आत्महत्या करने जा रही लड़की की दिल्ली पुलिस ने प्रेमी से कराई शादी, जानें पूरा मामला

शादी करने के बाद पुलिस थाने में खड़े दूल्हा-दुल्हन
शादी करने के बाद पुलिस थाने में खड़े दूल्हा-दुल्हन

युवती ने आत्महत्या (Suicide) के इरादे से खुद को घायल कर लिया. इसके बाद दिल्ली पुलिस ने दोनों युवक-युवती की शादी करा दी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 6, 2020, 10:39 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश की राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में पुलिस का एक अलग ही चेहरा सामने आया है. यहां के गोविंदपुरी (Govindpuri) इलाके में रहने वाले प्रेमी-प्रेमिका के बीच किसी बात को लेकर अनबन हो गई. इससे नाराज युवती ने आत्महत्या (Suicide) के इरादे से खुद को घायल कर लिया. इसके बाद दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने दोनों युवक-युवती की शादी (Wedding) करा दी. खास बात यह है कि पुलिस ने कन्यादान के रूप में उन्‍हें गिफ्ट भी दिया है. अब इस घटना की चर्चा पूरे इलाके में हो रही है. लोग पुलिस की इस कार्य के लिए प्रशंसा कर रहे हैं.

जानकारी के मुताबिक, युवती अपने प्रेमी से हर हाल में शादी करना चाहती थी, लेकिन दोनों के बीच झगड़ा हो जाने से रिश्ता होना मुश्किल हो गया था. इसी बीच 3 अक्टूबर को गोविंदपुरी पुलिस स्टेशन में पीसीआर को कॉल मिली कि एक लड़की वर्षा धीमान (24) ने शादी से इनकार करने पर आत्महत्या करने के इरादे से खुद को घायल कर लिया है. पुलिस को जांच में पता चला कि सनी और वर्षा पिछले 3 साल से रिश्ते में थे. बाद में उन्हें कुछ गलतफहमी हुई, जिसके बाद स्थानीय पुलिस ने दोनों पक्षों के परिवार के सदस्यों को बुलाकर रजामंदी करवाई.





विवाह को स्वीकार करते हुए सहमति जताई
काउंसिलिंग के बाद दोनों पक्षों ने उनके विवाह को लेकर सहमति जता दी. इसके बाद 5 अक्टूबर को आर्य समाज मंदिर में शादी हुई और नवविवाहित जोड़ा आशीर्वाद लेने के लिए पुलिस स्टेशन गोविंदपुरी पहुंच गया. नवविवाहित जोड़े का पुलिस स्टेशन के स्टाफ द्वारा 'कन्यादान' और उपहार के साथ स्वागत किया गया.

पहले भी आ चुका है ऐसा मामला
बता दें कि बीते अप्रैल महीने में इसी तरह से पुलिस के सहयोग से एक शादी हुई थी. दरअसल, दिल्ली स्थित कालकाजी के रहने वाले कौशल और पूजा ने लॉकडाउन के दौरान ही सादगी से शादी की थी. शादी आर्य समाज मंदिर में हुई थी. यहां सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ध्यान रखा गया था. शादी में काफी गिने चुने लोगों को ही बुलाया गया था. लेकिन जब विदाई होने लगी तो उस समय वहां से जाने में काफी दिक्कत आ रही थी, जिसके लिये दुल्हे के पिता ने पुलिस से मदद मांगी. पुलिस ने भी इस खुशी के मौके पर उनकी परेशानी समझते हुए उनकी मदद की. कालकाजी एसएचओ ने दुल्हन की विदाई के लिये पुलिस की जिप्सी का प्रबंध करवाया और इसी में बैठकर दुल्हन अपने ससुराल गई. इस अनोखी विदाई के बाद दूल्हा-दुल्हन ने पुलिस को धन्यवाद किया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज