अपना शहर चुनें

States

पुलिसकर्मियों के परिजनों का छलका दर्द, बोले- सीएम केजरीवाल किसानों से मिले, जवानों से नहीं

दिल्ली पुलिस वेलफेयर महासंघ की अगुवाई में पुलिसकर्मियों के परिवार शहीदी पार्क पहुंचे.  
दिल्ली पुलिस वेलफेयर महासंघ की अगुवाई में पुलिसकर्मियों के परिवार शहीदी पार्क पहुंचे.  

पुलिसकर्मियों की सुरक्षा को लेकर उनके परिजन काफी चिंतित हैं. उनका कहना है कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल प्रदर्शन को संभालने की जिम्मेदारी निभाने वाले घायल पुलिसकर्मियों से अस्पताल में मिलने तक नहीं गए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 30, 2021, 7:28 PM IST
  • Share this:
 नई दिल्ली. गणतंत्र दिवस 26 जनवरी के दिन निकली किसान ट्रैक्टर रैली और उसके बाद भी पुलिसकर्मियों पर लगातार किसानों द्वारा किए जा रहे हमलों के खिलाफ अब आवाज उठनी शुरू हो गई है. महात्मा गांधी की पुण्यतिथि पर आज आईटीओ स्थित शहीदी पार्क में पुलिसकर्मी और उनके परिजनों ने प्रदर्शन किया और परिजनों की सुरक्षा सुनिश्चित करने की मांग भी की. दिल्ली पुलिस वेलफेयर महासंघ की अगुवाई में पुलिसकर्मियों के परिवार शहीदी पार्क पहुंचे.


बताते चलें कि 26 जनवरी की हिंसक घटना और उपद्रव में करीब 394 से ज्यादा पुलिसकर्मी घायल हो गए थे. कल शुक्रवार को भी दिल्ली के सिंघु बॉर्डर पर  किसानों और आसपास के लोकल लोगों के बीच हुई हिंसक झड़प में अलीपुर थाना SHO प्रदीप पालीवाल और नरेला SHO विनय कुमार पर भी एक किसान ने तलवार से हमला किया गया था जिसमें वह घायल हो गए थे. हालांकि बाद में आरोपी किसान को पुलिस ने अपनी गिरफ्त ले लिया था


परिजनों ने कहा कि पुलिसकर्मियों की सुरक्षा को लेकर वह काफी चिंतित हैं. जिस तरह से लाल किले के भीतर एक बड़ी भीड़ ने घुसकर पुलिसकर्मियों पर जानलेवा हमला किया और पुलिसकर्मी सिर्फ शांत स्वभाव और सहनशीलता से अपनी ड्यूटी निभाते रहे. इस दौरान वह कोई कार्रवाई उनके खिलाफ नहीं कर सके. उनके परिजनों पर आईटीओ पर ट्रैक्टर चढ़ाने की कोशिश भी की गई.


उन्होंने कहा कि पुलिसकर्मियों ने अपनी सहनशीलता का परिचय दिया. ऐसा नहीं है कि उनके पास में उनको जवाब देने के लिए बंदोबस्त नहीं थे. अगर एक बज्र वाहन भी चला दिया जाता तो कितने ट्रैक्टर उसके नीचे आ गए होते. लेकिन पुलिसकर्मी अपनी ड्यूटी सहनशीलता के साथ निभा रहे थे.







परिजनों ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) के खिलाफ भी रोष जताया. उन्होंने कहा कि एक तरफ तो मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल किसान प्रदर्शन (Farmers Protest) में सिंघु बॉर्डर (Singhu Border) पर शामिल होते हैं. लेकिन इस प्रदर्शन को संभालने की जिम्मेदारी निभाने वाले पुलिसकर्मियों जोकि घायल हो गए, उनसे अस्पताल में मिलने तक नहीं गए. प्रदर्शनकारी पुलिस कर्मियों के बच्चों ने परिजनों ने महात्मा गांधी की फोटो लगाकर भी उनको याद किया. कुछ घायल पुलिसकर्मी भी शहीदी पार्क पहुंचे थे. पुलिसकर्मियों के परिजनों ने अलग-अलग नारों से लिखी हुई तख्तियां भी ली हुई थी.


अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज