निजामुद्दीन मामलाः वकील का दावा- मौलाना साद नहीं हैं Corona संक्रमित, पुलिस ने कही ये बात...

साद के वकील ने दावा किया था कि वे कोरोना पॉजि‌टिव नहीं है. (फाइल फोटो)
साद के वकील ने दावा किया था कि वे कोरोना पॉजि‌टिव नहीं है. (फाइल फोटो)

क्राइम ब्रांच के अधिकारियों का कहना है कि उन्हें सरकारी अस्पताल की Corona Test रिपोर्ट की कॉपी मिलने के बाद ही वे साद से पूछताछ करेंगे. मौलाना साद या उनके वकील ने अभी तक कोई भी टेस्ट रिपोर्ट उन्हें नहीं सौंपी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 27, 2020, 6:45 AM IST
  • Share this:
नई ‌दिल्ली. निजामुद्दीन मरकज (Nizamuddin Markaz) में तबलीगी जमात के कार्यक्रम का आयोजन करवा कर चर्चा में आए मौलाना साद की मुश्किलें बढ़ती ही दिख रही हैं. पहले उनके वकील ने दावा किया था कि मौलाना साद ने कोरोना टेस्ट करवा लिया है और रिपोर्ट नेगेटिव आई है. लेकिन अब दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने कहा है कि हमें अब तक मौलाना के किसी भी टेस्ट की कोई रिपोर्ट नहीं मिली है. पुलिस का कहना है कि रिपोर्ट उन्हें जब मिलेगी तब ही वे आगे की कार्रवाई करेंगे. गौरतलब है कि साद के वकील ने दावा किया था कि वे कोरोना पॉजि‌टिव नहीं है और पुलिस कार्रवाई में सहयोग देने के लिए भी तैयार हैं.

रिपोर्ट मिलने के बाद ही पूछताछ की तैयारी
क्राइम ब्रांच के अधिकारियों का कहना है कि उन्हें सरकारी अस्पताल की टेस्ट रिपोर्ट की कॉपी मिलने के बाद ही वे साद से पूछताछ करेंगे. मौलाना साद या उनके वकील ने अभी तक कोई भी टेस्ट रिपोर्ट उन्हें नहीं सौंपी है. न ही वकील या साद ने रिपोर्ट के संबंध में पुलिस से कोई संपर्क किया है.

पूरा किया क्वारेंटाइन पीरियड
वहीं साद के वकील फुजैल अय्यूबी ने कहा था कि मौलाना ने अपना 14 दिनों का क्वारेंटाइन का समय पूरा कर लिया है और उन्होंने अपना कोरोना का टेस्ट भी करवा लिया है. मौलाना साद के पुलिस के सामाने पेश होने की बात पर वकील ने कहा कि सीआरपीसी के तहत ये जरूरी नहीं है कि वे खुद पेश हों. मैं यहां पर हूं और जो भी सवाल होंगे उसका जवाब दूंगा.



पुलिस ने किया है अपना काम
अय्यूबी ने कहा था कि पुलिस को जो भी कार्रवाई करनी थी वो वे कर चुके हैं. मौलाना के घर की तलाशी उनके बेटे के सामने ली जा चुकी है. पुलिस की तरफ से दो नोटिस आए हैं जिसका उन्होंने जवाब दे दिया है. उनसे कोरोना टेस्ट करवाने को बोला था वह भी उन्होंने करवा लिया है. इसके साथ ही वकील ने कहा कि मौलाना साद लगातार अधिकारियों से बात भी कर रहे हैं.

पुलिस को सहयोग का किया था दावा
इससे पहले मौलाना के वकील ने कहा था कि साद पुलिस का सहयोग करना चाहते हैं और निजामुद्दीन मरकज में कोई भी गैरकानूनी काम नहीं हुआ है. उल्लेखनीय है कि मरकज अब दिल्ली ही नहीं देश के बड़े हॉटस्पॉट्स में से एक है. मौलाना के वकील ने कहा था कि बंग्ले वाली मस्जिद में हर दिन ही कोई न कोई आयोजन होता रहता है ऐसे में ये मुझे ऐसा नहीं लगता कि किसी भी आयोजन के लिए उन्हें किसी की अनुमति लेने की जरूरत थी. इसके साथ ही मौलाना ने अपने वकील के जरिए कहा कि ये काफी दुखद है कि तबलीगी जमात के कुछ लोग कोरोना संक्रमित पाए गए लेकिन बड़ी संख्या में लोगों की रिपोर्ट नेगेटिव भी आई है. संक्रमण फैलने के लिए मरकज कैसे जिम्मेदार हो सकता है.

मौलाना के फार्म पर छापा
वहीं गुरुवार को निजामुद्दीन मरकज के मौलाना साद के शामली डिस्ट्रिक्ट के पास कांधला के फार्म हाउस पर दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच की टीम रेड के लिए पहुंची. टीम अपनी सुरक्षा के एहतियातन पीपीई किट में मौजूद है. हाल ही में दिल्ली पुलिस ने मौलाना साद को चेताते हुए कहा था कि उन्होंने अगर कोरोना टेस्ट नहीं कराया तो महामारी फैलाने के आरोप में उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई जाएगी.

जमात से जुड़े मामले की जांच कर रही दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच का कहना है कि मौलाना साद ने अभी तक कोरोना का टेस्ट नहीं कराया है. उन्हें यह टेस्ट सरकारी अस्पताल में कराना है. इसके लिए उन्हें एम्स और आरएमएल में टेस्ट कराने का सुझाव दिया गया है.

ये भी पढ़ेंः निजामुद्दीन मामलाः साद के वकील का दावा- हो चुका है मौलाना का कोरोना टेस्ट

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज