अपना शहर चुनें

States

26 जनवरी को दिल्ली में हुई हिंसा में सभी किसान नेता शामिल थे: दिल्ली पुलिस कमिश्नर

दिल्ली पुलिस के कमिश्नर एस.एन श्रीवास्तव ने कहा कि 26 जनवरी को दिल्ली की सड़कों पर ट्रैक्टर रैली के दौरान हिंसा और उपद्रव करने के पीछे सभी किसान नेता शामिल थे (फोटो: ANI)
दिल्ली पुलिस के कमिश्नर एस.एन श्रीवास्तव ने कहा कि 26 जनवरी को दिल्ली की सड़कों पर ट्रैक्टर रैली के दौरान हिंसा और उपद्रव करने के पीछे सभी किसान नेता शामिल थे (फोटो: ANI)

दिल्ली पुलिस के कमिश्नर एसएन श्रीवास्तव (SN Srivastava) ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि सभी किसान संगठनों से पुलिस पूछताछ करेगी. किसानों को एक्टिव 308 ट्विटर हैंडलों से भड़काया गया. उन्होंने कहा कि अभी तक 25 से ज्यादा केस दर्ज किए गए हैं. 19 लोगों की गिरफ्तारियां हुई हैं जबकि 50 से ज्यादा लोग हिरासत में लिए गए हैं

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 28, 2021, 5:18 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली.  26 जनवरी को गणतंत्र दिवस (Republic Day) पर किसानों की निकाली ट्रैक्टर परेड (Tractor Parade) और रैली में हुई हिंसा और उपद्रव पर दिल्ली पुलिस (Delhi Police) अब कार्रवाई कर रही है. दिल्ली पुलिस के कमिश्नर एस.एस श्रीवास्तव (SN Srivastava) ने कहा कि जिन्होंने भी इसमें हिस्सा लिया है, उनका खिलाफ नाम आने पर कार्रवाई की जाएगी. दिल्ली में हुई हिंसा में सभी किसान नेता शामिल थे. बुधवार शाम दिल्ली पुलिस के हेडक्वार्टर में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर उन्होंने कहा कि दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल, क्राइम ब्रांच, लोकल पुलिस और SIT हिंसा की जांच करेंगी.

उन्होंने कहा कि सभी किसान संगठनों से दिल्ली पुलिस पूछताछ करेगी. किसानों को एक्टिव 308 ट्विटर हैंडलों से भड़काया गया. उन्होंने कहा कि अभी तक 25 से ज्यादा केस दर्ज किए गए हैं. 19 लोगों की गिरफ्तारियां हुई हैं जबकि 50 से ज्यादा लोग हिरासत में लिए गए हैं. उन्होंने कहा कि किसानों के द्वारा की गई हिंसा में 394 पुलिसकर्मी घायल हुए हैं जिनमें से कुछ का अस्पताल में इलाज चल रहा है जबकि कुछ पुलिसकर्मी आईसीयू में भर्ती हैं.





उन्होंने यह भी कहा कि किसानों की आक्रमता के बावजूद पुलिस ने अधिकतम संयम का परिचय दिया और जिम्मेदारी के साथ काम किया. भीड़ को नियंत्रित करने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े.



'दिल्ली में हिंसा करने वाले लोगों की पहचान की जा रही है'

पुलिस कमिश्नर ने कहा कि लाल किला पर किसान संगठनों ने जिस प्रकार किसानों और धार्मिक झंडे लगाए उसे गंभीरता से लिया जा रहा है. इस प्रकार के कृत्य करने वालों की पहचान की जा रही है और इसमें शामिल लोगों को गिरफ्तार किया जाएगा. राष्ट्र के सम्मान में पुलिस किसान संगठनों से पूछताछ करेगी और जो इसमें शामिल होगा सभी को गिरफ्तार किया जाएगा. उन्होंने कहा कि हिंसा के दौरान किसानों ने 428 बैरिकेड, 30 पुलिस वाहन, छह कंटेनर, चार एक्स-रे मशीन, आठ तार पिलर समेत अन्य संपत्तियों को क्षतिग्रस्त किया है.

kisan andolan rally
किसानों की ट्रैक्टर परेड के दौरान उपद्रवियों ने एतिहासिक लाल किले की प्राचीर पर एक समुदाय विशेष का झंडा फहराने का प्रयास किया था


बता दें कि मंगलवार 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के अवसर पर कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसानों ने ट्रैक्टर परेड निकाला था. इस दौरान दिल्ली में जगह-जगह जमकर हिंसा और उपद्रव हुआ. इसके अलावा एतिहासिक लाल किला पर धावा बोलकर हुड़दंगियों ने वहां तिरंगे के बदले एक समुदाय विशेष का झंडा फहराने का प्रयास किया था. इस दौरान किसानों के वेश में आए उपद्रवियों ने वहां तैनात दिल्ली पुलिस के जवानों पर भी हमला किया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज