दिल्‍ली पुलिस ने मौलाना साद मामले में अपने इतिहास में पहली बार तैयार की 54 हज़ार पेज की चार्जशीट

एक बार फिर से मौलाना साद की गिरफ्तारी को लेकर चर्चाएं तेज हो गई हैं.
एक बार फिर से मौलाना साद की गिरफ्तारी को लेकर चर्चाएं तेज हो गई हैं.

निज़ामउद्दीन मरकज़ (Nizamuddin Markaz) से जुड़े इस मामले में वहां के प्रमुख मौलाना साद (Maulana saad) के खिलाफ भी चार्जशीट तैयार हो चुकी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 6, 2020, 11:59 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश की राजधानी दिल्ली की पुलिस (Delhi Police) ने एक अनोखा रिकॉर्ड कायम किया है. रिकॉर्ड यह है कि पुलिस ने एक मामले में 54 हज़ार पेज की चार्जशीट (Charge sheet) तैयार की है. खास बात यह है कि इसे कोर्ट में भी दाखिल किया जा चुका है. यह एक ही मामले में 952 लोगों के खिलाफ 60 चार्जशीट हैं. कोरोना से सुर्खियों में आया निज़ामउद्दीन मरकज़ (Nizamuddin Markaz) का मामला इसी चार्जशीट से जुड़ा हुआ है.

निजामुद्दीन मरकज का मामला अभी शांत नहीं हुआ है. 908 विदेशी जमातियों (Foreigners jamati) को अब तक दोषी ठहराया जा चुका है. जुर्माना भरने के बाद सभी अपने देशों को वापस भी जा चुके हैं. कुछ का ट्रायल अभी दिल्ली की अलग-अलग अदालतों में चल रहा है.

यह भी पढ़ें- बड़ी सफलता- ISRO-DRDO के बाद रोहतक की यह कंपनी अब नासा और अमेरिकन आर्मी के लिए नट-बोल्ट बनाएगी



मौलाना साद के खिलाफ चार्जशीट तैयार
खास बात यह भी है कि मरकज़ से जुड़े इस मामले में वहां के प्रमुख मौलाना साद के खिलाफ भी चार्जशीट तैयार हो चुकी है. लेकिन, इसे कब तक कोर्ट में दाखिल किया जाएगा, यह अभी तय नहीं है. गौरतलब है कि अभी तक मौलाना साद की गिरफ्तारी की बात भी सामने नहीं आई है. चार्जशीट से पहले भी मौलाना साद की गिरफ्तारी होगी या नहीं यह एक बड़ा सवाल है.

यह भी पढ़ें- सेंधा नमक ने ऐसे निकाल दी पाकिस्तान की हेकड़ी, कश्मीर से 370 हटने पर दिखाई थी अकड़

इस मामले में सबसे ज़्यादा हो-हल्ला मौलाना साद को लेकर ही हुआ था. मौलाना साद से पूछताछ और उनकी गिरफ्तारी को लेकर पुलिस ने दिल्ली-एनसीआर से लेकर यूपी के कुछ शहरों में भी छापेमारी की थी.



 44 का चल रहा ट्रायल, 908 जमाती भर चुके हैं जुर्माना
जानकारों की मानें तो इस मामले में अभी तक मरकज से जुड़े 908 विदेशी जमातियों को सजा मिल चुकी है. साथ ही 5 से 10 हज़ार रुपये तक जुर्माना भरने के बाद उन्हें रिहा भी कर दिया गया है. वो अब अपने देश भी वापस जा चुके हैं, लेकिन 44 विदेशी जमाती ऐसे भी हैं, जिनके खिलाफ सुनवाई अभी चल रही है. इनके खिलाफ चार्जशीट भी कोर्ट में दाखिल हो चुकी है. गौरतलब रहे कि यह सभी विदेशी जमाती 36 देशों से ताल्लुक रखते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज