Home /News /delhi-ncr /

delhi police arrests 26 year old man from rajasthan bharatpur for blackmail extortion

लड़की की फेक प्रोफाइल बना पुरुषों को जाल में फंसाने वाले गिरोह का पर्दाफाश, ऐसे करता था कांड

फेसबुक पर लोगों के प्राइवेट कृत्य को रिकॉर्ड करने वाला गैंग का सरगना पकड़ाया. (सांकेतिक तस्वीर)

फेसबुक पर लोगों के प्राइवेट कृत्य को रिकॉर्ड करने वाला गैंग का सरगना पकड़ाया. (सांकेतिक तस्वीर)

दिल्ली पुलिस ने राजस्थान के 26 वर्षीय शख्स को सोशल मीडिया पर लोगों से दोस्ती करने और उनके निजी कृत्यों (प्राइवेट एक्ट्स) को रिकॉर्ड करने के बाद ब्लैकमेल करने और जबरन वसूली करने के आरोप में गिरफ्तार किया है. अधिकारियों ने सोमवार को यह जानकारी दी. आरोपी की पहचान राजस्थान के भरतपुर जिले के निवासी आसिब खान के रूप में हुई है.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली: सोशल मीडिया पर लड़कियों की फेक प्रोफाइल बनाकर दोस्ती करने और लोगों के प्राइवेट कृत्यों को रिकॉर्ड कर ब्लैकमेल करने वाले गिरोह का पर्दाफाश हुआ है. दिल्ली पुलिस ने राजस्थान के 26 वर्षीय शख्स को सोशल मीडिया पर लोगों से दोस्ती करने और उनके निजी कृत्यों (प्राइवेट एक्ट्स) को रिकॉर्ड करने के बाद ब्लैकमेल करने और जबरन वसूली करने के आरोप में गिरफ्तार किया है. अधिकारियों ने सोमवार को यह जानकारी दी. आरोपी की पहचान राजस्थान के भरतपुर जिले के निवासी आसिब खान के रूप में हुई है.

    समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, पूछताछ के दौरान खान ने पुलिस को बताया कि उसने और उसके गांव के कई युवाओं ने फेसबुक पर महिलाओं के फर्जी प्रोफाइल बनाए और पुरुषों से दोस्ती की. फिर उन्होंने नंबरों का आदान-प्रदान किया और कई पुरुषों को वीडियो कॉल किए. इन वीडियो कॉल के दौरान गिरोह पहले से रिकॉर्ड किए गए महिलाओं के प्राइवेट एक्ट्स वाले वीडियो को चलाता था, ताकि वह सामने वाले पुरुष को यह एहसास करा सके कि वे असली हैं. इन वीडियो को दिखाकर वे पुरुषों को अपने जाल में फंसाते थे और फिर आरोपी पीड़ितों के निजी कृत्यों को रिकॉर्ड करते थे.

    बाद में खान और उसका गिरोह पीड़ितों को अलग-अलग नंबरों से फोन करता था और खुद को अपराध शाखा और यूट्यूब के अधिकारियों के रूप में पेश करता था. पुलिस ने कहा कि वे सोशल मीडिया साइटों से वीडियो को हटाने के लिए प्रक्रियाओं का हवाला देते हुए पीड़ितों से पैसे वसूल करते थे. पुलिस उपायुक्त (उत्तर), सागर सिंह कलसी के अनुसार, पीड़ितों ने खान के खाते में कुल 26 लाख रुपये ट्रांसफर किए थे और बाद में एक महीने के भीतर पैसे निकाल लिए गए थे.

    पुलिस ने कहा कि राजस्थान के भरतपुर, हरियाणा के मेवात, गुरुग्राम और पलवल और उत्तर प्रदेश के मथुरा में विभिन्न एटीएम से पैसे निकाले गए. उन्होंने बताया कि खान के पास से तीन मोबाइल फोन और नौ सिम कार्ड बरामद किए गए.

    Tags: Crime News, Delhi news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर