Home /News /delhi-ncr /

Farmers Protest: टिकरी और गाजीपुर बॉर्डर को लेकर दिल्ली पुलिस का ये है बड़ा प्लान, राहत की उम्मीद

Farmers Protest: टिकरी और गाजीपुर बॉर्डर को लेकर दिल्ली पुलिस का ये है बड़ा प्लान, राहत की उम्मीद

किसानों के धरना स्थल टिकरी और गाजीपुर बॉर्डर पर लगे बैरिकेड्स पुलिस किसानों की सहमति से हटाएगी.

किसानों के धरना स्थल टिकरी और गाजीपुर बॉर्डर पर लगे बैरिकेड्स पुलिस किसानों की सहमति से हटाएगी.

Kisan Agitation at Ghazipur border: सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी के बाद रविवार को दिल्ली-गाजीपुर बॉर्डर पर गाजियाबाद की ओर से जाने वाले रास्ते को खोला गया था, साथ ही दिल्ली-मेरठ हाइवे पर लगी बैरिकेडिंग को हटाए गए थे. अब दिल्ली पुलिस किसानों के कैंप के पास लगे बैरिकेड्स हटाने की योजना बना रही है.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. केंद्र सरकार के तीन कृषि कानूनों के विरोध में दिल्ली के टिकरी बॉर्डर (दिल्ली-हरियाणा) और गाजीपुर बॉर्डर (दिल्ली-यूपी) पर करीब एक साल से किसान धरने पर बैठे हैं. जिससे यहां पर दिल्ली से बाहर जाने वाले रास्ते बाधित हो रहे थे. पिछले दिनों सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी के बाद किसानों ने गाजीपुर बॉर्डर पर दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे की एक लेन खोल दी थी, लेकिन अब दिल्ली पुलिस का प्लान है कि इमर्जेंसी रास्ता खोल दिया जाए, जो यहां चल रहे किसानों के प्रदर्शन और विरोध के कारण बाधित है. दिल्ली पुलिस ने कहा कि किसानों की सहमति के बाद सीमाओं पर लगी बैरिकेड्स हटाई जाएंगी.

    इससे पहले दिल्ली पुलिस ने बीते रविवार को गाजीपुर बॉर्डर पर दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस वे की मेरठ जाने वाली लेन से बैरिकेड हटा दिए थे. अब लोग आसानी से मेरठ जा सकेंगे. इस एक्सप्रेस वे को 26 जनवरी के उपद्रव के बाद पुलिस ने बंद कर दिया था. लंबे वक्त से इसके बंद होने के कारण लोगों को आवाजाही में दिक्कत हो रही थी. रविवार रात 11:30 बजे दिल्ली पुलिस ने जेसीबी की मदद से एक्सप्रेस-वे की एक लेन से बैरिकेड हटाने का काम शुरू किया है. उस पर सीमेंट के कई बैरियर भी लगे हुए थे, उनको भी हटाया गया. इस काम में पुलिस को काफी वक्त लगा. हालांकि वीकेंड कर्फ्यू के चलते इस रोड से जाने वाले वाहनों की संख्या काफी कम रही.

    Farmers Protest, Kisan Andolan, Tikri Border, Ghazipur Border, Delhi Police's Preparation, Big Relief, Delhi Police, One Year of Farmers' Movement, Three Agricultural Laws of the Center, Farmers' Protest, Kisan Andolan Latest Updates-Farmers Protest, किसान आंदोलन, टिकरी बॉर्डर, गाजीपुर बॉर्डर, दिल्ली पुलिस की तैयारी, बड़ी राहत, दिल्ली पुलिस, किसान आंदोलन के एक साल, केंद्र के तीन कृषि कानून, किसानों का विरोध, किसान आंदोलन लेटेस्ट अपडेट

    दिल्ली पुलिस किसानों के आंदोलन स्थल को लेकर नया प्लान बना रही है.

    सुप्रीम कोर्ट ने की थी ये टिप्पणी

    इससे पहले सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी के बाद दिल्ली ने एनएच-9 की एक लेन को वाहनों की आवाजाही के लिए खोला था. अब दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस वे की एक लेन खुलने से लोगों को काफी राहत मिलने वाली है. कुछ लोगों ने किसानों पर निशाना साधते हुए कहा था कि इससे हजारों यात्रियों को परेशानी हो रही है. पिछले हफ्ते, सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि किसानों को आंदोलन करने का अधिकार है, लेकिन वे अनिश्चित काल के लिए सड़कों को अवरुद्ध नहीं कर सकते. हालांकि, किसानों ने अदालत को बताया कि पुलिस ने ही बैरिकेड्स लगाए थे.

    मंच के पास लगे बैरिकेड्स को हटाने की योजना 

    मंगलवार को हरियाणा के अतिरिक्त मुख्य सचिव (गृह) राजीव अरोड़ा और पुलिस प्रमुख पीके अग्रवाल सहित वरिष्ठ अधिकारियों ने किसानों के एक प्रतिनिधिमंडल के साथ बॉर्डर का दौरा किया और यह भी पाया कि दिल्ली पुलिस द्वारा सीमा को सील कर दिया गया था. हालांकि, सड़कों को पूरी तरह से खुलने में कुछ दिन लग सकते हैं. प्रदर्शनकारी किसानों के मंच के पास लगाए गए बैरिकेड्स को हटाया जाना बाकी है. तीन नए कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग को लेकर पिछले साल 26 नवंबर से बड़ी संख्या में किसान दिल्ली की सीमाओं पर डेरा डाले हुए हैं. ज्यादातर किसान पंजाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश के हैं.

    वहीं, इस बाबत भारतीय किसान यूनियन के मीडिया प्रभारी धर्मेंद्र मलिक की मानें दिल्ली पुलिस की ओर से दिल्ली से गाजियाबाद जाने वाले रास्ते की कुल 3 लेन को खोला गया है. किसानों के आह्वान के बाद ही पुलिस ने यह कदम उठाया है. लोगों को हो रही परेशानी के चलते कई दिनों से किसान प्रशासन से इस रास्ते को खोलने की मांग कर रहे थे.

    Tags: Delhi UP Ghazipur Border, Farmer Protest, Ghazipur Border, Kisan Andolan

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर