लाइव टीवी

JNU छात्रों के खिलाफ FIR दर्ज, लोकसभा में भी गूंजा मामला

News18Hindi
Updated: November 19, 2019, 4:45 PM IST
JNU छात्रों के खिलाफ FIR दर्ज, लोकसभा में भी गूंजा मामला
पुलिस ने मंगलवार को जेएनयू के छात्रों के खिलाफ एफआईआर (FIR) दर्ज की है. हालांकि इस संबंध में पुलिस ने इससे ज्यादा जानकारी फिलहाल नहीं दी है. (फाइल फोटो)

जेएनयू (JNU) के छात्रों के सोमवार को हुए प्रदर्शन के बाद दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने सख्त कदम उठाया. वहीं, लोकसभा में कांग्रेस (Congress), टीएमसी (TMC) और बीएसपी (BSP) के सांसदों ने सरकार की सरकार की निंदा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 19, 2019, 4:45 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. फीस बढ़ने को लेकर विरोध कर रहे जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) के छात्रों की मुश्किलें बढ़ती नजर आ रही हैं. छात्रों की ओर से सोमवार को संसद मार्च के दौरान उपजे विवाद के बाद अब दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने सख्ती दिखाई है. पुलिस ने मंगलवार को जेएनयू के प्रदर्शनकारी छात्रों के खिलाफ एफआईआर (FIR) दर्ज की है. हालांकि, इस संबंध में पुलिस ने इससे ज्यादा जानकारी फिलहाल नहीं दी है. वहीं, जेएनयू का मामला मंगलवार को लोकसभा में भी गूंजा. इस दौरान विपक्ष ने सरकार पर जेएनयू के छात्रों की आवाज दबाने का आरोप लगाया है.

'पुलिस ने की बर्बरता'
लोकसभा में टीएमसी सांसद सौगत रॉय, कांग्रेस सांसद टीएन प्रथापन और बीएसपी के दा‌निश अली ने कहा कि पुलिस का दुरुपयोग कर छात्रों की आवाज को दबाया गया है. पुलिस ने छात्रों पर लाठीचार्ज किया जो कि निंदनीय है. कांग्रेस सांसद ने कहा कि छात्र अपने हक की आवाज उठा रहे थे, लेकिन उनके साथ बर्बरता की गई. साथ ही उन्होंने मामले की जांच करवाने की भी मांग की है. बीएसपी (BSP) सांसद ने लाठीचार्ज करवाने के लिए छात्रों से माफी मांगने को भी कहा है. हालांकि, स्पीकर ओम बिड़ला ने उन्हें आगे बोलने से रोक दिया, क्योंकि शून्यकाल की कार्रवाई का विषय दूसरा था.


Loading...

क्या था मामला
जेएनयू के सैकड़ों छात्रों ने छात्रावास शुल्क वृद्धि को पूरी तरह वापस लिए जाने की मांग को लेकर सोमवार को संसद भवन की तरफ मार्च करने का प्रयास किया था. लेकिन, पुलिस ने उन्हें रोक दिया. इसके साथ ही विभिन्न स्थानों पर पुलिस के कथित लाठीचार्ज में कुछ छात्र घायल हो गए, जबकि छात्रसंघ अध्यक्ष आइशी घोष समेत करीब 100 जेएनयू छात्रों को हिरासत में ले लिया गया था. इसके बाद प्रदर्शनकारी छात्र सफदरजंग मकबरे के बाहर सड़क पर बैठ गए और हिरासत में लिए गए छात्रों को छोड़े जाने के साथ मानव संसाधन विकास मंत्रालय के अधिकारियों से मुलाकात की मांग करने लगे. दिल्ली पुलिस के आला अधिकारियों ने छात्रों से बातचीत शुरू करने की कोशिश की और उनसे कानून अपने हाथों में न लेने का अनुरोध किया था.

ये भी पढ़ेंः JNU Student Protest: धरने पर बैठे छात्रों पर लाठीचार्ज! हिरासत में कई छात्र

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 19, 2019, 3:23 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...