• Home
  • »
  • News
  • »
  • delhi-ncr
  • »
  • जबरन राष्‍ट्रगान गाने का मामला: 100 से पूछताछ के बाद 3 पुलिसकर्मियों की पहचान, कराया जाएगा लाई डिटेक्‍टर टेस्‍ट

जबरन राष्‍ट्रगान गाने का मामला: 100 से पूछताछ के बाद 3 पुलिसकर्मियों की पहचान, कराया जाएगा लाई डिटेक्‍टर टेस्‍ट

दिल्‍ली दंगों में 50 से अधिक लोग की मौत हुई थी.

दिल्‍ली दंगों में 50 से अधिक लोग की मौत हुई थी.

Delhi Violence: देश की राजधानी दिल्‍ली में पिछले साल हुई सांप्रदायिक हिंसा के दौरान कथित तौर पर पांच घायल लोगों को राष्ट्रगान (National Anthem) गाने के लिए मजबूर करने के मामले में दिल्‍ली पुलिस (Delhi Police) ने तीन पुलिसकर्मियों की पहचान कर ली है. वहीं, मामले की तहत तक जाने के लिए पुलिस अब तीनों का लाई डिटेक्टर टेस्ट कराएगी.

  • Share this:

    नई दिल्ली. दिल्ली पुलिस (Delhi Police)ने पिछले साल हुई सांप्रदायिक हिंसा (Delhi Violence) के दौरान कथित तौर पर पांच घायल लोगों को राष्ट्रगान गाने के लिए मजबूर करने वाले तीन पुलिसकर्मियों की पहचान कर ली है. इस घटना का वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें तीन पुलिस वालों ने घायलों को राष्ट्रगान (National Anthem) गाने पर मजबूर किया था, जिसमें से एक घायल की बाद में मौत हो गई थी. सूत्रों के मुताबिक, दिल्‍ली पुलिस इस घटना में शामिल होने वाले पुलिसकर्मियों का लाई डिटेक्टर टेस्ट कराएगी.

    बहरहाल, दिल्‍ली पुलिस की क्राइम ब्रांच की विशेष जांच टीम ने 100 से अधिक पुलिसकर्मियों से पूछताछ की और दंगों के दौरान बाहर से तैनात पुलिसकर्मियों के ड्यूटी चार्ट सहित कई दस्तावेजों को स्कैन किया. करीब 17 महीनों की जांच पड़ताल के बाद दिल्‍ली पुलिस ने तीन पुलिसकर्मियों की पहचान की है. वहीं, इसम मामले में वरिष्ठ अधिकारियों को सूचित किया गया है और उनकी सहमति के बाद तीनों पुलिस वालों का लाई डिटेक्टर टेस्ट किया जाएगा.

    बता दें कि दिल्‍ली हिंसा के दौरान यह घटना पिछले साल 25 फरवरी को 66 फुटा रोड हुई थी, जहां दंगों को नियंत्रित करने के लिए पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया था. इस घटना में कर्दमपुरी निवासी 24 वर्षीय फैजान ने एलएनजेपी अस्‍पताल में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया था. यही नहीं, राष्ट्रगान गाते दिख रहे सड़क किनारे पड़े लोगों का जो वीडियो वायरल हुआ था, उसमें पुलिसकर्मियों द्वारा इन लोगों को पीटते हुए बार-बार ‘आजादी’ शब्द बोलते हुए भी सुना गया था.
    ये भी पढ़ें- Muharram 2021: दिल्ली सरकार का बड़ा ऐलान, अब 19 अगस्‍त के बजाए इस दिन होगी मुहर्रम की छुट्टी

    दिल्‍ली पुलिस की स्‍पेशल जांच टीम ने घटना का वीडियो स्कैन करते पाया कि एक पुलिस वाला आंसू धुएं के हथियार (टीएसएम) ले जा रहा था. इसके बाद रजिस्टर की जांच की. फिर फुटेज के आधार पर पहले डीएपी के साथ तैनात कर्मियों की पहचान की. इसके बाद उनके दो सहयोगियों को एसआईटी ने दरियागंज स्थित उनके कार्यालय में तलब किया था. करीब 17 महीने के कवायद के बाद तीन लोगों की पहचान हुई है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज