अक्सर विशाखापत्तनम से दिल्ली आती थी एम्बुलेंस, जब एक दिन पुलिस ने चेक किया तो अंदर का हाल देखकर रह गए दंग

दिल्ली पुलिस की स्पेशल टीम ने एक एम्बूलेंस से ड्रग्स से भरे यह बैग बरामद किए हैं.
दिल्ली पुलिस की स्पेशल टीम ने एक एम्बूलेंस से ड्रग्स से भरे यह बैग बरामद किए हैं.

ड्रग्स का सौदा कर डीलर वापस हवाई जहाज से विशाखापत्तनम चला जाता था. और पैडलर एम्बुलेंस लेकर सड़क के रास्ते ही उसी तरह से चले जाते थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 19, 2020, 7:13 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. अक्सर एक एम्बूलेंस (Ambulance) विशाखापत्तनम से दिल्ली आती थी. अंदर लेटा मरीज जल्द से जल्द दिल्ली के अस्पताल तक पहुंच जाए, इसके लिए एम्बुलेंस ड्राइवर सायरन का इस्तेमाल भी करता था. एम्बुलेंस होने के चलते टोल प्लाजा (Toll Plaza) पर टोल टैक्स की रसीद भी नहीं कटती थी. जिस स्पीड से एम्बुलेंस दिल्ली आती थी, उसी रफ्तार से वापस विशाखापत्तनम (Visakhapatnam) भी चली जाती थी. लेकिन एक दिन दिल्ली पुलिस (Delhi Police) को इस एम्बुलेंस के बारे में कुछ जानकारी मिली.

पुलिस ने छानबीन की तो एम्बुलेंस शक के दायरे में आ गई. मौका लगते ही एक दिन पुलिस ने उसको रोक लिया. जब तलाशी लेने के लिए एम्बूलेंस का दरवाजा खोला तो अंदर का नज़ारा देखकर दंग रह गई. एम्बुलेंस में मरीज के साथ बड़ी मात्रा में ड्रग्स भी रखी हुई थी.

यह भी पढ़ें: दिल्ली हिंसा: पुलिस ने 13 जोड़ी फीमेल अंडर गार्मेंट्स किए बरामद, 8 युवाओं के गैंग पर लूट का आरोप



delhi police, Drug supply case, ambulance, visakhapatnam, delhi, toll plaza, aeroplane, ganja, दिल्ली पुलिस, ड्रग सप्लाई का मामला, एम्बुलेंस, विशाखापट्टनम, दिल्ली, टोल प्लाजा, हवाई जहाज, गांजा
दिल्ली पुलिस की स्पेशल टीम ने एक एम्बूलेंस से ड्रग्स से भरे बैग बरामद कर पांच लोग गिरफ्तार किए हैं.

डीलर हवाई जहाज से आता था और ड्रग्स सड़क के रास्ते

विशाखापत्तनम से दिल्ली ड्रग्स लेकर आने वाल गिरोह को दिल्ली पुलिस की स्पेशल टीम ने पकड़ लिया है. 181 किलो ड्रग्स भी बरामद की गई है. पुलिस के अनुसार आंध्रा प्रदेश के विशाखापत्तनम से लाकर दिल्ली में ड्रग्स को बेचने वाला डीलर हवाई जहाज से दिल्ली आता था. पैडलर एम्बुलेंस से ड्रग्स लेकर सड़क के रास्ते दिल्ली पहुंचते थे. उसके बाद डीलर दोगुना रेट में ड्रग्स को दूसरे लोगों को बेच देता था. पुलिस के मुताबिक पकड़ी गई ड्रग्स की कीमत करीब पौने दो करोड़ रुपये बताई जा रही है.



मरीज बनकर एम्बूलेंस में लेटता था ड्रग्स पैडलर

गिरोह के पकड़े गए लोगों ने बताया कि उनका एक सदस्य मरीज बनकर एम्बुलेंस में लेट जाता था. इसके बाद एम्बुलेंस सायरन बजाती हुई विशाखापत्तनम से दिल्ली के लिए चल देती थी. एम्बुलेंस होने के चलते न तो कोई रोकटोक होती थी और न ही कोई चेक करता था. जिसके चलते उनका काम आसानी से चल रहा था. बीते 8-10 साल से गिरोह इस काम को कर रहा है. पुलिस ने अभी तक इस मामले में 4 लोगों को गिरफ्तार किया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज