Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    दिल्ली पुलिस ने GPS के जरिए कातिल ड्राइवर को दबोचा, नशे की हालत में युवक को बस से कुचला

    आरोपी बस ड्राइवर प्रदीप उर्फ नागराज का आपराधिक इतिहास रहा है जो हत्या, हत्या के प्रयास, चोरी, आर्म्स एक्ट जैसे 13 मामलों में शामिल रहा है. इसके अलावा आरोपी तीन बार बस एक्सीडेंट भी कर चुका है जिसमें से दो बार वो जान ले चुका है
    आरोपी बस ड्राइवर प्रदीप उर्फ नागराज का आपराधिक इतिहास रहा है जो हत्या, हत्या के प्रयास, चोरी, आर्म्स एक्ट जैसे 13 मामलों में शामिल रहा है. इसके अलावा आरोपी तीन बार बस एक्सीडेंट भी कर चुका है जिसमें से दो बार वो जान ले चुका है

    पुलिस के मुताबिक घटना की रात भी वो नशे में बस लेकर अकेला निकला था, और एक्सीडेंट करने के बाद मायापुरी इलाके में उसने बस से एक ट्रक को टक्कर मार दी. जिसके बाद पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर क्लस्टर बस को जब्त कर लिया था. आरोपी ड्राइवर का मेडिकल कराया गया तो उसके खून में तय सीमा से तीन गुना अधिक अल्कोहल पाया गया था

    • News18Hindi
    • Last Updated: October 7, 2020, 7:54 PM IST
    • Share this:
    नई दिल्ली. अपराधी कितना ही शातिर क्यों न हो, कानून के फंदे से बच नहीं सकता. यह लाइनें फिट बैठती हैं उस आरोपी बस ड्राइवर पर जिसे ढूंढ निकालने के लिए दिल्ली पुलिस (Delhi Police) को 200 से ज्यादा सीसीटीवी फुटेज (CCTV) खंगालने पड़े और 350 लोगों से जानकारी जुटानी पड़ी. उत्तरी दिल्ली (North Delhi) के कश्मीरी गेट थाना पुलिस ने एक ब्लाइंड केस (Blind Case) का खुलासा किया है जिसमें आरोपी बस ड्राइवर (Bus Driver) ने बीते एक अक्टूबर की रात को एक व्यक्ति को कुचल दिया था. लेकिन तफ्तीश में पुलिस के पास कुछ नही था. आरोपी प्रदीप उर्फ नागराज एक क्लस्टर बस का ड्राइवर था जो घटना के बाद मौके से फरार हो गया था.

    मृतक व्यक्ति चांदनी चौक की फर्म में एक क्लर्क का काम करता था. पुलिस ने टीम गठित इस अनसुलझी पहेली की जांच शुरू की तो कई कड़ियां आपस में जुड़ती चली गईं. पुलिस को मौके का कोई सीसीटीवी नहीं मिला, न ही कोई गवाह था. मगर फिर भी पुलिस ने आसपास के 200 से ज्यादा सीसीटीवी खंगाले और उन 350 लोगों से पूछताछ की जो उसी समय पर घटनास्थल से रोजाना आते-जाते थे. पुलिस ने 30 क्लस्टर बसों का डेटा खंगाला जो एक अक्टूबर की रात कश्मीरी गेट इलाके से गुजरी थी. साथ ही बसों का जीपीएस लोकेशन रिकॉर्ड सर्च किया गया जिसमें पुलिस को रूट नंबर 753 की एक बस के गलत दिशा में जाने की जानकारी मिली.

    पुलिस की पूछताछ में आरोपी बस ड्राइवर ने गुनाह कबूला



    पुलिस ने बस के ड्राइवर प्रदीप को उसके घर दिल्ली के ईसापुर से ढूंढ निकाला और हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू की. कड़ी पूछताछ में उसने अपना जुर्म कबूल कर लिया. पचास वर्षीय प्रदीप उर्फ नागराज का आपराधिक इतिहास रहा है जो हत्या, हत्या के प्रयास, चोरी, आर्म्स एक्ट जैसे 13 मामलों में शामिल रहा है. इसके अलावा आरोपी तीन बार बस एक्सीडेंट भी कर चुका है जिसमें से दो बार वो जान ले चुका है.
    पुलिस के मुताबिक घटना की रात भी वो नशे में बस लेकर अकेला निकला था, और एक्सीडेंट करने के बाद मायापुरी इलाके में उसने बस से एक ट्रक को टक्कर मार दी. जिसके बाद पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर क्लस्टर बस को जब्त कर लिया था. आरोपी ड्राइवर का मेडिकल कराया गया तो उसके खून में तय सीमा से तीन गुना अधिक अल्कोहल पाया गया था.
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज