लाइव टीवी

शरजील इमाम के ईमेल और भाषणों के वीडियो से सबूत की तलाश कर रही दिल्ली पुलिस

News18Hindi
Updated: February 3, 2020, 8:50 AM IST
शरजील इमाम के ईमेल और भाषणों के वीडियो से सबूत की तलाश कर रही दिल्ली पुलिस
देशद्रोह के आरोपी शरजील इमाम. (फाइल फोटो)

दिल्‍ली पुलिस देशद्रोह (Sedition) के आरोपी शरजील इमाम (Sharjeel Imam) के खिलाफ सबूत जुटाने में लगी है. उसने जिन-जिन लोगों से बात की है, उसकी भी छानबीन की जा रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 3, 2020, 8:50 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली पुलिस देशद्रोह के आरोपी जेएनयू (JNU) के शोध छात्र शरजील इमाम (Sharjeel Imam) से कड़ाई से पूछताछ कर रही है. पुलिस इस बात की जांच करने में जुट गई है कि उसे नागरिकता संशोधन कानून (Citizenship Amendment Act) और एनआरसी के विरोध में प्रदर्शन, धरना और आंदोलन करने के लिए देश और विदेश से किन-किन माध्यमों से पैसा मिला है. इसके लिए उसके सभी ई-मेल और बैंक खातों की जांच की जा रही है. क्राइम ब्रांच और स्पेशल सेल की टीम पिछले पांच दिनों से चाणक्यपुरी स्थित इंटरस्टेट सेल के ऑफिस में शरजील से कड़ाई से पूछताछ कर रही है.

लैपटॉप, डेस्कटॉप कंप्यूटर और मोबाइल खंगाल रही पुलिस
पुलिस के एक शीर्ष अधिकारी ने बताया कि शरजील पर लगे देशद्रोह के आरोपों को लेकर सबूत जुटाए जा रहे हैं. वसंतकुंज के शरजील के किराए के मकान से पुलिस ने उसका लैपटॉप और एक डेस्कटॉप कंप्यूटर बरामद किया था. उसकी भी पुलिस जांच कर रही है. साथ ही पुलिस उसके मोबाइल की भी जांच कर रही है. क्राइम ब्रांच उसकी फिर से रिमांड मांग सकती है. साथ ही पुलिस उसके बैंक खातों से किए गए लेन-देन की भी जांच कर रही है.

सभी भाषणों का वीडियो जुटा रही है पुलिस

सूत्रों के अनुसार, क्राइम ब्रांच शरजील के देशभर में सभी जगहों पर दिए गए भाषणों का वीडियो जुटा रही है, जिससे उसमें से देश-विरोधी भाषणों को छांटा जा सके. माना जा रहा है कि सबसे पहले उसने 13 दिसंबर को जामिया में दिए गए धरने में देश विरोधी भाषण दिया था. उसने समुदाय विशेष के युवाओं, छात्रों और स्थानीय लोगों को सीएए का पुरजोर विरोध करने के लिए प्रेरित किया. माना जा रहा है कि इसके बाद से ही शाहीन बाग में शुरू किया गया धरना अब तक चल रहा है. यह धरना लगभग डेढ़ माह से चल रहा है.

जिनसे-जिनसे बात की, उनकी भी जांच करने की तैयारी
सूत्रों के अनुसार, पुलिस इस बात की भी जांच कर रही है कि 13 दिसंबर के भाषण के पहले और गिरफ्तार होने से पहले तक उसकी किन-किन लोगों से ईमेल, फोन, व्हाट्सऐप कॉल और व्हाट्सऐप चैटिंग की है. जिन लोगों से उसने बात की है, वे कौन हैं, उनकी डिटेल प्रोफाइल क्या है? सबूत जुटाने के लिए पुलिस उन्हें भी नोटिस भेजकर पूछताछ कर सकती है.ये भी पढ़ें - 

कांग्रेस दिल्ली प्रभारी पीसी चाको बोले, हमारी पार्टी में हैं एक दर्जन केजरीवाल

शराब नहीं गांजे से वोटरों को लुभाने की कोशिश, जब्ती ने तोड़े पिछले रिकॉर्ड

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 3, 2020, 8:38 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर