• Home
  • »
  • News
  • »
  • delhi-ncr
  • »
  • Gurdwara Elections के निदेशक पर जूता फेंकने के मामले में दिल्ली पुलिस ने दर्ज की एफआईआर

Gurdwara Elections के निदेशक पर जूता फेंकने के मामले में दिल्ली पुलिस ने दर्ज की एफआईआर

गुरुद्वारा चुनाव निदेशक पर जूता फेंकने के मामले में पुलि‍स ने एफआईआर दर्ज कर ली है.  (Photo-DSGMC Twitter)

गुरुद्वारा चुनाव निदेशक पर जूता फेंकने के मामले में पुलि‍स ने एफआईआर दर्ज कर ली है. (Photo-DSGMC Twitter)

Gurdwara Elections: को-ऑप्टेड सदस्यों के चयन के दौरान हुए हंगामे पर मिली शि‍कायत पर दिल्ली पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर ली है. आरोप है कि बादल दल के तिलक नगर से सदस्य आत्मा सिंह लुबाना ने गुरुद्वारा चुनाव निदेशक पर जूता फेंका.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    नई दिल्ली. हाल ही में संपन्‍न हुये दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (DSGMC) के चुनावों के बाद बवाल थमता नजर नहीं आ रहा है. एक सदस्‍य के शपथ ग्रहण करते समय गुरुमुखी को नहीं पढ़ पाने की वजह से सदस्‍यता काे रद्द कर दि‍या गया था. वहीं, अब बादल दल के तिलक नगर से सदस्य आत्मा सिंह लुबाना द्वारा गुरुद्वारा चुनाव निदेशक पर जूता फेंकने का आरोप लगने का मामला सामने आया है. सदस्यों के चयन के दौरान हुए हंगामे को लेकर पुलि‍स ने एफआईआर (FIR) भी दर्ज कर ली है.

    बताया जाता है कि गुरुवार को को-ऑप्टेड सदस्यों के चयन के दौरान हुए हंगामा हुआ था. इस पर पुलि‍स ने शि‍कायत पर एफआईआर भी दर्ज की है. आरोप है कि बादल दल के तिलक नगर से सदस्य आत्मा सिंह लुबाना ने गुरुद्वारा चुनाव निदेशक पर जूता फेंका. इसके अलावा अन्य सदस्यों ने भी वहां पर हंगामा किया, जिनके बारे में एफआईआर में अधिकारी ने शिकायत दी है.

    ये भी पढ़ें: MCD Elections 2022 से पहले NDMC का बड़ा ऐलान, लाखों लोगों को म‍िलेगा इस योजना का फायदा

    जानकारी के अनुसार पश्चिम विहार निवासी नरेंद्र सिंह गुरुद्वारा चुनाव में बतौर निदेशक कार्यरत हैं. उन्होंने सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी 2021 के चुने हुए कुछ सदस्यों पर दुर्व्यवहार करने,का आरोप लगाया है. उन्होंने शिकायत में बताया है कि चुनाव के बाद पहली बैठक गुरुवार को आईटीओ पर आयोजित की गई थी.

    बैठक को-ऑप्टेड के 2 सदस्य चुनने के लिए बुलाया गया था. बैठक में उन्होंने जब आपत्तियों के बारे में पूछा तो कुछ आपत्तियां बताई गईं. लिखित रूप में भी उन्हें आपत्तियां दी गईं. कुछ देर बाद लोग यहां पर हंगामा करते हुए उनका विरोध करने लगे. इसके चलते उन्होंने यह बैठक खत्म कर दी. वह जब बाहर जाने लगे तो उनके साथ बदसलूकी की गई. श‍िकायत में कुछ लोगों के नाम उन्होंने बताए हैं.

    ये भी पढ़ें: IGI Airport पहुंचते वक्त नहीं लगेगा अब जाम, 5,000 करोड़ की लागत से तैयार होगा एलिवेटेड रोड

    उन्होंने शिकायत में बताया है कि पुलिस ने सुरक्षा घेरा बनाकर उन्हें बाहर निकाला. इस दौरान उनके ऊपर एक सदस्य ने जूता भी फेंका. पुलिस ने सरकारी काम में बाधा पहुंचाना, धमकी देना एवं अन्य आईपीसी धाराओं में मामला दर्ज किया है. फिलहाल उनके द्वारा लगाए गए आरोपों को लेकर जांच पड़ताल की जा रही है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज