मणिपुर पुलिस द्वारा घोषित एक लाख के इनामी बदमाश को दिल्ली पुलिस ने किया गिरफ्तार

तब तक उस आरोपी के खिलाफ मणिपुर स्थित स्थानीय अदालत द्वारा कार्रवाई शुरू हो चुकी थी.

तब तक उस आरोपी के खिलाफ मणिपुर स्थित स्थानीय अदालत द्वारा कार्रवाई शुरू हो चुकी थी.

ये शातिर बदमाश मणिपुर इलाके का रहने वाला है ,जिसका नाम कंगूजम कनर्जित (Kangujam Kanarjit) उर्फ डॉ केके सिंह है.

  • Share this:

रिपोर्ट - शंकर आनंद

नई दिल्ली. दिल्ली पुलिस (Delhi Police ) की स्पेशल सेल की टीम ने एक बड़ी कार्रवाई को अंजाम देते हुए एक लाख रुपये के एक इनामी बदमाश को गिरफ्तार किया है. ये शातिर बदमाश मणिपुर इलाके का रहने वाला है, जिसका नाम कंगूजम कनर्जित (Kangujam Kanarjit) उर्फ डॉ केके सिंह है. दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल (Special Cell ) और मणिपुर पुलिस (Manipur police ) द्वारा जॉइंट ऑपरेशन (Joint operation) के तहत इसकी गिरफ्तारी को अंजाम दिया गया है.

देश के कई राज्यों सहित विदेशी छात्रों को भी ये लगाता था चूना

स्पेशल सेल के सूत्रों के मुताबिक, आरोपी कंगूजम कनर्जित उर्फ डॉ. केके सिंह ने आपदा के नाम पर पैसे की उगाही को अवसर बना लिया था. कई फर्जी दस्तावेजों और फर्जी हस्ताक्षर का प्रयोग करके खुद को राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर का बड़ी हस्ती बनाकर लोगों के सामने अपने आप को पेश करता था. देश के कई बड़े नेताओं सहित अंतरराष्ट्रीय स्तर के नेताओं के साथ भी दोस्ताना रिश्ता होने की बात कर वह लोगों को ठगी का शिकार बनाता था. अंतरराष्ट्रीय  स्तर के लोगों के साथ तस्वीर बनवाने के बाद वह खुद को अंतरराष्ट्रीय स्तर के योजनाओं के लिए काम करने वाला बड़ी हस्ती बताता था.
गिरफ्तार करने का निर्देश दिया

लेकिन इस आरोपी के बारे में मणिपुर पुलिस को इस बात की आशंका हुई कि ये दिल्ली-एनसीआर में छुपा हुआ हो सकता है. उसके बाद दिल्ली पुलिस से मणिपुर पुलिस ने मदत मांगी. दिल्ली पुलिस कमिश्नर ने इस मामले की गंभीरता को देखते हुए जांच का जिम्मा स्पेशल सेल की टीम को सौंप दिया. उसके बाद स्पेशल सेल के डीसीपी संजीव यादव (Sanjeev Yadav, DCP ) ने  इंस्पेक्टर मान सिंह को एक टीम का गठन करके इस मामले की तफ़्तीश का जिम्मा सौंपा और जल्द से जल्द सतर्कता से तफ़्तीश करके इस आरोपी को गिरफ्तार करने का निर्देश दिया.

फरार होकर दिल्ली में आकर छुप गया



स्पेशल सेल के मुताबिक,  आरोपी ने अंतरराष्ट्रीय युवा समितियों (international youth committees) के नाम पर राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय छात्रों से काफी बड़े मात्रा में धन और शुल्क की वसूली किया. कई सेमिनार के मार्फत भूकंप पीड़ितों यानी भूकंप के दौरान मृतकों के परिजनों को मद्दत करने  और अंतरराष्ट्रीय युवा सम्मेलन के नाम पर राहत -बचाव करने के नाम पर किया लाखों -करोड़ों रुपये की अवैध उगाही किया था.

रिमांड पर दिल्ली से मणिपुर लेकर जाएगी

हालांकि, तब तक उस आरोपी के खिलाफ मणिपुर स्थित स्थानीय अदालत द्वारा कार्रवाई शुरू हो चुकी थी. इस आरोपी को इम्फाल ईस्ट स्थित व मुख्य न्यायायिक मजिस्ट्रेट द्वारा 25 अप्रैल 2016 को भगोड़ा घोषित कर दिया गया था. इसके साथ ही मणिपुर पुलिस द्वारा इस आरोपी के खिलाफ एक लाख रुपये के इनाम भी घोषित कर दिया गया था , जो अब दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल की टीम को प्रदान किया जाएगा. मणिपुर की टीम जल्द ही तमाम औपचारिकता को पूरा करने के बाद आरोपी को ट्रांजिट रिमांड पर दिल्ली से मणिपुर लेकर जाएगी.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज