक गिरफ्तार किए गए लोगों में कोई भी छात्र नहीं है.

हालांकि पुलिस ने साथ कहा है कि छात्रों को अभी क्लीन चिट नहीं दी गई है और मामले की जांच की जा रही है. वहीं पुलिस ने बवाल के दौरान बस जलाए जाने वाले मामले में आरोपी युवकों से पूछताछ शुरू कर दी है.

जमकर हुआ था बवाल



गौरतलब है कि दिल्ली पुलिस ने जिन युवकों को गिरफ्तार किया है उन पर रविवार रात हुए बवाल में शामिल होने का आरोप है. इन सभी आरोपियों की गिरफ्तारी सीसीटीवी फुटेज के आधार पर की गई है. हिंसा में चार सरकारी बसों को आग लगा दी गई थी. राहगीरों के वाहनों में भी तोड़फोड़ की गई थी. जिसके बाद पुलिस ने जामिया मिल्लिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी के छात्रों को लाठीचार्ज कर खदेड़ दिया था. आरोप है कि पुलिस ने यूनिवर्सिटी के अंदर तक घुसकर आंसू गैस के गोले दागे थे.



पुलिस ने दर्ज किए थे दो मामले
जामिया में भड़की हिंसा को लेकर दिल्ली पुलिस ने सोमवार को दो केस दर्ज किए थे. पहला केस न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी और दूसरा मामला जामिया नगर थाने में दर्ज किया गया. पुलिस ने आगजनी, दंगा फैलाने, सरकारी संपत्ति को नुकसान और सरकार काम में बाधा पहुंचाने के तहत केस दर्ज किया है.

नदवा और डीयू में भी हुआ था विरोध-प्रदर्शन
जामिया हिंसा के बाद नदवा कॉलेज और दिल्ली यूनिवर्सिटी में भी विरोध-प्रदर्शन हुआ था. नदवा के गेट पर पथराव घटना हुई थी. वहीं डीयू के विरोध-प्रदर्शन को रोकने के लिए दिल्ली पुलिस और सीआरपीएफ के जवानों पर डीयू के अंदर दाखिल होने का भी आरोप लगा था.

 

ये भी पढ़ें- निर्भया कांड के दोषियों को फांसी देने से पहले बोला पवन जल्लाद- अब जीना मुश्किल हो गया

चार महिलाओं समेत कौन हैं वो 35 लोग जिन्हें होनी है फांसी, राष्ट्रपति भी लगा चुके हैं मुहर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 17, 2019, 9:34 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर