पटाखों को लेकर दिल्ली पुलिस का बड़ा बयान, नागरिकों के असहयोगात्मक रवैये को ठहराया जिम्मेदार

दिल्ली-एनसीआर में दिवाली के दिन खूब पटाखे फोड़े गए.(फाइल फोटो)
दिल्ली-एनसीआर में दिवाली के दिन खूब पटाखे फोड़े गए.(फाइल फोटो)

दिल्ली पुलिस (Delhi Police) के शीर्ष अधिकारियों ने प्रतिबंध की देरी से घोषणा और नागरिकों के असहयोगात्मक रवैये को जिम्मेदार ठहराया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 15, 2020, 10:33 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली में पटाखों (Firecrackers) पर लगे प्रतिबंध और हवा की गुणवत्ता (Air Quality Index Delhi) को और खराब होने को लेकर बयानबाजी का दौर शुरू हो गया है. दिल्ली पुलिस (Delhi Police) के शीर्ष अधिकारियों ने प्रतिबंध की देरी से घोषणा और नागरिकों के असहयोगात्मक रवैये को जिम्मेदार ठहराया है. बता दें कि राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) में प्रदूषण (Pollution) और कोविड-19 (Covid-19) महामारी की वजह से पटाखों की बिक्री और इस्तेमाल पर रोक के बावजूद शनिवार की पूरी रात दिल्ली और पड़ोसी इलाकों में लगातार पटाखों के जलाने की आवाजें सुनाई देती रही. इसकी वजह से दिल्ली-एनसीआर में प्रदूषण का स्तर ‘ गंभीर’ श्रेणी में पहुंच गया और दीवाली के बाद रविवार की सुबह लोगों की नींद वातावरण में धुंए की गंध के साथ खुली.

दिल्ली पुलिस ने ये आंकड़ा साझा किया
दिल्ली पुलिस द्वारा साझा किए गए आंकड़ों के मुताबिक गैर कानूनी तरीके से पटाखे जलाने और बेचने की 1,206 घटनाएं हुई हैं और इनके पास से 1,314.42 किलोग्राम पटाखे जब्त किए गए हैं. आंकड़ों के मुताबिक 14 नवंबर को दिल्ली पुलिस के नियंत्रण कक्ष को पटाखे जलाने की करीब 2,000 शिकायतें मिली.

crackers sale, delhi police, cm kejriwal, delhi news, firecrackers, firecrackers licences, Green Crackers, Delhi Government, Delhi air pollution, Delhi pollution, delhi police, suspended All licences, NGT,air quality index delhi, दिल्ली पुलिस, पटाखों की बिक्री पर रोक, लाइसेंस रद्द, लाइसेंस निलंबित, दिल्ली न्यूज, पटाखा बैन दिल्ली में, वायु प्रदूषण, अरविंद केजरीवाल, दिल्ली सरकार, दिवाली, दीपावली, दुकानदार कंगाल, दिल्ली पुलिस, पटाखे, पटाखों की बिक्री, दिवाली, दिल्ली न्यूज, सीएम केजरीवाल, Delhi Police blamed citizen s attitude of big thing about firecrackers responsible for non cooperative nodrssदिल्ली पुलिस की सख्ती के बाद दिवाली की रात खूब पटाखा फोड़ा गया.
दिल्ली पुलिस की सख्ती के बाद दिवाली की रात खूब पटाखा फोड़ा गया.

30 नवंबर तक सभी तरह के पटाखों की बिक्री और इस्तेमाल पर रोक


उल्लेखनीय है कि राष्ट्रीय हरित अधिकरण (एनजीटी) ने सोमवार को एनसीआर में 30 नवंबर तक सभी तरह के पटाखों की बिक्री और इस्तेमाल पर रोक लगा दी थी. दिल्ली सरकार ने भी 30 नवबंर तक इसी तरह की पाबंदी लगाई थी. हालांकि, अधिकारियों का कहना है कि इस साल प्रतिबंध की घोषणा होने से पहले ही दिल्ली पुलिस की लाइसेंस इकाई 138 पटाखों की दुकानों को लाइसेंस जारी कर चुकी थी.

दिल्ली पुलिस ने सभी लाइसेंस को स्थगित कर दिया
पुलिस अधिकारियों ने बताया कि प्रतिबंध लगाए जाने के बाद सभी लाइसेंस को स्थगित कर दिया गया. प्रतितबंध को लागू कराने में आई परेशानी के बारे में एक अन्य शीर्ष पुलिस अधिकारी ने बताया, ‘‘दिल्ली में पटाखे पहले ही बिक चुके थे जिसके बाद प्रतिबंध लगा. लोग पटाखों को खरीद कर घर में जमा कर लेते हैं और पूरे साल इन्हें जलाने के लिए दीवाली का इंतजार करते हैं.’’

crackers sale, delhi police, cm kejriwal, delhi news, firecrackers, firecrackers licences, Green Crackers, Delhi Government, Delhi air pollution, Delhi pollution, delhi police, suspended All licences, NGT,air quality index delhi, दिल्ली पुलिस, पटाखों की बिक्री पर रोक, लाइसेंस रद्द, लाइसेंस निलंबित, दिल्ली न्यूज, पटाखा बैन दिल्ली में, वायु प्रदूषण, अरविंद केजरीवाल, दिल्ली सरकार, दिवाली, दीपावली, दुकानदार कंगाल, दिल्ली पुलिस, पटाखे, पटाखों की बिक्री, दिवाली, दिल्ली न्यूज, सीएम केजरीवाल, Delhi Police blamed citizen s attitude of big thing about firecrackers responsible for non cooperative nodrss
देश की राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में वायु प्रदूषण खतरनाक स्तर पर पहुंच गया है.


अधिकारियों ने कही यह बात
अधिकारियों ने कहा कि पुलिस कार्रवाई ही काफी नहीं है और यहां के निवासियों को लोकहित में पटाखों पर रोक के पालन के लिए शपथ लेनी चाहिए. पुलिस के मुताबिक नियमित जांच सुनिश्चित करने के लिए थाने और जिला स्तर पर विशेष टीम और उड़न दस्तों का गठन किया गया था. वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘‘हमारे जागरूकता अभियान और कदम के बावजूद उल्लंघन के मामले सामने आए और हम ऐसे लोगों के खिलाफ कार्रवाई कर रहे हैं.’’

नाबालिग बच्चों को पटाखे जलाते हुए देखा गया
अधिकारियों ने बताया कि पुलिस को कई बंदिशों में काम करना पड़ा जैसे नाबालिग बच्चों को पटाखे जलाते हुए देखा गया. उन्होंने कहा, ‘‘शिकायत मिलने पर हमने तत्परता से काईवाई की, लेकिन जब मौके पर पहुंचे तो पटाखा जलाने वाले की पहचान करना मुश्किल था.’’

crackers sale, delhi police, cm kejriwal, delhi news, firecrackers, firecrackers licences, Green Crackers, Delhi Government, Delhi air pollution, Delhi pollution, delhi police, suspended All licences, NGT,air quality index delhi, दिल्ली पुलिस, पटाखों की बिक्री पर रोक, लाइसेंस रद्द, लाइसेंस निलंबित, दिल्ली न्यूज, पटाखा बैन दिल्ली में, वायु प्रदूषण, अरविंद केजरीवाल, दिल्ली सरकार, दिवाली, दीपावली, दुकानदार कंगाल, दिल्ली पुलिस, पटाखे, पटाखों की बिक्री, दिवाली, दिल्ली न्यूज, सीएम केजरीवाल, Delhi Police blamed citizen s attitude of big thing about firecrackers responsible for non cooperative nodrss
दिल्ली में हवा की गुणवत्ता लगातार बिगड़ रही है. सरकार प्रदूषण कम करने के तमाम उपायों पर काम करने का दावा कर रही है.


ये भी पढ़ें: Ration Card Apply करते समय अब इन 5 बातों का रखें विशेष ख्याल, रहेंगे हमेशा टेंशन फ्री

पुलिस उपायुक्त (दक्षिण पूर्वी दिल्ली) आरपी मीणा ने कहा कि उनके ही जिले में दीवाली पर 700 पुलिस कर्मियों की तैनाती नियमों के उल्लंघन की जांच करने के लिए की गई थी. पटाखों पर प्रतिबंध के बारे में कई लोगों ने कहा कि वे पूरे साल दीवाली पर पटाखा जलाने का इंतजार करते हैं, जबकि कुछ ने कहा कि इससे प्रदूषण के मोर्चे पर कोई मदद नहीं मिलने वाली है. लाजपत नगर की रहने वाली ज्योति ने कहा कि बच्चों को पटाखे पर रोक की बात समझाना और उन्हें इससे दूर रहने के लिए राजी करना मुश्किल है. (भाषा)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज