Home /News /delhi-ncr /

delhi police notices support for alt news mohammed zubair tracing to pakistan

पाकिस्तान, सीरिया और...मोहम्मद जुबैर को सपोर्ट करने वाले कौन; कहां-कहां से आए पैसे? हो गया खुलासा

दिल्ली की अदालत ने जुबैर की जमानत याचिका खारिज की, 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा (फाइल फोटो)

दिल्ली की अदालत ने जुबैर की जमानत याचिका खारिज की, 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा (फाइल फोटो)

दिल्ली पुलिस की आईएफएसओ (IFSO) यूनिट ने कहा कि जांच में पाया गया है कि मोहम्मद जुबैर का समर्थन करने वाले पाकिस्तान और ज्यादातर कुछ मध्य पूर्वी देशों के हैं.

नई दिल्ली: सोशल मीडिया पर विवादास्पद पोस्ट को लेकर गिरफ्तार ऑल्ट न्यूज के को-फाउंडर मोहम्मद जुबैर को लेकर बड़ा खुलासा हुआ है. दिल्ली पुलिस की आईएफएसओ (IFSO) यूनिट ने कहा कि जांच में पाया गया है कि मोहम्मद जुबैर का समर्थन करने वाले पाकिस्तान और ज्यादातर कुछ मध्य पूर्वी देशों के हैं. पुलिस ने मोहम्मद जुबैर के सोशल मीडिया अकाउंट के विश्लेषण से यह दावा किया है. इसने यह भी कहा कि ऑल्ट न्यूज की मूल कंपनी प्रावदा मीडिया को कुल करीब 2,31,933 रुपये मिले हैं.

पुलिस ने कहा कि रेजोरपे पेमेंट गेटवे के विश्लेषण से पता चला कि बैंक खाते में पहुंची रकम में मोबाइल नंबर या ऑनलाइन ट्रांजेक्शन का आईपी एड्रेस विदेश में हैं. जिन-जिन जगहों से ट्रांजेक्शन हुए हैं, उनमें बैंकॉक, मनामा, नॉर्थ हॉलेंड, सिंगापुर, विक्टोरिया, न्यूयॉर्क, इंग्लैंड, रियाद हैं. पुलिस ने आगे कहा कि जुबैर को पाकिस्तान, सीरिया और ऑस्ट्रेलिया से चंदा मिले हैं.

इतना ही नहीं, पुलिस ने कहा कि बालादियात एड दावाह, शारजाह, स्टॉकहोम, आइची, सेंट्रल, संयुक्त अरब अमीरात के मध्य, पश्चिमी और पूर्वी प्रांत, अबू धाबी, वाशिंगटन डीसी, कंसास, न्यू जर्सी, ओंटारियो, कैलिफोर्निया, टेक्सास, लोअर सैक्सोनी, बर्न, दुबई, उसिमा और स्कॉटलैंड से भी पैसे मिले हैं. पुलिस ने इस वजह से हिरासत की मांग की थी, क्योंकि पुलिस को ट्रांजैक्शन की गुत्थी सुलझानी है.

इतना ही नहीं, दिल्ली पुलिस ने मोहम्मद जुबैर द्वारा साजिश और सबूतों को नष्ट करने का आरोप लगाया है और कहा कि आरोपी को विदेशों से चंदा मिला था. इस बीच दिल्ली की अदालत ने आरोपी के कथित अपराध की प्रकृति और गंभीरता का हवाला देते हुए शनिवार को ऑल्ट न्यूज के सह संस्थापक मोहम्मद जुबैर की जमानत याचिका खारिज कर दी और उसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया. हालांकि इससे पहले दिन में इस मामले को लेकर उस वक्त नाटकीय घटनाक्रम देखने को मिला जब दिल्ली पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने अदालत के फैसला सुनाने से पहले ही मीडिया को आरोपी को न्यायिक हिरासत में भेजे जाने की सूचना दे दी थी.

मोहम्मद जुबैर वर्ष 2018 में हिंदू देवता के बारे में कथित ‘आपत्तिजनक ट्वीट’ करने के मामले में आरोपी हैं और दिल्ली पुलिस ने उनके खिलाफ भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 120बी (आपराधिक साजिश) और 201 (साक्ष्य मिटाना) तथा विदेश अंशदान (विनियमन) अधिनियम की धारा 35 भी जोड़ी है. सुनवाई के दौरान, सरकारी वकील अतुल श्रीवास्तव ने आरोप लगाया कि आरोपी ने पाकिस्तान, सीरिया और अन्य देशों से ‘रेजरपे पेमेंट गेटवे’ के माध्यम से पैसे स्वीकार किए, जिसके लिए आगे की जांच की आवश्यकता है.

Tags: Delhi news, Delhi police

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर