Home /News /delhi-ncr /

JNU छेड़छाड़ मामलाः पहले 3 लड़कियों को शिकार बनाने का था इरादा, बाद में जॉगिंग करती दिखी अकेली युवती तो...

JNU छेड़छाड़ मामलाः पहले 3 लड़कियों को शिकार बनाने का था इरादा, बाद में जॉगिंग करती दिखी अकेली युवती तो...

जेएनयू में युवती से छेड़छाड़ के आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. (फाइल फोटो)

जेएनयू में युवती से छेड़छाड़ के आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. (फाइल फोटो)

Delhi Crime: दिल्ली पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है. आरोपी कैंपस में नहीं पढ़ता है और वो मुनिरका का रहने वाला है. वारदात के दिन आरोपी शराब के नशे में कैंपस में घुसा और तीन लड़कियों का पीछा किया लेकिन वे हॉस्टल में घुस गईं तो आरोपी ने अकेली जॉगिंग कर रही युवती का पीछा किया और मौका देखकर वारदात को अंजाम दिया.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी में पीएचडी छात्रा के साथ हुई छेड़छाड़ के मामले में दिल्ली पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार 17 जनवरी को कैंपस में युवती के साथ हुई छेड़छाड़ के मामले में पुलिस ने पश्चिम बंगाल का मूल निवासी है और उसकी पहचान अक्षय धोलाई के तौर पर हुई है. वर्तमान में वो अपने परिवार के साथ मुनिकरका इलाके में रहता है. अक्षय भीकाजी कामा प्लेस में मोबाइल रिपेयरिंग और सिम कार्ड बेचने का काम करता है.

शराब के नशे में की वारदात
पुलिस के अनुसार वारदात के दिन आरोपी का अपनी पत्नी के साथ झगड़ा हुआ. जिसके बाद उसने शराब पी और अपने सफेद स्कूटर पर सवार होकर जेएनयू की तरफ चला गया. यहां पर उसे तीन लड़कियां कैंपस के अंदर जाती दिखीं. उसने इन तीनों का पीछा किया लेकिन वे होस्टल में चली गईं. यहां से उसने अपना रास्ता बदला और कैंपस के इंटरनल सर्किल की ओर चला गया. यहां पर उसे एक युवती जॉगिंग करती दिखाई दी. उसने उसका पीछा किया और ईस्ट गेट की तरफ सुनसान इलाका देख कर उसने अपने स्कूटर को खड़ा कर दिया. यहां पर वो लड़की की तरफ बढ़ा और उसके साथ छेड़खानी की. युवती ने पुलिस को सूचना देने के लिए फोन निकाला तो उसने फोन छीन लिया और वहां से फरार हो गया.

सीसीटीवी में दिखा
पुलिस को सूचना मिलते ही मामले की जांच शुरू की गई. इस दौरान अरोपी के हुलिए से संबंधित किसी की भी एंट्री गेट के रजिस्टर पर नहीं मिली. जिसके बाद सीसीटीवी फुटेज देखे गए. करीब 1 हजार से भी ज्यादा फुटेज देखने के बाद आरोपी की पहचान हो सकी. आरोपी घटना के बाद वेस्ट गेट से बाहर निकला. यहां पर पुलिस को देखकर वो कुछ देर रुका और फिर साउथ दिल्ली की तरफ भाग गया. अब पुलिस ने अरोपी की पहचान कर उसे गिरफतार कर लिया है. उसके पास से युवती का मोबाइल भी बरामद किया गया है.
पूछताछ में आरोपी ने पुलिस को बताया कि वो दिल्ली 2011 में आया था और करीब चार साल तक उसने टिकट बुकिंग का काम किया. जिसके चलते वो जेएनयू के टिकट सेंटर पर जाया करता था इसलिए उसे कैंपस की पूरी जानकारी थी और वारदात की रात वो बिना किसी रोका टोकी के कैंपस में आसानी से घुस गया.

Tags: Delhi Crime, Jnu

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर