• Home
  • »
  • News
  • »
  • delhi-ncr
  • »
  • राहुल गांधी का ट्रैक्टर मार्च: दिल्‍ली पुलिस ने एमवी एक्ट-DDMA के तहत दर्ज किया केस, साजिश में शामिल लोगों की करेगी तलाश

राहुल गांधी का ट्रैक्टर मार्च: दिल्‍ली पुलिस ने एमवी एक्ट-DDMA के तहत दर्ज किया केस, साजिश में शामिल लोगों की करेगी तलाश

दिल्‍ली पुलिस ने कांग्रेस के ट्रैक्टर मार्च के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है.

दिल्‍ली पुलिस ने कांग्रेस के ट्रैक्टर मार्च के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है.

Rahul Gandhi Tractor March: दिल्‍ली पुलिस ने कांग्रेस नेता नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के कृषि कानूनों के विरोध में सोमवार को मॉनसून सत्र (Monsoon Session) के दौरान ट्रैक्टर चलाकर संसद भवन पहुंचने के मामले में एमवी एक्ट 188 (Motor Vehicle Act) और महामारी अधिनियम (Delhi Disaster Management Act) के तहत मामला दर्ज कर लिया है. वह अब इस साजिश में शामिल अन्‍य लोगों की तलाश में जुट गई है.

  • Share this:
नई दिल्‍ली. केंद्र सरकार के तीन नये कृषि कानूनों के विरोध में कई राज्‍यों के किसान काफी समय से दिल्‍ली बॉर्डर पर जमे हुए हैं. वहीं, कांग्रेस समेत देश के अधिकांश राजनीतिक दल भी केंद्र सरकार पर लगातार हमला कर रहे हैं. इस बीच कांग्रेस के दिग्‍गज नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के कृषि कानूनों के विरोध में सोमवार को मॉनसून सत्र (Monsoon Session) के दौरान ट्रैक्टर चलाकर संसद भवन पहुंचने से सियासत और तेज हो गई है. वहीं, नई दिल्ली स्थित संसद मार्ग थाने में ट्रैक्टर को पार्लियामेंट तक ले जाने के मामले में दिल्ली पुलिस ने एमवी एक्ट 188 (Motor Vehicle Act) और महामारी अधिनियम (Delhi Disaster Management Act ) के तहत मामला दर्ज कर लिया है. कुछ दिनों के बाद इस मसले में और विस्तार से तफ़्तीश करने के बाद कई लोगों को आरोपी के तौर पर नामजद किया जाएगा.

दिल्‍ली पुलिस की टीम ने ये पाया कि जिस ट्रैक्टर से राहुल गांधी संसद भवन तक पहुंचे थे, उस ट्रैक्टर में नम्बर प्लेट तक नहीं थी. उसके बावजूद उस ट्रैक्टर को सांसदों के साथ संसद भवन तक लेकर गए थे, जिसकी गंभीरता समझी जा सकती है.

इस बात की दिल्‍ली पुलिस कर रही जांच
बता दें कि ट्रैक्टर को एक कंटेनर में छिपाकर मोतीलाल नेहरू मार्ग पर स्थित सुप्रीम कोर्ट के एक वरिष्ठ अधिवक्ता के आवास पर लाया गया था. पुलिस इस मसले की भी तफ़्तीश कर रही है कि इस साजिश में कौन कौन से लोग थे?

राहुल गांधी ने कही थी ये बात
ट्रैक्टर चलाकर संसद पहुंचने के बाद राहुल गांधी ने मीडिया से बातचीत में कहा था कि किसानों का जो संदेश है, हम उसे संसद तक लाए हैं. किसानों को दबाया जा रहा है इसलिए हम ट्रैक्टर से आए हैं. संसद में इस विषय पर चर्चा नहीं करने दी जा रही है. केंद्र सरकार को कानून वापस लेना होगा.

कांग्रेस नेता ने कहा कि सरकार के अनुसार, किसान बहुत खुश हैं और जो (विरोध प्रदर्शन कर रहे किसान) बाहर बैठे हैं वे आतंकवादी हैं. लेकिन हकीकत में किसानों का हक छीना जा रहा है. पूरा देश जानता है कि ये कानून 2-3 बड़े कारोबारियों के पक्ष में हैं. राहुल गांधी जो ट्रैक्टर चला रहे थे उस पर उनके साथ राज्यसभा सदस्य दीपेंद्र हुड्डा, प्रताप सिंह बाजवा और पार्टी के कुछ अन्य सदस्य बैठे थे.

रणदीप सुरजेवाला ने केंद्र सरकार पर बोला हमला
कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि राहुल गांधी ने किसान की आवाज बुलंद करने के लिए ट्रैक्टर को संसद की पटल पर ले जाकर इस अहंकारी सरकार को झकझोरने का प्रयास किया है. हम इस सरकार को कहेंगे कि जागो क्योंकि देश का किसान जग गया है। सरकार कुछ भी करे लेकिन ये आंदोलन जारी रहेगा. यह जंग देश के अन्नदाता के अस्तित्व को बचाए रखने के लिए है.

सीआरपीसी की धारा 144 का उल्लंघन कर ट्रैक्टर मार्च निकालने पर कांग्रेस महासचिव रणदीप सुरजेवाला, युवा कांग्रेस प्रमुख श्रीनिवास बी.वी, कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव और पार्टी के मीडिया विभाग के सह प्रभारी प्रणव झा और कुछ पार्टी कार्यकर्ताओं को दिल्ली पुलिस ने हिरासत में लिया था. इस पर कांग्रेस महासचिव रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि 7 घंटे उन्होंने जेल में रखा. आप 7 साल रखिए पर कानून वापस लीजिए. हमारी सिर्फ ये ही मांग है.

कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने राहुल पर साधा निशाना
केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि राहुल गांधी किसानों को गुमराह करने और देश में अराजकता का वातावरण बनाने की कोशिश ना करें. उनकी इन्हीं आदतों और ऐसी हल्की समझ की वजह से वो कांग्रेस में भी सर्वमान्य नेता नहीं रहे. इसके साथ उन्‍होंने कहा कि राहुल गांधी को गांव, गरीब, किसान के बारे में कोई अनुभव और दर्द नहीं है. राहुल गांधी को सोचना चाहिए कि जब आपने अपने घोषणापत्र में इन्हीं कानूनों (कृषि कानूनों) को लाने के लिए कहा था तो आप उस समय झूठ बोल रहे थे या आज झूठ बोल रहे हैं.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज